ट्रंप पुतिन समिट बातचीत के बाद अमेरिका लौटे डोनाल्ड ट्रंप अपने बयान को लेकर करना पड़ रहा विवादों का सामना

2018-07-17T11:58:46+05:30

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ हेलिंसकी में वार्ता के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका वापस लौट गए हैं। वहां उन्हें अपने बयानों के चलते भारी विवादों का सामना करना पड़ रहा है।

पुतिन की बातों पर सहमति
वाशिंगटन (पीटीआई)।
रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ हेलिंसकी में वार्ता के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका वापस लौट गए हैं। वहां उन्हें वार्ता के दौरान अमेरिकी खुफिया समुदाय के दावे का समर्थन नहीं करने चलते भारी राजनीतिक विवादों का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल, अमेरिकी खुफिया विभाग का दावा था कि 2016 में राष्ट्रपति चुनाव के दौरान रूस ने गैर-कानूनी तरीके से दखल दिया था लेकिन रूस ने इस बात से साफ इनकार कर दिया। इसके अलावा ट्रंप ने भी हेलिंसकी में बैठक के दौरान पुतिन की इस बातों पर सहमति जताई। इसके बाद से अमेरिका में राजनीतिक विवाद शुरू हो गया है।
खुफिया लोगों पर पूरा भरोसा
राष्ट्रपति ट्रंप के बयानों को उनके कुछ करीबी ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में 'अपमानजनक' और 'शर्मनाक' बताया है। इसके बाद इस बयान को राष्ट्रपति पद की सबसे गंभीर गलती भी बताया है। ट्रंप ने वापसी के दौरान एक ट्वीट में कहा, 'जैसा कि मैंने आज और कई बार पहले भी कहा है, 'मुझे अपने खुफिया लोगों पर पूरा भरोसा है'। हालांकि, मैं यह भी मानता हूं कि एक उज्जवल भविष्य के लिए, हमें पुरानी बातों को भुलाकर दुनिया की दो सबसे बड़ी परमाणु शक्तियों को साथ लाना चाहिए'।

विवादों को खत्म करने का सही समय

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच सोमवार को फिनलैंड की राजधानी हेलिंसकी में ऐतिहासिक मुलाकात हुई। ट्रंप ने जहां एक असाधारण रिश्ते का वादा किया वहीं पुतिन ने कहा कि दुनियाभर के विवादों को खत्म करने का यह ठीक समय है। भले ही अमेरिका और रूस के संबंध अभी सही नहीं हों लेकिन सोमवार को जब दोनों देशों के नेता फिनलैंड की राजधानी हेलिंसकी में मिले तो उनमें बेहतरीन रिश्ते बनाने की ललक साफ दिखाई दी। हालांकि दोनों के बीच किन किन बातों पर समझौते हुए, इसका खुलासा आधिकारिक रूप से अब तक नहीं पता चल पाया है।  
कई बार अन्य देशों में मिल चुके पुतिन और ट्रंप
वैसे तो राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन कई बार अन्य देशों में एक दूसरे से मिल चुके हैं लेकिन ये ऐसा पहला मौका था जब पुतिन और ट्रंप आधिकारिक तौर पर किसी अन्य देश में शिखर वार्ता किया। बता दें कि बैठक को तीसरे देशों में सिर्फ इसलिए आयोजित किया गया था क्योंकि दोनों राष्ट्रपतियों को किसी बात से आपत्ति ना हो।

पुतिन और ट्रंप समिट के दौरान सीरिया समेत कई गंभीर मुद्दों पर करेंगे बातचीत

फिनलैंड की राजधानी हेलिंसकी में पहली बार मिलेंगे ट्रंप और पुतिन, ये होगी तारीख


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.