एक करोड़ की हेरोइन 10 लाख कैश और 69 किलो चांदी जब्त

2019-03-20T06:00:09+05:30

कॉलेजों में सप्लाई के लिए भेजी जा रही थी ड्रग्स

- चौपुला से हुई बरामदगी, दिल्ली ले जाई जा रही थी खेप

- बरेली कनेक्शन नहीं तलाश सकी पुलिस

बरेली। पुलिस ने मंडे रात चौपुला से एक एसयूवी से 800 ग्राम हेरोइन व दस लाख रुपये नकद बरामद किए। यह खेप दिल्ली ले जाई जा रही थी। वहां हेरोइन की सप्लाई तमाम कॉलेजों में जाती थी। पुलिस के मुताबिक, इंटरनेशनल मार्केट में हेरोइन की कीमत करीब एक करोड़ रुपए है।

मुखबिर से मिली थी सूचना

पुलिस के हत्थे चढ़ा दुर्गेश कुमार देवरिया में शिवराजपुर बरनी का रहने वाला है। एसपी सिटी अभिनंदन सिंह ने बताया कि पुलिस को पुलिस को ड्रग्स की तस्करी की सूचना मिल रही थी। इनको पकड़ने के लिए टीमों का गठन किया गया था। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने चौपुला चौराहे से कार सवार तस्कर दुर्गेश कुमार को पकड़ा।

पहले से दर्ज है केस

पूछताछ में दुर्गेश ने बताया कि वह हेरोइन देवरिया से दिल्ली ले जा रहा था। पुलिस के अनुसार ये गैंग दिल्ली के अलावा अन्य राज्यों में भी मादक पदाथरें की तस्करी करता है। पुलिस की गिरफ्त में आए दुर्गेश के खिलाफ जालंधर में भी एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज है।

फरीदपुर में है नशे की मंडी

माना जा रहा है कि तस्कर के तार फरीदपुर से जुड़े हैं। देवरिया, झारखंड आदि से फरीदपुर में अफीम, स्मैक व हेरोइन आती है। दिल्ली की नारकोटिक्स सेल इस पर काम कर रही है। वह अब तक फरीदपुर के कई तस्करों को पकड़ चुकी है। अब उसे तैमूर की तलाश है। माना जा रहा है कि देवरिया के तस्कर दुर्गेश के भी तार फरीदपुर से जुड़े हुए हैं।

--------------------

सर्राफ की पत्‍‌नी कार से ले जा रही थी 35 लाख के चांदी के जेवर

- कोई कागजात न दिखा पाने पर आयकर विभाग ने किए जब्त

बरेली : स्टेटिक टीम ने चे¨कग के दौरान भमोरा में एक एसयूवी की डिग्गी से 69.40 किलो चांदी के जेवरात ट्यूजडे को बरामद किए। इसके अलावा 12 चांदी के सिक्के व एक डायमंड ¨रग भी मिली है। बरामद चांदी की कीमत 35 लाख रुपये आंकी गई है। पुलिस ने आयकर विभाग की टीम को बुलाकर मामला उनके सुपुर्द कर दिया। टीम ने बताया कि प्रथम दृष्टया मामला कर चोरी का माना जा रहा है। कोई कागजात न दिखा पाने के कारण आयकर विभाग की टीम ने आभूषणों को जब्त कर लिया।

ट्यूजडे सुबह का मामला

सुबह साढ़े सात बजे बदायूं की तरफ से आ रही कार को रोककर पुलिस ने उसकी तलाशी ली। स्टेटिक टीम के मजिस्ट्रेट विवेक कुमार सिंह, राजेश कुमार सिंह भी पहुंच गए। तलाशी के दौरान कार की डिग्गी में छिपा कर रखी गए 51 पैकेट मिले। पुलिस ने इन पैकेटों को जब खोला तो इनमें चांदी के गहने निकले, जिनका वजन 69.40 किलो निकला। कार में साधना अग्रवाल, चालक सुशील कुमार सागर व एक बच्ची थी। पुलिस ने महिला व चालक से बरामद चांदी की रसीद मांगी तो वह नहीं दिखा सके। साधना अग्रवाल ने बताया कि वह मथुरा से चांदी के जेवर लेकर आ रही हैं।

आलमगिरिगंज में है शॉप

पूछताछ के दौरान साधना अग्रवाल ने बताया कि उनके पति राजीव व बेटा वरुण सर्राफ हैं। उनकी आलमगिरिगंज में कान्हा ज्वैलर्स के नाम से दुकान है। उनके साथ वरुण की बेटी मथुरा से आ रही थी। आयकर टीम ने सभी आभूषणों को सील करके भमोरा पुलिस के हवाले कर दिया। साधना अग्रवाल व कार चालक को कागजी कार्यवाही के बाद छोड़ दिया।

वर्जन

कार में 69.40 किलो चांदी मिली, सर्राफ की पत्‍‌नी कोई कागजात नहीं दिखा सकी। जिसके बाद पूरा मामला आयकर विभाग के हवाले कर दिया गया है।

- विशाल प्रताप सिंह, एसओ भमोरा

inextlive from Bareilly News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.