तत्काल टिकट के लिए मारामारी

2019-06-17T06:00:31+05:30

रेलवे बुकिंग काउंटर पर तत्काल के लिए लग रही कतारें

तत्काल टिकट ब्लैक होने से बढ़ रही शार्टेज

MEERUT। गर्मियों की छुट्टियां शुरु होती ही हिल स्टेशन से लेकर टूरिस्ट प्लेस पर जाने वालों की यात्रियों की भीड़ लगातार बढ़ती जा रही है। कार और बसों से लेकर रेलवे की बुकिंग फुल है। हालत यह है कि गर्मियों की छुट्टियों के लिए दो-दो माह पहले से एडवांस बुकिंग हो चुकी है। इसका नतीजा है कि रेलवे पर भी तत्काल टिकट की मारामारी बढ़ती जा रही है। इस भीड़ का फायदा उठाते हुए टिकट माफिया भी सक्रिय हो चुके हैं। इन टिकट माफियाओं को दबोचने के लिए रेलवे पुलिस ने अब थंडर स्टार्म अभियान छेड़ दिया जिसके तहत टिकट माफिया को दबोचा जा रहा है।

हर जगह की दिक्कत

गर्मियों की छुट्टियों में सबसे अधिक यात्रियों का रूख पहाड़ों की तरफ होता है वहीं नौकरी पेशा यात्री भी छुट्टियों में अपने घर या परिजनों के पास जाते हैं ऐसे में एवरेज यात्रियों की संख्या जून माह में दस गुना तक बढ़ जाती है। ऐसे में सबसे अधिक मेरठ से चलने वाली नौचंदी, संगम व राज्यरानी के लिए मारामारी इस माह में बढ़ जाती है।

बढ़ रही सेंधमारी

यात्रियों की बढ़ती संख्या और टिकटों की मारामारी के चलते गर्मियों की छुट्टियों में टिकट माफिया भी सक्रिय हो जाते हैं। गत वर्ष मेरठ में रेलवे के टिकट काउंटर पर एडवांस बुक हुए टिकट मिलने पर टिकट माफिया के खेल का खुलासा हुआ था उसके बाद सभी टिकट काउंटर पर रेलवे ने सख्ती कर दी थी। इसके बावजूद भी रेलवे स्टेशन के आसपास बनी टूर टै्रव‌र्ल्स की दुकानों पर ब्लैक में सभी प्रमुख ट्रेनों के टिकट उपलब्ध हैं। रेलवे एजेंट तत्काल विंडो पर सेंटिंग करके प्रमुख ट्रेनों के टोकन और टिकट सबसे पहले बुक करा लेते हैं बाद में उन टिकटों को जरुरतमंद यात्रियों को बेचते हैं।

आरपीएफ ने चलाया ऑपरेशन थंडर स्टार्म

इसी क्रम में शनिवार को आरपीएफ ने ऑपरेशन थंडर स्टार्म चलाकर शास्त्रीनगर निवासी एक एजेंट अतुल गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया। अतुल गुप्ता फर्जी आईडी बनाकर एडवांस और तत्काल टिकट बुक कराता था और उनको मोटी रकम में बेचता था। अतुल के साथ कई अन्य एजेंट आरपीएफ के निशाने पर हैं। जो समर सीजन में सक्रिय हो जाते हैं। आरपीएफ के अनुसार इनका लिंक दिल्ली तक जुड़ा हुआ है और दिल्ली तक के यात्रियों को टिकट बेचे जाते हैं।

यह है ट्रेनों की वर्तमान स्थिति

नौचंदी एक्सप्रेस

दिनांक जनरल वेटिंग लिस्ट आरएसी थर्ड एसी वेटिंग

17 57 32 12

18 32 25 24

19 22 13 12

20 48 44 9

21 23 12 16

22 43 34 19

23 51 46 13

24 25 23 8

25 एवलेबल 11 6

संगम एक्सप्रेस-

17 94 64 12

18 37 23 6

19 30 22 14

20 38 22 13

21 39 26 13

22 31 24 15

23 22 10 12

24 13 9 7

25 26 20 10

तत्काल के लिए भी लंबी लाइन में लगी हुई थी। में सुबह 6 बजे से लाइन में लगा हुआ था जब जाकर तत्काल टिकट मिला है।

प्रवीण

रात 3 बजे से लाइन में लगे हुए हैं तब टोकन मिला। क्योंकि टिकट विंडो पर सेंटिंग करके शुरुआत के टोकन एजेंट को दे दिए जाते हैं इसलिए तत्काल का नंबर यात्रियों को देरी से आता है।

हरेंद्र

30 जून तक सभी एक्सप्रेस ट्रेनों में सीट फुल हैं। लेकिन एजेंट के माध्यम से 500 रुपए एक्स्ट्रा देकर टिकट मिल रहा है। सुबह 5 बजे से लाइन में लगे हैं।

विजय

तत्काल टिकट के लिए मारामारी है। काउंटर पर लंबी लंबी लाइनें लगी हुई है। टोकन के लिए सुबह 8 बजे से लाइन में लगे हुए हैं।

सतेंद्र

समर सीजन में टिकट एजेंट सक्रिय हो जाते हैं लगातार ऐसे एजेंट्स पर नजर रखी जा रही है। मुख्यालय स्तर से लगातार टिकट माफियाओं की गतिविधियों पर नजर रखने का अभियान चलाया जा रहा है।

जितेंद्र यादव, आरपीएफ प्रभारी

ऑनलाइन बुकिंग सुविधा होने के कारण एडवांस बुकिंग एक एक माह पहले हो जाती है। तत्काल भी ऑनलाइन बुक हो जाते है इसलिए टिकट की शार्टेज रहती ही है।

आर। पी। शर्मा, स्टेशन अधीक्षक

inextlive from Meerut News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.