बरेलियंस का फूड हेल्दी नहीं

2019-06-26T10:10:32+05:30

ट्यूजडे को फूड ऑन व्हील में बरेलियंस के द्वारा लाए गए 72 नमूनों की जांच की गई तो चौंकाने वाले रिजल्ट सामने आए

-आज भी कई जगहों पर फूड ऑन व्हील में फूड क्वालिटी का किया जाएगा फ्री टेस्ट

-खाघ सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन द्वारा यूपी के सात जिलों में चलाया जा हरा अभियान

bareilly@inext.co.in
BAREILLY : रिपोर्ट में 61 फूड सैंपल फेल गए जबकि 11 सैंपल की रिपोर्ट अभी संदेह में है। इससे तो यही साबित होता है जो फूड बरेलियंस चाव से डेली खा रहे हैं, वह उन्हें धीरे-धीरे बीमार बना रहा है। इस दौरान धर्मराज मिश्र खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की टीम के साथ उपस्थित रहे। उन्होंने बताया कि एफएसडब्ल्यू की टीम द्वारा डिस्ट्रिक्ट के सभी जगहों से लिए गए सैंपल लखनऊ भेजे जाएंगे।

इनके सैंपल फेल
-5 दूध के सैंपल आए, जिनमें 3 के सैंपल पास और दो के फेल हो गए।

-17 सैंपल हल्दी के आए, जिनमें 13 पास और 4 फेल हो गए।

-9 सैंपल लाल मिर्च के आए, जिनमें 6 पास और 3 फेल हो गए।

-धनिया के 8 सैंपल में 7 पास और 1 फेल मिला।

-घी के 4 सैंपल में 3 पास और 1 फेल हो गया।

चलाया जा रहा अभियान
खाघ सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन द्वारा यूपी के सात जिलों में फूड सेफ्टी अभियान चलाया जा रहा है। इसी के तहत फूड ऑन व्हील आज शहर में पंजाबी मार्केट, श्यामगंज में अजंता के पास और डेलापीर में दो-दो घंटे खड़ी खड़ी हुई। लैब अटेंडेंट डॉ। जीतेन्द्र यादव ने अपनी टीम के साथ लोगों द्वारा लाए खाने की चीजों का फ्री टेस्ट किया।

अवेयनेस है मकसद
उन्होंने बताया कि फूड ऑन व्हील का मकसद लोगों को जानकारी देना है कि लोग खाने-पीने की चीजों को लेकर अवेयर रहे। साथ ही वे जाने सकें वे कितनी क्वालिटी वाली चीजें खा रहे हैं। वहीं इस दौरान कई खाद्य पदार्थो की क्वालिटी खराब मिली, लेकिन इस पर कोई एक्शन नहीं लिया गया। साथ ही बताया कि फूड ऑन व्हील आज यानि वेडनसडे को भी शहर में रहेगी।

यहां से आए लोग
फूड ऑन व्हील में पहले दिन बड़ी संख्या में लोग फूड टेस्ट करवाने आए। रामपुर गार्डन, खोया मंडी, कमल डेरी, अजन्ता, शायगंज बजार, डेलापीर, चावला रेस्टोरेंट आदि जगहों से आए लोगों ने फूड टेस्ट करवाया।

यह मिली कमियां

-कमल डेयरी की क्रीम में खराबी निकली, जिस पर उनके ऑनर उसको ठीक कराने की बात कही।

-कई लोगों के मसालों में मिलावट और कलर मिला।

-कुछ के फलों में केमिकल भी पाया गया।

इनका हुआ टेस्ट

-मिल्क में कार्बोनेट, स्टार्च, शुगर, यूरिया और डीटर्जेट का टेस्ट किया गया।

-मिल्क प्रोडक्ट्स और मिठाइयों में मैटेलिक फॉइल और सिल्वर एल्युमिनियम का टेस्ट किया गया।

-ऑयल और मसालों में कलर और मिलावट का टेस्ट किया।

-खोया में बीडी बोडामिन का टेस्ट किया।

चार पैरामीटर पर टेस्ट
फूड ऑन व्हील ने सभी फूड्स का चार पैरामीटर पर टेस्ट किया। इसी के आधार पर वह लोगों को सस्पेक्टेड रिजल्ट बता थे। उन्हें बेसिक जानकारी दे रहे थे क्योंकि उनके पास सारे इंस्ट्रूमेंट नहीं थे। आपको बता दें कि एक प्रोडक्ट के टेस्टिंग के लिए 12 तरह के पैरामीटर होते हैं। यह अभियान 22 जून से 2 जुलाई तक चलेगा।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.