दो बिल्डिंग के बीच सीढ़ी रख बचाई जान

2019-06-05T06:00:11+05:30

PATNA : सूरत के तक्षशिला अग्निकांड जैसा हादसा मंगलवार को पटना के कदमकुआं थाना एरिया के नया टोला में हो सकता था लेकिन समय रहते आग पर काबू पा लिया गया। नया टोला में मनोज कुमार का चार मंजिला मकान है। दूसरे मंजिल पर दवा फैक्ट्री है। वहीं चौथे मंजिल पर ग‌र्ल्स हॉस्टल है। मंगलवार को अचानक दूसरे मंजिल स्थित दवा फैक्ट्री में आग लग गई। जब तक लोग कुछ समझ पाते आग ने विकराल रूप ले लिया। ग‌र्ल्स हॉस्टल की छात्राएं जब भागने के लिए नीचे उतरी तो रास्ता जाम हो गया था। इस कारण सभी भागकर ऊपर पहुंच गई। आग की लपटें धीरे-धीरे बढ़ती जा रही थी। लड़कियां काफी डर गई थी। कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या करे। इसी बीच कुछ लोगों ने एक लोहे की सीढ़ी बढ़ा दी। लोहे की सीढ़ी को सामने के छत पर रखा गया और उसी सीढ़ी के सहारे जान बचाकर लड़कियां दूसरे छत पर भागी। इस दौरान दमकलकर्मी भी पहुंच गए थे। करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। इस दौरान दवा फैक्ट्री में रखा सामान जलकर राख हो गया।

48 फीट ऊपर सीढ़ी का सहारा

ग‌र्ल्स चौथे मंजिल पर सीढ़ी लगाकर दूसरे मकान की छत पर भाग रही थी। चौथे मंजिल यानी 48 फीट ऊंचाई पर ये लड़कियां एक छत से दूसरी छत पर भाग रही थीं। अगर कोई चूक होती तो छात्राएं सीधे 48 फीट नीचे गिर जाती। इतनी ऊंचाई से नीचे गिरने के बाद बचने का चांस नहीं था लेकिन गनीमत रहा कि लड़कियां सुरक्षित एक छत से दूसरे छत पर पहुंचने में सफल रही।

संकरी गलियां होने से परेशानी

जिस बिल्डिंग में आग लगी थी। वहां संकरी गलियां है। लोगों ने दमकलकर्मी को फोन कर सूचना दी। लेकिन संकरी गलियां होने के कारण आग बुझाने के में काफी परेशानी हुई। आग बुझाने के लिए सभी जुट गए थे। पाइप जोड़कर गली में लाया गया। इसके बाद आग पर काबू पाया जा सका।

inextlive from Patna News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.