15 टॉप मोस्ट वांटेड की तलाश में पुलिस

2019-04-06T06:01:11+05:30

चुनाव में जेल भेजने के लिए तैयार हो रही कुंडली

नेताओं संग मंच साझा करने पर नहीं बख्शेगी पुलिस

GORAKHPUR:

लोकसभा चुनाव की करीब आती जा रही तारीखों को देखते हुए पुलिस महकमा तैयारी में जुटा हुआ है। गैंग बनाकर समाज में भय फैलाते हुए रुपए-पैसे कमाने वाले बदमाशों की कुंडली बनने लगी है। इलेक्शन के पहले टॉप मोस्ट 15 बदमाशों पर पुलिस का शिकंजा कस जाएगा। जेल से जमानत पर छूटकर नेताओं की शरण में चले गए बदमाशों की स्कैनिंग पुलिस की खुफिया टीम कर रही है। एसएसपी ने कहा कि सभी थानेदारों से ऐसे बदमाशों की लिस्ट मांगी गई जिनके खिलाफ पूर्व में सख्त कार्रवाई हुई है। लेकिन जमानत से छूटने के बाद वह दोबारा सक्रिय हो गए हैं। ऐसे बदमाशइलेक्शन में दहशत फैला सकते हैं। इसलिए उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।

तय किए गए मानक, समीक्षा के बाद बोलेंगे धावा

पिछले दो साल के भीतर पुलिस ने ताबड़तोड़ एक्शन लिया है। भूमाफियाओं से लेकर आपराधिक माफियाओं तक कार्रवाई हुई है। रुपए पैसे का लेनदेन करने, भूमि पर कब्जा कराने, रंगदारी मांगने, सरेआम गोली चलाने जैसे तमाम मामलों में बदमाशों पर पुलिस ने शिकंजा कसा था। गोरखनाथ एरिया में एक दबंग की प्रापर्टी भी पुलिस ने जब्त कर ली थी। पुलिस की कार्रवाई से कुछ लोगों ने शहर छोड़ दिया तो कुछ अंडरग्राउंड हो गए थे। लेकिन जमानत पर छूटने के बाद ऐसे शातिर दोबारा नजर आने लगे हैं। नए युवकों को अपने साथ जोड़कर सफेदपोश बने माफिया इलेक्शन में अपनी ताकत दिखाने की तैयारी में जुटे हैं। इसलिए ऐसे लोगों पर शिकंजा कसने का प्लान बना है। इन बदमाशों पर कार्रवाई के लिए रिकार्ड तलब करके पुलिस अधिकारी पहले समीक्षा करेंगे। फिर उनके खिलाफ दर्ज मामलों में गिरफ्तारी की जाएगी। इनमें चंदन सिंह गैंग से जुड़े कुछ बदमाशों के नाम शामिल है। जिले में अपराधिक माफियाओं के 86 गैंग रजिस्टर्ड हैं। इनसे सरगना सहित 387 बदमाश शामिल हैं। पुलिस रिकार्ड में 260 जमानत पर बाहर आ गए गए है। चुनाव में ऐसे बदमाश कोई भी गड़बड़ी कर सकते हैं। इसलिए पुलिस सबके पीछे पुलिस की टीम लगा दी गई है।

इस आधार पर पुलिस करेगी कार्रवाई

- कब, कितने मुकदमे दर्ज किए गए थे।

- किन मामलों में कार्रवाई हुई, किन मामलों में बच गए।

- जेल से कितने दिनों के बाद जमानत मिली, जमानत के बाद क्या स्थिति है।

- गैंग में कितने लोग शामिल है। उनकी वर्तमान स्थिति क्या है। वह क्या कर रहे हैं।

- परिवार, रिश्तेदार और अन्य वर्तमान में क्या कर रहे हैं। उनसे समाज पर क्या प्रभाव पड़ रहा।

- जेल से छूटकर बदमाश किससे जुड़े हैं। समाज में उनका क्या माहौल चल रहा है।

फैक्ट फाइल

माफिया गैंग सदस्य

आपराधिक माफिया 24 138

वन माफिया 05 21

ठेकेदार माफिया 03 21

खनन माफिया 01 01

भू माफिया 09 16

आबकारी माफिया 11 37

पासपोर्ट माफिया 01 03

लुटेरा गैंग 20 95

वाहन चोर 08 29

डकैती गैंग 01 11

चोर गैंग 03 15

इलेक्शन में बदमाशों की धर-पकड़ के निर्देश दिए गए हैं। जिले भर में टॉप 15 बदमाशों की लिस्ट तैयार की जा रही है। जेल से छूटकर गड़बड़ी फैलाने वालों की तलाश की जा रही है।

डॉ। सुनील गुप्ता, एसएसपी

inextlive from Gorakhpur News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.