सुशासन के कार्यक्रम पर एक घंटे से ज्यादा अभिभाषण

2015-03-12T07:00:29+05:30

- बजट सत्र की शुरुआत में राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी ने दिया अभिभाषण

PATNA: बजट सत्र के शुरू में ही गवर्नर केशरी नाथ त्रिपाठी ने बिहार विधान मंडल के संयुक्त अधिवेशन को संबोधित किया। लगभग एक घंटे 8 मिनट उन्होंने अभिभाषण पढ़ा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने सुशासन, पारदर्शिता और न्याय के साथ विकास का मूल मंत्र अपनाते हुए समावेशी विकास की नींव रखी है।

आपकी सरकार, आपके द्वार

बिहार में न्यायालयों ने 9फ् हजार से ज्यादा अपराधियों को सजा सुनायी है। आतंकवादी गतिविधियों पर नियंत्रण के लिए आतंकवाद निरोधी दस्ता का गठन किया गया है। सूबे के उग्रवाद प्रभावित ख्फ् जिलों में आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं।

बिहार स्वाभिमान बटालियन

पुलिस बल में महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित करने के दृष्टिकोण से बिहार जिला पुलिस एवं बिहार सैन्य पुलिस बहाली में पिछड़े वर्ग की महिलाओं के लिए आरक्षित किए गए हैं। एससी-एसटी की महिलाओं के लिए एक अलग बिहार स्वाभिमान बटालियन की स्वीकृति राज्य सरकार द्वारा दी गई है।

पेंशन जब्त करने की कार्रवाई

निगरानी मामलों में अनुशासनिक प्राधिकारों द्वारा सख्त कार्रवाई की जा रही है। जिसके तहत विभिन्न संवर्गो के कुल 80फ् पदाधिकारियों / कर्मियों के विरूद्ध विभागीय कार्रवाई संचालित है। विभिन्न संवर्गो के कुल ब्क्क् कर्मियों को बर्खास्त किया गया है एवं 88 ऐसे कर्मी हैं जिनकी सेवानिवृति के उपरांत पेंशन जब्त करने की कार्रवाई की गई है। बिहार लोक सेवाओं का अधिकार अधिनियम ख्0क्क् के अंतर्गत सभी अधिसूचित सेवाओं में फ्क् जनवरी ख्0क्भ् तक प्राप्त कुल 9 करोड़ फ्फ् लाख आवेदनों में से 9 करोड़ ख्ब् लाख आवेदन निष्पादित किए गए।

भ्क्फ् विद्यालय साल के अंत तक

सर्व शिक्षा अभियान के तहत अब तक कुल ख्क् हजार ब्क्9 प्राथमिक विद्यालयों के लक्ष्य के विरुद्ध ख्0 हजार 90म् प्राथमिक विद्यालय खोले जा चुके हैं जिसमें से म्भ् नए प्राथमिक विद्यालय वित्तीय वर्ष ख्0क्ब्-क्भ् में खोले गए हैं और शेष भ्क्फ् विद्यालयों को वर्ष के अंत तक खोल देने का लक्ष्य है। सूबे के विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के रिक्त पदों पर सभी विश्वविद्यालयों की स्थापना को कई प्रस्ताव प्राप्त हुए जिन के विचारण हेतु जांच समिति गठित की जा चुकी है। पटना जिले में बिहटा में अमेटी विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए आशय पत्र भी जारी किया जा चुका है।

मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना

अब ख्भ्0 की आबादी वाले सभी ग्रामीण बसावटों को बरहमासी सड़क से जोड़ा जा रहा है। मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत इस वित्तीय वर्ष में दिसंबर ख्0क्ब् तक एक हजार ख्भ्7 किलोमीटर कालीकरण कार्य किया जा रहा है।

ख्ख्-ख्ब् घंटे बिजली

राज्य में बिजली की उपलब्धता में गुणात्मक सुधार हुआ है। पिछले वर्ष जनवरी, ख्0क्ब् में राज्य भर में पीक लोड पर लगभग ख् हजार से ख् हजार ख्00 मेगावाट की आपूर्ति होती थी जो अक्टूबर ख्0क्ब् में बढ़कर ख् हजार 8फ्क् मेगावाट हो गई है। सभी जिला मुख्यालयों में औसतन ख्ख्-ख्ब् घंटे और ग्रामीण क्षेत्रों में औसतन क्ब् घंटे विद्युत आपूर्ति की जा रही है।

बड़ी कटौती की गई है

बिहार पुनर्गठन अधिनियम ख्000 में यह प्रावधान है कि विभाजन के फलस्वरूप बिहार को होनेवाली वित्तीय कठिनाइयों के संदर्भ में एक विशेष कोषांग उपाध्यक्ष, योजना आयोग के सीधे नियंत्रण में गठित होगा जो बिहार की जरूरतों के अनुरूप विशेष अनुशंसाएं करेगा। इस प्रावधान के तहत राज्य को कुछ विशेष सहायता पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि के तहत दी जा रही थी। पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि में वर्तमान वित्तीय वर्ष में बड़ी कटौती कर दी गई है।

inextlive from Patna News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.