ब्राइड ट्रैफिकिंग से निपटेगी पुलिस

2019-04-16T06:00:23+05:30

- जिले में पकड़े जा चुके हैं मामले, शिकार बनाता गैंग

- बिहार से लेकर गोरखपुर तक जालसाजों ने फैलाया जाल

GORAKHPUR: लगन का सीजन शुरू होते ही ब्राइड ट्रैफिकिंग का खतरा फिर बढ़ गया है। चोरी-छिपे शादियों के बहाने किशोरियों और युवतियों की सौदेबाजी पर पुलिस का शिकंजा कसेगा। हरियाणा के दूल्हों की शादी कराने वाले गैंग की तलाश गोरखपुर सहित आसपास के जिलों में होगी। झूठी शादी के बहाने अकेली, गरीब या हालात से मजबूर लड़कियों की सौदेबाजी के मामले पहले भी सामने आ चुके हैं। कुशीनगर, चौरीचौरा और पिपराइच में एक्टिव गैंग कमीशन के चक्कर में लड़कियों को शिकार बनाता है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पूर्व में प्रकाश में आई घटनाओं का संज्ञान लेकर कार्रवाई की जाएगी। ब्राइड ट्रैफिकिंग रोकने के लिए पुलिस अलर्ट मोड में रहेगी।

युवती के भागने पर सामने आया था मामला, नहीं होती जांच

वर्ष 2018 के फरवरी माह में कुशीनगर की एक युवती की शादी बुढि़या माई मंदिर में कराई गई। युवती को हरियाणा के युवक के हाथों बेचकर बुढि़या माई मंदिर में शादी कराई गई थी। शादी कराने वाले गिरोह की महिलाएं एक युवती को बहला- फुसलाकर बुढि़या माई मंदिर ले आई। उसे कोई नशीली चीज सुंघाकर उसकी शादी करा दी। हरियाणा ले जाते समय युवती होश में आई तो उसे बताया गया कि उसकी शादी हो चुकी है। पहले पति से तलाक का मुकदमा लड़ रही युवती शादी की बात सुनकर परेशान हो गई। सोनबरसा बाजार में नेचुरल कॉल के बहाने कार से उतरकर वह भाग गई। पब्लिक ने शादी करने वाले हरियाणा के दूल्हे सहित अन्य लोगों को पकड़ लिया। पुलिस की जांच में सामने आया कि फर्जी मां- बाप और रिश्तेदार बनकर गैंग ने युवती की शादी करा दी। इसके बदले में दूल्हा पक्ष से लाखों रुपए की रकम ली गई थी। हालांकि बाद में जांच के नाम पर पुलिस ने सिर्फ खानापूर्ती करके फाइल बंद कर दी।

रिश्तेदार बन करते सौदेबाजी, मिलता कमीशन

हरियाणा के युवकों से शादी करने के बहाने गोरखपुर, कुशीनगर और देवरिया की युवतियों की सौदेबाजी का खेल कई साल से चल रहा है। शिकायत होने पर पुलिस मामले को गंभीरता से नहीं लेती। पकड़े जाने के बावजूद इस रैकेट से जुड़े लोग पुलिस को झांसा देकर थानों और चौकियों से छूट जाते हैं। पुलिस से जुड़े लोगों का कहना है कि चौरीचौरा, झंगहा के साथ-साथ इस गैंग का नेटवर्क कुशीनगर और देवरिया में जड़ जमा चुका है। दो साल पूर्व रेलवे स्टेशन के एक होटल में युवती को बेचने की सूचना पर पुलिस ने छापेमारी की। तब हरियाणा निवासी तीन युवकों को पुलिस ने पकड़ लिया। पुराना पार्सल घर के सामने एक होटल में ठहरे लोगों के साथ युवती भी थी। रेलवे कॉलोनी पुलिस चौकी पर सबसे पूछताछ हुई। राजेंद्र नगर मोहल्ले के कुछ लोगों ने मामला मैनेज करा दिया। इसके पूर्व झंगहा और चौरीचौरा में दो मामलों में पुलिस ने समझौता कराया था।

तलाश करता रैकेट, फिर गुपचुप कराते शादी

पुलिस की जांच में पता लगा है कि शादी के बहाने युवतियों की सौदेबाजी करने वाला गैंग घूम-घूमकर शिकार तलाशता है। मां-बाप को बेटी के अच्छे घर में जाने का लालच देकर रैकेट के मेंबर हरियाणा और अन्य जगह के युवकों से शादी कराने का झांसा देते हैं। इसके बदले में कुछ रकम युवती के परिजनों को दी जाती है। सौदा पटने पर शादी के लिए दुल्हन दिखाई जाती है। सब कुछ ठीक-ठाक होने पर हरियाणा के युवक अपने संग दो- तीन लोगों को लेकर गोरखपुर पहुंचते हैं। उनके ठहरने और खाने का इंतजाम शादी कराने वालों के जिम्मे होता है। स्टेशन रोड के होटल के सामने सस्ते होटल में पहले से कमरा भी बुक करा दिया जाता है। हरियाणा से आने वाले मेहमानों को ऐसी जगह ठहराया जाता है। जहां पर पुलिस की नजर न पडे।

इस तरह से संचालित होता है गैंग

- गोरखपुर, देवरिया और कुशीनगर में शादी कराने वाला गैंग सक्रिय है।

- गैंग में चार महिलाओं सहित कम से 10 सदस्य शामिल हैं जो अलग- अलग जिम्मेदारी उठाते हैं।

- गैंग के लोग हरियाणा में जाकर शादी के लिए दूल्हे की तलाश करके उसे युवतियों की फोटो दिखाते हैं।

- लड़की पंसद किए जाने पर शादी की बात आगे बढ़ाते हुए अपने हिस्सेदारी का सौदा तय करते हैं।

- गैंग के दूसरे सदस्य दुल्हन को झांसा देकर किसी तरह से शादी का प्लान गढ़ते हैं।

- दूल्हे के आने पर दुल्हन को तैयार करके आपस में नात-रिश्तेदार बनकर गैंग शादी करा देता है।

कई बार सामने आ चुके हैं मामले,

फरवरी 2018: शादी कराकर हरियाणा ले जाई जा रही युवती सोनबरसा में फोरलेन पर उल्टी करने के बहाने वाहन से कूदकर भागी। पब्लिक की सूचना पर खोराबार पुलिस ने जालसाजों को पकड़ा।

वर्ष 2017: चौरीचौरा थाना में दो महिलाओं सहित सात के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई। आरोप है कि शादी कराकर युवती को जबरन हरियाणा भेजा जा रहा था।

6 फरवरी 2016: खोराबार एरिया के बुढि़या माई मंदिर में हरियाणा के युवक की शादी कराई गई। कुशीनगर की युवती को झांसा देकर गैंग ने बेच दिया था। युवती के शोर मचाने पर मामले का पर्दाफाश हुआ।

16 अगस्त 2016: हरियाणा के युवक की गोरखनाथ मंदिर में शादी कराई गई। होटल में युवती के बेचने की सूचना पुलिस ने पकड़ा। लेकिन बिना किसी जांच पड़ताल के आरोपी छूट गए थे।

8 जुलाई 2015: हाटा, परसौनी निवासी तीन महिलाओं सहित छह लोगों को पुलिस ने अरेस्ट किया। पकड़े गए लोगों ने एक किशोरी को बहला-फुसलाकर हरियाणा में बेच दिया था। इसके बदले में 50 हजार रुपए लिया था। छह माह बाद किसी तरह से भागकर किशोरी घर पहुंची तो उसने सारा भेद खोला।

25 जुलाई 2015: झंगहा एरिया के जंगल गौरी नंबर दो उर्फ अमहिया की एक युवती ने शादी के नाम पर बेचने का आरोप लगाया था। 21 जुलाई को हरियाणा से आए लोगों की मौजूदगी में तरकुलहा मंदिर में उसकी सगाई कराई गई। युवती को हरियाणा भेजने के नाम पर एक महिला ने 20 हजार रुपए लिए थे।

यहां बेची जाती हैं लड़कियां

हरियाणा, राजस्थान, पश्चिमी यूपी, दिल्ली और पंजाब

वर्जन

पूर्व में ऐसे मामले सामने आ चुके हैं। इसको देखते हुए महराजगंज, कुशीनगर, देवरिया और गोरखपुर जिले की पुलिस को अलर्ट किया गया है। पलिस इस पर नजर बनाए हुए हैं। अगर कहीं से कोई सूचना आती है तो मुकदमा दर्ज करके इस रैकेट से जुड़े लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

- जय नारायण सिंह, आईजी गोरखपुर रेंज

inextlive from Gorakhpur News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.