सरचार्ज माफी योजना में दिलचस्पी नहीं ले रहे कंज्यूमर्स

2019-01-21T06:00:14+05:30

- शहर में 32 हजार कंज्यूमर्स पर 48 करोड़ का बकाया

- सिर्फ 801 कंज्यूमर्स ने ओटीएस योजना के तहत कराया है रजिस्ट्रेशन

GORAKHPUR: शहर में एक मुश्त बिजली बिल भुगतान के लिए भले ही सरचार्ज माफी योजना लागू की गई है, लेकिन कंज्यूमर्स इस योजना में बहुत अधिक दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं। 19 दिन में शहर में मात्र 801 कंज्यूमर्स ने ही अब तक इस योजना का लाभ लेने के लिए रजिसट्रेशन कराया है जबकि कुछ कंज्यूमर्स पर तो करोड़ों का बकाया चल रहा है।

सुस्त पड़ गई रफ्तार की योजना

शहरी क्षेत्र में करीब 1.70 लाख बिजली कंज्यूमर्स हैं, जिनमें से करीब 32 हजार कंज्यूमर्स द्वारा बिल जमा नहीं किया जा रहा है, जिन पर करीब 48 करोड़ रुपए की बकाएदारी चल रही है। ऐसे बकाएदार कंज्यूमर्स को राहत पहुंचाने के लिए पावर कॉर्पोरेशन द्वारा बिजली के बिलों में लगाए गए सरचार्ज को माफ करते हुए एक जनवरी से सरचार्ज माफी योजना लागू की गई। योजना में घरेलू और कॉमर्शियल श्रेणी के दो किलोवाट क्षमता तक के कंज्यूमर्स के बिल सही होने पर सरचार्ज में छूट का प्रावधान किया गया है। इसके लिए कंज्यूमर्स को बिजली विभाग के काउंटर पर जाकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना है। अगर बिल में गड़बड़ी होगी तो विभाग को 15 दिन के अंदर संशोधन करना होगा और संशोधित बिल की सूचना कंज्यूमर्स को एसएमएस, ई- मेल या अन्य माध्यम से दी जाएगी।

समय से करें जमा, मिलेगा फायदा

कंज्यूमर्स को यह संशोधित राशि एक मार्च तक एक मुश्त या फिर किश्तों में जमा करनी होगी। यदि कंज्यूमर द्वारा यह राशि समय पर जमा की जाती है तो उसके बिल से सरचार्ज की शत प्रतिशत राशि माफ कर दी जाएगी। यदि कंज्यूमर समय से बिल जमा नहीं करता है तो ऐसी स्थिति में सरचार्ज सहित पूर्ण विद्युत बकाया बना रहेगा और जमा की गई राशि में से दो हजार रुपए की राशि जब्त कर ली जाएगी। यह पूरी प्रक्रिया इस बार ऑनलाइन रहेगी, जिसके चलते भविष्य में त्रुटिपूर्ण बिल निर्गत नहीं किए जा सकें और कंज्यूमर समय से बिजली का बिल जमा कर सकें।

बॉक्स

वसूली बनी मुसिबत

19 दिन बीत जाने के बाद भी कंज्यूमर्स द्वारा योजना के रजिसट्रेशन में दिलचस्पी नहीं लेने के चलते विभाग के सामने उक्त योजना में विद्युत राजस्व की वसूली करना मुश्किल होता जा रहा है। इसके चलते बिजली निगम के अफसरों को इस योजना की धीमी प्रगति की वजह से आला अफसरों की नाराजगी भी झेलनी पड़ सकती है।

मीटर रीडर कंज्यूमर्स तक पहुंचाएंगे योजना

बिजली विभाग के अफसरों के साथ ही मीटर रीडरों को भी योजना की जानकारी कंज्यूमर्स तक पहुंचाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। बिलिंग कंपनी के सुपरवाइजर द्वारा योजना की जानकारी वाले पंपलेट दिए गए हैं जो मीटर रीडरों के माध्यम से रीडिंग के दौरान घर- घर तक पहुंचाए जाएंगे। बिजली विभाग द्वारा गोरखपुर महोत्सव में कैंप लगाकर कर्मचारियों के जरिए योजना की जानकारी उपभोक्ताओं तक पहुंचाने की जिम्मेदारी दी गई थी। योजना की जानकारी वाले पंपलेट दिए गए।

फैकट फिगर

शहर में बिजली कंज्यूमर्स - 1.70 लाख

बकाएदार कंज्यूमर्स - 32,210

बकाया धनराशि - 48 करोड़

सरचार्ज माफी योजना के तहत रजिस्ट्रेशन - 801

वर्जन

सरचार्ज माफी योजना के लिए बिजली निगम के अफसरों व कर्मचारियों को आवश्यक दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। योजना की जानकारी के लिए मीटर रीडरों के माध्यम से लोगों को सजग किया जा रहा है.

- एके सिंह, अधीक्षण अभियंता, शहर

सरचार्ज माफी योजना के लिए बिजली निगम की ओर से गोरखपुर महोत्सव में शिविर के माध्यम से लोगों को पंपलेट दिए गए और उन्हें योजना के बारे में जानकारी दी गई। एक जनवरी से रजिस्ट्रेशन जारी हैं। अधिक से अधिक कंज्यूमर्स एक मुश्त समाधान का लाभ उठा सकते हैं।

- एमके अग्रवाल, चीफ इंजीनियर, पावर कॉर्पोरेशन गोरखपुर

inextlive from Gorakhpur News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.