ऑनलाइन सिस्टम फेल बिजली कंज्यूमर्स जा रहे झेल

2019-01-18T06:00:08+05:30

- बिजली निगम के पत्र के बाद भी नहीं ठीक हुआ ऑनलाइन सिस्टम

- - मीटर रीचार्ज, बिल में सुधार, बिल जमा करने में हो रही प्रॉब्लम

- तारामंडल, इंडस्ट्रीयल स्टेट, नार्मल, बक्शीपुर के अलावा टाउनहाल में ऑनलाइन की रफ्तार सुस्त

GORAKHPUR: बिजली निगम का ऑनलाइन सिस्टम बार- बार सुस्त होने के चलते कंज्यूमर्स की परेशानी बढ़ गई है। जबकि ऑनलाइन सिस्टम स्लो चलने के संबंध में कई बार पूर्वाचल वितरण निगम के अधीक्षण अभियंता वाराणसी को इससे अवगत कराया गया। इसके बावजूद तारामंडल, इंडस्ट्रीयल स्टेट, बक्शीपुर और टाउन हॉल की ऑनलाइन रफ्तार सुस्त पड़ी है। इसी का नतीजा है कि मीटर रीचार्ज, बिल में सुधार और बिल जमा करने में कंज्यूमर्स को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके चलते बिजली निगम को भी राजस्व वसूली और ऑनलाइन सिस्टम के कार्यो में प्रॉब्लम हो रही है। जिसकी वजह से अफसर व कर्मचारियों को कंज्यूमर्स के गुस्से का सामना करना पड़ता है।

शिकायत के बाद भी नहीं दिखा असर

बिजली निगम की ओर से जिले में आर एपीडीआरपी योजना के तहत स्थापित ऑन लाइन सिस्टम कार्य करने में अधिक समय ले रहा है। जिसके कारण कंज्यूमर्स के बिल सुधार, मीटर डाटा की फीडिंग एवं बिल निर्गत और अन्य राजस्व संबंधित कार्यो में अत्यंत दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। यह समस्या विगत कई दिनों से आ रही है। इसकी शिकायत कंज्यूमर्स ने कई बार बिजली निगम के अफसरों से की। इसके बाद भी महानगर के चार खंडों में ऑनलाइन सिस्टम दगा दे रहा है। कंज्यूमर्स का कहना है कि सुबह बिजली ऑफिस पहुंचने के बाद पता चलता है कि ऑन लाइन सिस्टम धीमा चल रहा है। जिसके वजह से कार्य प्रभावित है। इसे लेकर कंज्यूमर्स को आए दिन द़फ्तर के चक्कर लगाने पड़ते हैं। करीब 2 से 3 बजे सिस्टम ठीक होने के बाद ही बिल जमा किए जाते हैं। तब तक आधे से अधिक कंज्यूमर्स घर लौट जाते हैं।

ऑन लाइन सिस्टम हवा हवाई

बिजली निगम की ओर से कंज्यूमर्स को घर बैठे बेहतर सुविधा देने के उद्देश्य से महानगर में ऑन लाइन बिल भुगतान का आधार रखा गया। निजी कंपनी को इसका जिम्मा सौंपा गया है। बिजली निगम ने सभी खंडों के ऑफिस में कंप्यूटर, यूपीएस, प्रिंटर सहित सभी जरूरी उपकरण लगवा दिए। योजना शुरू हुए काफी समय हो गए। लेकिन अब तक ऑनलाइन सिस्टम की सुस्ती दूर नहीं हुई।

- राजस्व वसूली कार्यो में ऑन लाइन सिस्टम पर लगने वाला औसतन समय

कार्यो की गतिविधि नगरीय खंड प्रथम द्वितीय तृतीय चतुर्थ

राजस्व वसूली 3.5 मिनट 3 मिनट 1.5 मिनट 1.5 मिनट

बिल संशोधन फिडिंग 8 मिनट 6 मिनट 6.5 मिनट 7 मिनट

बिल संशोधन रिब्यू 3 मिनट 3 मिनट 3.2 मिनट 3 मिनट

बिल निकासी 3.5 मिनट 4 मिनट 4 मिनट 3.5 मिनट

पार्ट पेमेंट 2 मिनट 2.5 मिनट 2.5 मिनट 2.5 मिनट

मीटर फिडिंग 7.5 मिनट 7 मिनट 6 मिनट 6.3 मिनट

नये संयोजन 32 मिनट 30 मिनट 32 मिनट 25 मिनट

नहीं मिल रही सुविधा, लगता घंटों

बिजली निगम की ओर से खंडों में ऑनलाइन सिस्टम पर लगने वाला औसतन समय निर्धारित किया गया लेकिन इसके बावजूद राजस्व वसूली, बिल संशोधन फिडिंग, बिल संशोधन रिब्यू, बिल निकासी, पार्ट पेमेंट, मीटर फिडिंग और नये संयोजन आदि सुविधाओं को पाने के लिए कंज्यूमर्स को लाइन मे ंलग कर घंटों इंतजार करना पड़ता है। नियमों का पालन नहीं हो पा रहा है। ऑन लाइन सिस्टम सुस्त होने की वजह से घंटों का समय लग जा रहा है। जिसकी वजह से कंज्यूमर्स को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

वर्जन

ऑनलाइन सिस्टम धीमा चलने की आए दिन शिकायत मिलती है। इस संबंध में जिम्मेदार अफसरों को पत्र लिखा जा चुका है। जल्द ही इसे ठीक करवाया जाएगा। जिससे कंज्यूमर्स को बेहतर सुविधा मिल सके।

एके सिंह, अधीक्षण अभियंता शहर

inextlive from Gorakhpur News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.