तीन एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरेंगे इलेक्ट्रिक व्हीकल

2019-06-01T09:12:23+05:30

उत्तर प्रदेश के तीन एक्सप्रेस वे पर जल्द ही इलेक्ट्रिक व्हीकल्स फर्राटा भरते नजर आएंगे।

- यूपीडा करेगा तीन एक्सप्रेस वे पर चार्जिंग स्टेशन डेवलप
- केंद्र सरकार ने बनाया नोडल एजेंसी, जल्द शुरू होगा काम

- ऑफिस और घरों में भी बनाए जा सकेंगे प्राइवेट चार्जिंग स्टेशन

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : पॉल्यूशन को कम करने के लिए इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को ट्रांसपोर्टेशन के काम में ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करने की कवायद में जुटी केंद्र सरकार ने देश भर के तमाम एक्सप्रेस वे और मेगा सिटीज में बड़े पैमाने पर चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलप करने की योजना बनाई है। इसके तहत यूपी एक्सप्रेस वेज इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी को नोडल एजेंसी नामित किया गया है। मुख्य सचिव डाॅ. अनूप चंद्र पांडेय ने हाल ही में इसका आदेश भी जारी कर दिया है।
यूपी के तीन एक्सप्रेस वे शामिल
केंद्र सरकार के ऊर्जा मंत्रालय ने देश भर के 11 एक्सप्रेस वे पर इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की चार्जिंग के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर को डेवलप करने को चुना है। इनमें यूपी के भी तीन एक्सप्रेस वे दिल्ली-आगरा यमुना एक्सप्रेस वे, आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे और ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सपे्रस वे शामिल हैं। खास बात यह है कि इनमें से दो एक्सप्रेस वे दिल्ली को यूपी की राजधानी से जोड़ते है जिसकी वजह से अब इनमें इलेक्ट्रिक व्हीकल्स का आवागमन सुगम हो सकेगा। दिल्ली से लखनऊ तक लोग इलेक्ट्रिक बसों में सफर कर सकेंगे जो अभी तक शहरों की सीमाओं में ही सिमटी हुई है। वहीं इन तीनों एक्सप्रेस वे पर यह प्रोजेक्ट सफल होने पर इसे प्रदेश के बाकी एक्सप्रेस वे पर भी लागू किया जाना है। इसी तरह प्राइवेट चार्जिंग स्टेशन को भी बढ़ावा देने की योजना है जिसके तहत घरों और दफ्तरों में इसे बनाया जा सकेगा। इसके लिए ऊर्जा मंत्रालय के नियमों को पूरा करना होगा और संबंधित डिस्कॉम से कनेक्टिविटी लेनी होगी। फिलहाल इसके लिए किसी लाइसेंस की जरूरत नहीं होगी बल्कि सरकार हर कदम पर मदद देगी।
लाखों लोगों को मिलेगा रोजगार
इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के चार्जिंग स्टेशन की स्थापना से लाखों लोगों को रोजगार भी मिलेगा। साथ ही पर्यावरण को भी साफ रखने में मदद मिलेगी। इसी वजह से केंद्र सरकार ने 15 राज्यों में नोडल एजेंसी बनाने की मंजूरी दी जिसके बाद प्रदेश में यूपीडा को चुना गया है। ये नोडल एजेंसी बुनियादी ढांचे के अलावा तमाम सहूलियतें भी मुहैया कराएगी।
यूपी में लोकसभा चुनाव बाद बड़े निवेश की बरसात व इन योजनाओं की होगी शुरुआत
सबसे पहले यहां बनेंगे चार्जिंग स्टेशन
- दिल्ली-आगरा यमुना एक्सप्रेस वे
- आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे
- ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे
- 4500 चार्जिंग स्टेशन देश भर में खोले जाने की है योजना
- 03 किमी पर एक चार्जिंग स्टेशन खोलने की चल रही कवायद
- 50 लाख से ज्यादा इलेक्ट्रिक वेहिकल्स बढ़ेंगे अगले दस साल में
- 15 राज्यों में नोडल एजेंसी बनाने की केंद्र सरकार ने दी है मंजूरी



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.