पहले किया है आवेदन तो दोबारा नहीं देना होगा शुल्क

2019-03-28T09:00:30+05:30

उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग ने प्राचार्य के 290 पदों के लिए मांगा ऑनलाइन आवेदन

-जनरल व ओबीसी 03 हजार तथा एससी एवं एसटी अभ्यर्थी 02 हजार रुपए में भरेंगे फॉर्म

prayagraj@inext.co.in
PRAYAGRAJ: उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग ने विज्ञापन संख्या 48 में विज्ञापित स्नातक एवं स्नातकोत्तर महाविद्यालयों में प्राचार्य के 284 पदों पर भर्ती का विज्ञापन निरस्त कर दिया है। इसमें शिक्षा निदेशालय से प्राप्त 06 नए पदों को शामिल करते हुए विज्ञापन संख्या 49 के तहत कुल 290 पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन मांगे गए हैं। आयोग के पोर्टल से ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 16 अप्रैल है। जबकि एपीआई प्रोफार्मा आयोग कार्यालय में प्राप्ति की अंतिम तिथि 17 मई है।

62 वर्ष तक वाले भर सकेंगे फार्म
इसमें उत्तर प्रदेश के स्नातकोत्तर महाविद्यालय पुरुष शाखा के 172 पद, स्नातकोत्तर महाविद्यालय महिला शाखा के 36 पद, स्नातक महाविद्यालय पुरुष शाखा के 64 पद तथा स्नातक महाविद्यालय महिला शाखा के 18 पद शामिल हैं। ऐसे इच्छुक अभ्यर्थी जिनकी आयु 01 जुलाई 2019 को 62 वर्ष से अधिक नहीं है। वे ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। डाक व अन्य किसी माध्यम से आवेदन मान्य नहीं होंगे। आवेदन का शुल्क सामान्य एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 3000 रुपए तथा अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लिए 2000 रुपए निर्धारित है।

मंगल फांट में भरें एपीआई
यह भी कहा गया है कि विज्ञापन संख्या 48 में जिन्होंने आवेदन जमा किया है। उन्हें पुन: आवेदन शुल्क जमा नहीं करना होगा। इनके द्वारा रजिस्ट्रेशन नम्बर और ट्रांजेक्शन आईडी सबमिट करने पर पूर्व में भरा गया पृष्ठ खुल जाएगा। इसमें किसी प्रकार का परिवर्तन संभव नहीं होगा, शेष आवेदन अभ्यर्थी द्वारा पुन: पूर्ण करना होगा। प्राचार्य पद पर चयन लिखित परीक्षा और साक्षात्कार के जरिए होगा। कहा गया है कि ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन तथा आवेदन अंग्रेजी में भरना होगा तथा एपीआई प्रोफार्मा हिन्दी अथवा अंग्रेजी में भरा जा सकता है। हिन्दी में प्रोफार्मा भरने के लिए यूनीकोड फांट मंगल का ही प्रयोग मान्य होगा।

इन बातों का रखना होगा ध्यान

-आवेदन आयोग की वेबसाइट www.uphesc.org से किया जा सकता है।

-एकेडमिक परफॉर्मेस इंडिकेटर प्रोफार्मा को ऑनलाइन न भरने अथवा ऑनलाइन भरे हुए प्रोफार्मा के प्रिंट को आयोग कार्यालय में जमा न करने पर आवेदन अपूर्ण माना जाएगा।

-महिला अभ्यर्थी के मामले में पिता पक्ष से निर्गत जाति एवं निवास प्रमाण पत्र ही मान्य होगा।

-पुरुष अभ्यर्थी स्नातकोत्तर महिला अथवा स्नातक महिला महाविद्यालय में प्राचार्य पद हेतु अर्ह नहीं होंगे।

-महिला अभ्यर्थी पुरुष एवं महिला चारों प्रकार के महाविद्यालय में प्राचार्य पद हेतु अर्ह होंगी।

-परीक्षा, साक्षात्कार एवं नियुक्ति में किसी भी प्रकार की सिफारिश अयोग्यता मानी जाएगी।

-रिक्तियों की संख्या घट एवं बढ़ सकती है।

-एससी, एसटी, ओबीसी, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के आश्रितों व शारीरिक विकलांग जो यूपी के मूल निवासी हैं। उन्हें आरक्षण का लाभ अनुमन्य नहीं होगा। ऐसे अभ्यर्थी सामान्य श्रेणी के माने जाएंगे।

ये हैं हेल्पलाइन

9454053283 या uphesc2019@gmail.com

शुल्क जमा करने का तरीका

-क्रेडिट कार्ड द्वारा

-डेबिट कार्ड द्वारा

-पीएनबी की नेट बैंकिंग से

-अन्य बैंकों की नेट बैंकिंग से

-ई-चालान द्वारा


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.