ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम इस समय बुरे हालात में 2018 में जीत पाए सिर्फ 1 मैच

2018-06-22T01:51:31+05:30

इंग्लैंड के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया चौथा वनडे मैच भी हार गई। इसी के साथ पांच मैचों की सीरीज में इंग्लैंड ने 40 से अजेय बढ़त बना ली।

चौथा मैच भी हार गई ऑस्ट्रेलिया
कानपुर। इंग्लैंड दौरे पर आई ऑस्ट्रेलियाई टीम का हार का सिलसिला बरकरार है। पांच वनडे मैचों की सीरीज के चौथे मैच में इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को छह विकेट से करारी शिकस्त दी है इस जीत के साथ ही मेजबान टीम ने मेहमानों पर 4-0 की अजेय बढ़त बना ली है। ईएसपीएन क्रिेकइन्फो के डेटा के मुताबिक, गुरुवार को डरहम के चेस्टर ली स्ट्रीट के रिवरसाइड ग्राउंड पर सीरीज का चौथा मैच खेला गया था। ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए निर्धारित 50 ओवर में 310 रन का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा किया। जवाब में इंग्लिश टीम ने 45वें ओवर में ही चार विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। सीरीज का बस एक और मैच बचा है अगर इंग्लैंड वो भी जीत जाती है तो कंगारुओं को पूरी तरह से सफाया हो जाएगा।


34 साल बाद पहुंची 6वें नंबर पर

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम इस समय बुरे दौर से गुजर रही है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी ) की ताजा वनडे रैंकिंग में ऑस्ट्रेलिया अपने 34 साल के सबसे निचले पायदान छठे नंबर पर आ गई है। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया 1984 में छठे स्थान पर थी। पूर्व विश्व विजेता टीम की रैंकिंग तेजी से नीचे गिरी है। वह पिछले दो साल से भी कम समय में नंबर एक से छठे स्थान पर आ गई है। उसके बुरे दौर की शुरुआत दक्षिण अफ्रीका के हाथों मिली 0-5 की हार से हुई। पहली बार ऑस्ट्रेलिया किसी द्विपक्षीय सीरीज में 0-5 से हारा था। इसके अलावा वह न्यूजीलैंड, भारत और इंग्लैंड से लगातार तीन द्विपक्षीय सीरीज हारा है। साथ ही चैंपियंस ट्रॉफी में भी यह टीम शुरुआती दौर में ही बाहर हो गई थी। एक वक्त था जब साल 2000 से 2010 तक लगातार 10 साल ऑस्ट्रेलिया दुनिया की नंबर 1 टीम रही।
2018 में जीता सिर्फ एक मैच
साल 2018 आधा बीत चुका है और अभी तक ऑस्ट्रेलियाई टीम के खाते में सिर्फ एक वनडे जीत दर्ज है। ईएसपीएन क्रिकइन्फो के डेटा के मुताबिक, इस साल कंगारुओं ने कुल 9 वनडे मुकाबले खेले वो भी इंग्लैंड के खिलाफ। इसमें ऑस्ट्रेलिया को सिर्फ एक में जीत मिली बाकी में हार का मुंह देखना पड़ा। वहीं 2015 से बात करें तो ऑस्ट्रेलियाई टीम को जीत से ज्यादा हार मिली है। पिछले तीन सालों में इस टीम ने 27 मुकाबले जीते जबकि 28 में शिकस्त मिली।
वनडे इतिहास की सबसे बड़ी हार भी झेली
मौजूदा इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया वनडे सीरीज का तीसरा मैच नॉटिंघम में खेला गया था। इस मैच में इंग्लैंड ने पहले खेलते हुए वनडे इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर 481 रन बनाए। जवाब में कंगारू टीम 239 रन पर ऑलआउट हो गई। इस तरह ऑस्ट्रेलिया यह मैच 242 रन से हार गया जोकि वनडे इतिहास में उसकी सबसे बड़ी शिकस्त है।

टीम के पतन की क्या है वजह

विश्व की मजबूत क्रिकेट टीमों में शुमार ऑस्ट्रेलिया के पतन की मुख्य वजह है खिलाड़ियों की अदला-बदली। 2015 के बाद से ऑस्ट्रेलिया टीम ने 42 खिलाड़ी अंदर-बाहर किए। जबकि भारत ने 40, वेस्टइंडीज ने 39, जिंबाब्वे ने 39 और न्यूजीलैंड ने 35 किए। हालांकि इस लिस्ट में सबसे ऊपर श्रीलंका है जिसमें 49 प्लेयर्स की अदला-बदली हुई। इसके अलावा कंगारू टीम के स्टार खिलाड़ी या तो चोट या अन्य किसी वजह से टीम का हिस्सा नहीं रहे। इसमें स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर की कमी भी नजर आ रही। ये दोनों बॉल टेंपरिंग में दोषी पाए जाने के चलते एक-एक साल का प्रतिबंध झेल रहे हैं।
34 साल में पहली बार वनडे रैंकिंग में इतना नीचे गिरी ऑस्ट्रेलिया, जानिए भारत कहां हैं

टूटी पसली के साथ खेलने वाले इस क्रिकेटर को मिला था वनडे का पहला 'मैन ऑफ द मैच'



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.