गूगल और फेसबुक जैसे दिग्गजों पर शिकंजा कसने पर G20 में बनी सहमति

2019-06-08T16:39:00+05:30

टॉप G20 वित्त मंत्रियों ने Google और फेसबुक जैसे इंटरनेट दिग्गजों पर शिकंजा कसने के लिए सहमति व्यक्त की है। उनका कहना है कि उनपर किसी भी प्रकार का टैक्स लागू करने के लिए एक ग्लोबल सिस्टम खोजने की तत्काल आवश्यकता है।

फुकोका (एएफपी)। टॉप G20 वित्त मंत्रियों ने शनिवार को इस बात पर सहमति व्यक्त की है कि Google और फेसबुक जैसे इंटरनेट दिग्गजों पर शिकंजा कसना चाहिए और इसके लिए उन्हें तुरंत एक ग्लोबल सिस्टम बनाने की आवश्यकता है। G20 ने ऑर्गनाइजेशन फॉर इकोनॉमिक कोऑपरेशन एंड डेवलपमेंट को इस सिस्टम को ठीक करने का काम सौंपा है, जिसने इन हेवीवेट वाले इंटरनेट फर्म को आयरलैंड जैसी जगहों पर कम टैक्स पॉलिसी का ज्यादा फायदा उठाते हुए देखा है और जिन देशों में वे भारी मुनाफा कमाते हैं, वहां भी वह लगभग ना के बराबर टैक्स देते हैं।
G-20 समिट : अर्जेंटीना में पीएम मोदी से मिले सऊदी क्राउन प्रिंस, सुरक्षा और निवेश समेत अन्य मुद्दों पर हुई चर्चा

2020 तक निकालना होगा इसका समाधान
ओईसीडी प्रमुख एंजेल गुरिया ने शनिवार को पश्चिमी जापान के शहर फुकोका में जी -20 के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक प्रमुखों के साथ एक बैठक की और शिकंजा कसने को लेकर एक रोडमैप तैयार किया। टैक्स कंट्रोल जैसे सिस्टम को बनाने की पॉलिसी पर 129 देशों ने हस्ताक्षर किए हैं और 2020 तक इसका समाधान निकालने का समय तय किया गया है। वित्त मंत्रियों की एक पैनल डिस्कशन के दौरान फ्रांस के वित्त मंत्री ब्रूनो ले मायरे ने कहा, 'हमें जल्दी करना होगा। इस साल के अंत तक किसी भी तरह से इस समस्या का उपाय निकलना होगा।' इसके बाद अमेरिका के वित्त मंत्री ने स्टीवन मेनुचिन ने कहा, 'मुझे अमेरिका फ्रांस और ब्रिटेन द्वारा प्रस्तावित दो मौजूदा टैक्स को लेकर चिंताएं हैं लेकिन मुझे ख़ुशी है कि उन्होंने इस मुद्दे से निपटने के लिए एक तत्परता दिखाई है।' इसी तरह अन्य देशों के विदेश मंत्रियों ने भी इस मामले में अपनी अपनी राय रखी।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.