शातिर बदमाश फरार मुसीबत में रिश्तेदार

2018-10-23T06:00:30+05:30

- ईनामियों की धर पकड़ में जुटी पुलिस टीम

- मोबाइल सर्विलांस ने बढ़ाया शक का दायरा

GORAKHPUR: जिले में शातिरों की फरारी उनके रिश्तेदारों के लिए मुसीबत बन गई है। पुलिस के जुल्म का सितम उनके नजदीकी रिश्तेदारों को भुगतनी पड़ रही है। शातिरों से संबंध के शक में रोजाना 10 से 15 लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ में जुटी है। पुलिस की कार्रवाई से शातिरों के रिश्तेदारों में हड़कंप मचा है। पुलिस के डर से लोग घर लौटने में हिचक रहे हैं। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि बदमाशों की तलाश में छापेमारी की जाती है। उनके करीबियों से पुलिस पूछताछ करती है। लेकिन किसी बेगुनाह को परेशान नहीं किया जाता है। ईनामी बदमाशों को शरण देने, उनकी मदद करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई होगी.

कैथवलिया कांड में 50 से अधिक से हुई पूछताछ

जिले में एक पखवारे के अंदर हुई ताबड़तोड़ वारदातों में छह नामजद सहित करीब 10 बदमाशों की तलाश चल रही है। पिपराइच, छोटी कैथवलिया में सैलून पर बदमाशों की गोली के शिकार हुए अनिकेत की हत्या के आरोप में चार नामजद सहित सात- आठ अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है। नामजद आरोपियों के खिलाफ एसएसपी शलभ माथुर ने 25- 25 हजार रुपए का ईनाम घोषित किया है। सरेआम हुई घटना में शामिल बदमाशों की तलाश में पुलिस टीमें सिद्दत से लगी हैं। इसलिए रोजाना कहीं न कहीं छापेमारी की जा रही है। पुलिस से जुड़े से लोगों का कहना है कि अभियुक्तों की तलाश में 50 से अधिक लोगों से पूछताछ की जा चुकी है। इनमें उनके नजदीकी रिश्तेदार भी शामिल हैं। लेकिन अभी तक उनका कोई सुराग नहीं मिला है। पूछताछ के लिए बुलाए लोगों पर पुलिस की नजर है। यदि उनकी कोई भूमिका मिली तो कार्रवाई की जाएगी.

मिथुन - धीरू की तलाश, हलकान हो रहे रिश्तेदार

14 अक्टूबर की आधी रात चौरीचौरा एरिया के सरदारनगर, रोतनिया में हिस्ट्रीशीटर मिथुन की तलाश में पुलिस टीम पहुंची थी। छापेमारी के दौरान बदमाशों ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया। दरोगा और सिपाहियों को घायल करके मिथुन, उसका मामा धीरू पासवान सहित अन्य फरार हो गए। हमले को चुनौती मानकर पुलिस टीम उनकी तलाश में जुटी है। मिथुन और धीरू के खिलाफ 50- 50 हजार रुपए का ईनाम घोषित किया गया है। उनकी तलाश में क्राइम ब्रांच के अलावा चौरीचौरा थानों की पुलिस लगी है। मिथुन और धीरू के खास सहयोगी खोराबार के चिरैया को पुलिस अरेस्ट कर चुकी है। जबकि, उसे शरण देने के आरोप में रामपुर चौराहा के जितेंद्र पासवान, डिभिया में रहने वाली मिथुन की चाची गिरजावती और उसके पड़ोसी गोविंद पासवान जेल भेजे जा चुके हैं। इन बदमाशों की तलाश में चौरीचौरा, खोराबार, चिलुआताल, गुलरिहा सहित कई जगहों से पुलिस 30 से अधिक लोगों से पूछताछ कर चुकी है। चिलुआताल एरिया से पुलिस ने ईट भट्ठे पर काम करने वाले मजदूर सहित 15 लोगों को उठाया था। बदमाशों की तलाश में पुलिस जहां हलकान हो रही। वहीं शातिरों के रिश्तेदारों की मुसीबत कम नहीं हो रही। लोगों का कहना है कि बिना किसी कसूर के पुलिस परेशान कर रही है।

इनकी तलाश में लगी पुलिस टीम

वांटेड ईनाम

राज कुमार उर्फ राजू प्रधान 25 हजार

जितेंद्र कुमार यादव 25 हजार

अरविंद यादव 25 हजार

श्रीभावगत यादव 25 हजार

मिथुन पासवान 50 हजार

धीरू पासवान 50 हजार

inextlive from Gorakhpur News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.