पूर्व मंत्री के बेटे पर हत्या का केस दर्ज

2015-07-19T07:01:13+05:30

आगरा। सारा की मौत के हाईप्रोफाइल मामले में आखिर सिरसागंज पुलिस ने अमनमणि के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया। पुलिस के लिए पहले दिन से हाईप्रोफाइल मामला उलझन भरा साबित हो रहा था। लखनऊ में हत्या के आरोप गूंज रहे थे, लेकिन फीरोजाबाद पुलिस के पास जांच के लिए थी हादसे की तहरीर। ऐसे में फीरोजाबाद पुलिस हत्या की जांच के लिए तहरीर का इतंजार कर रही थी। शुक्रवार को तहरीर मिलने के बाद शनिवार को थाना सिरसागंज पुलिस ने सारा की मां की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है। अब इस मामले में फॉरेंसिक टीम की जांच रिपोर्ट के आने का इंतजार है।

शुक्रवार को फीरोजाबाद आई थी सारा की मां सीमा सिंह

सारा की मां सीमा सिंह शुक्रवार को फीरोजाबाद आई थी। उन्होने जिला अस्पताल में पहुंच कर पोस्टमार्टम के संबंध में जानकारी ली तथा पोस्टमार्टम की ड्यूटी सीएमओ दफ्तर से लगने की जानकारी मिलने पर उन्होंने सीएमओ से भी मुलाकात की। पुलिस अधीक्षक से मुलाकात के बाद में उन्होंने सिरसागंज घटनास्थल पर पहुंच कर अपने स्तर से भी पूछताछ की। सारा की मां ने थाने में दी तहरीर में बेटी की हत्या के साथ में बेटी के उत्पीड़न का आरोप भी पूर्व मंत्री अमरमणि के पुत्र अमनमणि पर लगाया है।

सारा ने जताई थी अपने साथ अनहोनी की आशंका

सीमा सिंह ने तहरीर में कहा है उसकी पुत्री सारा की शादी सात जुलाई 2013 में हुई थी। शादी के बाद से दोनों का दांपत्य जीवन सही रहा, लेकिन छह माह बाद मतभेद शुरू हो गए। अमनमणि उनकी पुत्री सारा के साथ आए दिन शराब पीकर मारपीट करता एवं अभद्र व्यवहार करता। अचानक बदले अमनमणि के व्यवहार से सारा भी हतप्रभ थी, लेकिन इसी आशा में कि एक दिन अमन सही रास्ते पर आ जाएगा, वह उसका उत्पीड़न सहती रही। तहरीर में सीमा ने लिखा है कि एक दिन सारा ने उन्हें अपने साथ अनहोनी की आशंका व्यक्त की, लेकिन उन्होंने धैर्य बंधाया और सब कुछ ठीक हो जाने का आश्वासन दिया।

अमन को खरोंच तक नहीं आई

15 जुलाई 2015 को अचानक उनके पुत्र सारा के भाई सिद्धार्थ के फोन पर किसी व्यक्ति ने फोन किया कि सिरसागंज में सारा की कार हादसाग्रस्त हो गई है। कुछ देर बाद उनके फोन पर अमन का फोन आया और कहा कि हादसे में सारा की मौत हो गई है। इससे वह स्त?ध रह गईं और पुत्री की हत्या की आशंका को सही समझने लगी। जब वह फीरोजाबाद पहुंची और देखा तो अमन के शरीर पर कहीं भी चोट के निशान नहीं थे। इस तरह के हादसे को देख वह आश्चर्यचिकत थीं। उन्हें पुत्री की हत्या की आशंका होने लगीं।

पुलिस को अब फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट का इंतजार

शुक्रवार को सारा की मां के द्वारा दी गई तहरीर पर थानाध्यक्ष सिरसागंज प्रमोद यादव ने मुकदमा दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है। अब पुलिस हादसे के साथ में हत्या के ¨बदुओं पर भी जांच करेगी। वहीं पुलिस को हादसे की फॉरें¨सक जांच रिपोर्ट का भी इंतजार है। टीम द्वारा पहले ही हादसा स्थल की जांच की जा चुकी है तथा टीम अपनी रिपोर्ट का अध्ययन कर रही है।

inextlive from Agra News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.