लोकसभा के 14वें स्पीकर सोमनाथ चटर्जी का निधन प्रेसीडेंटपीएम ने जताया दुख

2018-08-13T11:15:15+05:30

पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी का आज सोमवार को एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। 89 वर्षीय चटर्जी लंबे समय से बीमार चल रहे थे। यह लोकसभा के 14वें स्पीकर थे।

नई दिल्ली/कोलकाता (आईएएनएस)। पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी के निधन को लेकर बेलेव्यू क्लीनिक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रदीप टंडन ने आईएएनएस को बताया सोमनाथ ने 8.15 बजे अंतिम सांस ली। सोमनाथ चटर्जी की हालत कल रविवार को दिल का दौरा पड़ने के बाद से ज्यादा गंभीर थी। वह लंबे समय से किडनी संबंधी बीमारी से जूझ रहे थे। इन्हें हाल ही में बीते सात अगस्त को बेलेव्यू क्लीनिक में उपचार हेतु भर्ती कराया गया था। सोमनाथ के निधन पर देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने शोक जताया है।

राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री ने भी किया ट्वीट
राष्ट्रपति ने ट्वीट किया कि लोक सभा के पूर्व अध्यक्ष तथा सदन में अपनी सशक्त उपस्थिति दर्ज कराने वाले वरिष्ठ सांसद श्री सोमनाथ चटर्जी का सुनकर दुख हुआ। बंगाल और पूरे भारत ने एक संवेदनशील लोक सेवक खो दिया है। उनके परिवार और अनगिनत चाहने वालों के प्रति मेरी शोक- संवेदनाएं हैं। पीएम ने ट्वीट किया कि पूर्व सांसद और अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी भारतीय राजनीति का एक स्तंभ थे। वह संसदीय लोकतंत्र को मजबूत करने और कमजोर लोगों के कल्याण के लिए एक मजबूत आवाज थे। उनके निधन से दुख हुआ है। मेरी संवेदना उनके परिवार व समर्थकों के साथ हैं।
राहुल गांधी ने ट्वीट में उन्हें एक संस्थान बताया
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में उन्हें एक संस्थान की उपाधि दे दी है। राहुल गांधी ने लिखा कि वह एक संस्थान थे। पार्टी लाइन से हटकर सभी सांसदों के मन में उनके लिए अपार सम्मान था। इस दुख के समय में उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं। इसके अलावा दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने भी गहरा दुख व्यक्त किया है। अरविंद केजरीवाल ने उन्हें भारत के सबसे महान लोकसभा अध्यक्षों में से एक के रूप में याद किया। लोकसभा की आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक सोमनाथ 14वें स्पीकर लोकसभा स्पीकर थे।

लोकसभा की अधिकारिक वेबसाइट के अुनसार
1- जीवी मावलंकर
(15.05.1952 - 27.02.1956)
2- एमए अय्यंगार
(08.03.1956 - 10.05.1957)
(11.05.1957 - 16.04.1962)
3- सरदार हुकम सिंह
(17.04.1962 - 16.03.1967)
4- एन. संजीव रेड्डी
(17.03.1967 - 19.07.1969)
(26.03.1977 - 13.07.1977)
5- जीएस ढिल्‍लों
(08.08.1969 - 17.03.1971)
(22.03.1971 - 01.12.1975
6- बलिराम भगत
(15.01.1976 - 25.03.1977)
7- केएस हेगड़े
(21.07.1977 - 21.01.1980
8- बलराम जाखड़
(22.01.1980 - 15.01.1985)
(16.01.1985 - 18.12.1989)
9- रवि राय
(19.12.1989 - 09.07.1991)

10- शिवराज वि पाटील

(10.07.1991 - 22.05.1996)
11- पीए संगमा
(25.03.1996 - 23.03.1998)
12- जीएमसी बालायोगी
(24.03.1998 - 19.10.1999)
(22.10.1999 - 03.03.2002)
13- मनोहर जोशी
(10.05.2002 - 02.06.2004)
14- सोमनाथ चटर्जी
(04.06.2004 - 31.05.2009)

15- मीरा कुमार

(04.06.2009 - 04.06.2014)
16- सुमित्रा महाजन
(05.06.2014 - Present)

जल्दी लोकसभा चुनाव की भूमिका बना रही सरकार : मायावती


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.