विधानसभा चुनाव 2018 Live मैदान में थे 5 पूर्व सीएम एक की दो जगह से हार और एक फिर बनेंगे सीएम

2018-12-11T06:56:37+05:30

पांच राज्यों में काउंटिंग जारी है। मिजोरम में कांग्रेस के लाल थनहवला को हार का सामना करना पड़ा है। इसके अलावा वसुंधरा राजे ने राजस्थान में अपनी सीट बचा ली है।

कानपुर। आज सभी की नजरें राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम के विधानसभा चुनाव परिणाम पर टिकी हैं। इससे 2019 के आम चुनाव का रास्ता साफ होगा। अगर कांग्रेस इन राज्यों में जबरदस्त प्रदर्शन करती है तो इसका असर संसदीय चुनाव में भी दिखेगा। इसके अलावा दूसरी ओर यदि बीजेपी अपनी जीत को बरकरार रखती है तो उसके लिए भी 2019 का चुनाव आसान हो जाएगा। कांग्रेस बीजेपी को हराने और सत्ता में आने के लिए पूरी ताकत लगा चुकी है लेकिन उसका नतीजा क्या होगा, शाम तक पता चल जायेगा। फिलहाल, हम ये बताएंगे कि इन पांच राज्यों में कौन मुख्यमंत्री आगे चल रहा है।
राजस्थान चुनाव
राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 के लिए मतदान 7 दिसंबर को हुआ था। राज्य की सभी 200 सीटों में से 199 पर वोटिंग हुई। राजस्थान में फिलहाल बीजेपी की सरकार है और वसुंधरा राजे सिंधिया मुख्यमंत्री हैं। वसुंधरा ने इस बार झालरपाटन क्षेत्र से चुनाव लड़ा। उनके खिलाफ कांग्रेस की ओर से मानवेंद्र सिंह और निर्दलीय समेत अन्य पार्टियों से कुल सात प्रत्याशी खड़े थे। वसुंधरा राजे इस सीट पर 34 ,980 वोट से जीत चुकी हैं। इन्हें कुल 1,16,484 वोट मिले हैं।
मध्य प्रदेश चुनाव
मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग 28 नवंबर को हुई थी। यहां फिलहाल बीजेपी की सरकार है और शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री हैं। शिवराज सिंह चौहान इस बार भी बुधनी विधानसभा सीट से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। यहां से वह चार बार विधायक रह चुके हैं। इनके खिलाफ इस सीट पर कांग्रेस की ओर से अरुण सुभाषचंद्र और निर्दलीय समेत अन्य पार्टियों से कुल 14 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। शिवराज सिंह चौहान अपनी इस सीट पर दो चरणों की मतगणना के बाद कांग्रेस प्रत्याशी से 53,195 वोटों आगे चल रहे हैं। इन्हें अब तक कुल 1,13,894 वोट मिले हैं।
छत्तीसगढ़ चुनाव
छत्तीसगढ़ में भी बीजेपी की सरकार है और यहां से रमन सिंह मुख्यमंत्री हैं। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के लिए 12 और 20 नवंबर को दो चरणों में मतदान हुए थे। छत्तीसगढ़  में कुल 90 सीटें हैं। रमन सिंह इस बार राजनंदगांव से चुनाव लड़ रहे हैं और इनके खिलाफ पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला कांग्रेस की ओर से खड़ी हैं। इस विधानसभा सीट से कुल 30 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। पहले रमन सिंह इस सीट पर अपने कांग्रेस प्रतिद्वंदी से पीछे चल रहे थे लेकिन अब वे करीब 12,658 वोटों से आगे हो गए हैं। इन्हें अब तक कुल 47,541 वोट मिले हैं।
तेलंगाना चुनाव
तेलंगाना विधानसभा चुनाव का मतदान 7 दिसंबर को खत्म हुआ था। यहां कुल 119 विधानसभा सीटे हैं। सितंबर महीने में विधानसभा भंग होने से पहले यहां केसीआर पार्टी की सरकार थी और इस पार्टी से कलवाकुंतला चंद्रशेखर राव मुख्यमंत्री थे। कलवाकुंतला चंद्रशेखर ने इस बार भी गजवेल विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा। इस सीट पर बीजेपी की ओर से इनके खिलाफ अकुला विजया और कांग्रेस की ओर से वांतेरु प्रताप रेड्डी खड़े थे। कुल 13 प्रत्याशी ने इस विधानसभा सीट पर अपनी किस्मत आजमाई। चंद्रशेखर राव ने इस सीट पर 58,290 वोटों से जीत दर्ज कर ली है। इन्हें कुल 1,25,444 वोट मिले।
मिजोरम चुनाव
मिजोरम विधानसभा चुनाव के लिए 28 नवंबर को वोटिंग हुई थी। यहां कुल 40 विधानसभा सीटें हैं। फिलहाल मिजोरम में कांग्रेस की सरकार है और लाल थनहवला मुख्यमंत्री हैं। लाल थनहवला ने इस बार दो जगहों सेरछीप और चंफाई साउथ से चुनाव लड़ा था और दोनों ही जगहों पर वे हार गए। चंफाई साउथ में थनहवला को एमएनएफ पार्टी के टीजे LALNUNTLUANGA ने 1049 वोटों से हराया, जबकि सेरछीप में उन्हें निर्दलीय सदस्य लाल दुहोमा से 410 वोटों से हार मिली।

राजस्थान : पीएम का करतारपुर को लेकर कांग्रेस पर वार बोले, हरी व लाल मिर्च में अंतर समझें नामदार

विधानसभा चुनाव : मिजोरम में आज 40 सीटों के लिए हाे रहा मतदान, 11 दिसंबर को आएंगे परिणाम


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.