इंस्पेक्टर के हटते अरेस्ट हुए हत्यारोपी

2018-09-05T09:31:13+05:30

तिवारीपुर एरिया के सूरजकुंड पोखरा यादव टोला निवासी सुरेंद्र यादव के बेटे राजू की हत्या ताश खेलने के विवाद में हुई थी

- 11 अगस्त को सरेशाम राजू यादव को मारी थी गोली

- गोरखपुर से भागकर इलाहाबाद में छिपे थे दोनों बदमाश

Gorakhpur@inext.co.in
GORAKHPUR: तिवारीपुर एरिया के सूरजकुंड पोखरा, यादव टोला निवासी सुरेंद्र यादव के बेटे राजू की हत्या ताश खेलने के विवाद में हुई थी. उसकी हत्या करके बदमाश इलाहाबाद भाग गए थे. सोमवार को पुलिस ने घटना में शामिल दो बदमाशों को अरेस्ट करके हत्या में इस्तेमाल असलहा बरामद किया. पकड़े गए बदमाशों की पहचान माधोपुर मोहल्ला निवासी सतीष निषाद उर्फ नागा और अजीत यादव उर्फ झुनझुन यादव के रूप में हुई. एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि हत्या में शामिल रहे माधोपुर निवासी गणेश गौड़ और रविंद्र उर्फ मंटू निषाद की तलाश की जा रही है. गिरफ्तार बदमाशों पर 25-25 हजार रुपए का ईनाम घोषित था. बदमाशों के पकड़े जाने के बाद इस बात की चर्चा रही कि पूर्व थानेदार जानबूझकर गिरफ्तारी नहीं कर रहे थे.

भैंस हांकने गए युवक को मारी थी गोली
11 अगस्त की शाम राजू अपने एक दोस्त संग भैसों को हांकने गया था. तभी वहां दो बाइक सवार चार युवक पहुंचे. कुछ देर बातचीत करने के बाद उन लोगों ने राजू पर गोली दाग दी. राजू के परिजनों ने सतीश नागा, अजीत यादव उर्फ झुनझुन यादव, गणेश गौड़ और रविंद्र उर्फ मंटू निषाद के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया. हत्यारोपियों की गिरफ्तारी में तिवारीपुर के तत्कालीन इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार त्रिपाठी नाकाम रहे. दो दिन पहले ही एसएसपी ने इंस्पेक्टर को लाइन हाजिर कर दिया. इंस्पेक्टर के हटते ही पुलिस ने दो हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया. उनके पास से पिस्टल, दो कारतूस, एक तमंचा और एक बाइक बरामद हुई.

इलाहाबाद में ली था शरण
पकड़े गए बदमाशों ने पुलिस को बताया कि घटना के बाद वह लोग इलाहाबाद चले गए. इलाहाबाद में रहने वाले झिनकू राय उर्फ बिजेंद्र राय और रिंकू राय ने इनके छिपने में मदद की. फरारी के दौरान बदमाशों के रहने और भोजन का इंतजाम वही दोनों करते रहे. पुलिस का कहना है कि बदमाशों को शरण देने के आरोप में झिनकू और रिंकू के खिलाफ कार्रवाई होगी. अभियुक्तों की गिरफ्तारी में शामिल इंस्पेक्टर रामभवन यादव सहित अन्य सभी पुलिस कर्मचारियों को पुरस्कार देने की घोषणा एसएसपी ने की. बताया कि सतीश नागा के खिलाफ जानमाल की धमकी देकर छेड़छाड़ करने, घर में घुसकर लूटपाट करने का मामला पहले से दर्ज था. झुनझुन यादव भी मारपीट, जानमाल की धमकी देने और घर में घुसकर बवाल काटने के मामले में पहले भी पकड़ा जा चुका था.

यह एक सनसनीखेज घटना थी. अभियुक्तों की गिरफ्तारी करने वाली पुलिस टीम को पुरस्कृत किया जाएगा. फरार चल रहे दो अन्य बदमाशों को पुलिस टीम जल्द ही पकड़ लेगी.

- शलभ माथुर, एसएसपी


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.