प्रॉपर्टी डीलर की आस्तीन में थे कई सांप

2019-03-17T06:00:19+05:30

घटना से पांच मिनट पहले रमेश के साथ बैठे थे कई लोग

जमीन की एक डील में उसे मिलने वाले थे 40 से 50 लाख रुपए

PRAYAGRAJ: प्रॉपर्टी डीलर रमेश यादव की आस्तीन में कई सांप थे। रमेश को गोली लगने से पांच मिनट पहले चार से पांच लोग उसके पास मौजूद थे। इनके हटते ही उसे गोली मार कर मौत के घाट उतार दिया गया था। घटना के बाद से उसके कुछ करीबी घर छोड़ कर फरार हैं। शनिवार को रमेश के शव का वीडियोग्राफी के साथ डॉक्टरों के पैनल ने पोस्टमार्टम किया। उसके गर्दन में बाई तरफ लगी गोली दाहिनी ओर कान के पास मिली। गोली 315 बोर के तमंचे से करीब से मारी गई थी। पोस्टमार्टम हाउस पर उसके परिजनों व नात रिश्तेदारों का जमावड़ा रहा। वारदात को लेकर इनसे हुई बातचीत में कई क्लू निकल कर सामने आए.

पांच साल से कर रहा था प्रापर्टी डीलिंग

झूंसी के नारायणदास का पुरा निवासी रमेश यादव प्रॉपर्टी के काम में करीब पांच साल से उतरा था। इस काम से उसने पैसे के साथ नाम भी कमाया। यह सब देख कई जहरीले सांप उसकी आस्तीन में जा पहुंचे। हर फन में माहिर रमेश उन्हें भी अपने साथ जोड़ दिया। वे भी प्रापर्टी डीलिंग में उसकी मदद करने लगे। मदद के ऐवज में वे उन्हें कुछ रुपए दे देता था। बताते हैं कि करीब पंद्रह से बीस दिन पहले लगभग एक बीघे जमीन की डील हुई थी। इस डील में रमेश ने मुख्य भूमिका निभाई थी। इसके एवज में उसे 40 से 50 लाख रुपए मिलने वाले थे। माना जा रहा है कि उसकी हत्या के पीछे यह भी एक कारण हो सकता है। घटना से तकरीबन पांच मिनट पहले रमेश जहां लेटा था, उस जगह छतनाग, बंधवा कनिहार व मलावां सहित दो अन्य गांव के चार से पांच लोग मौजूद थे। इनके जाने के पांच से दस मिनट बाद उसे गोली मार दी गई। यह बात पुलिस की जांच का एक अहम हिस्सा मानी जा रही है.

बाक्स

तालाब तक ही गया डॉग स्क्वॉड

मृतक रमेश यादव का भतीजा बंधवा ताहिरपुर प्रधान राजेंद्र प्रसाद यादव की मानें तो पुलिस का डॉग स्क्वॉड मौके पर पहुंचा था। वह घटनास्थल से गांव के पास स्थित तालाब तक गया। मतलब यह कि कातिल गोली मारने के बाद तालाब तक पैदल गए। इसके बाद वे कैसे गये? यह अब भी रहस्य बना हुआ है। पुलिस तालाब के पास स्थित एक बिल्डिंग में लगे सीसीटीवी कैमरे का फुटेज खंगालने में जुट गई है.

बाक्स

घर छोड़ कर फरार हैं दो लोग

घटना वाले दिन शुक्रवार से शनिवार तक मामले की जांच में जुटी पुलिस ने कई जगह दबिश दी। वारदात से पांच मिनट पहले उसके पास मौजूद बंधवा कनिहार व छतनाग गांव निवासी दो व्यक्तियों के यहां भी पुलिस ने दबिश दी। पता चला कि वे दोनों शुक्रवार शाम से ही घर छोड़ कर गायब हैं। पुलिस को शक है कि कत्ल को लेकर इनमें से ही किसी एक ने ताना बाना बुना होगा। हालांकि पुलिस कुछ अन्य एंगल पर भी काम कर रही है.

वर्जन

शनिवार को रमेश के शव को पोस्टमार्टम हो चुका है। मामले की जांच की जा रही है। अब तक की गई तफ्तीश में प्रापर्टी डलिंग से जुड़े कुछ क्लू हाथ लगे हैं। इसी के आधार पर जांच आगे बढ़ रही है.

दिवाकर सिंह, एसओ झूंसी

inextlive from Allahabad News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.