95 चौराहे होंगे हाईटेक कैमरों से लैस

2019-04-09T06:01:09+05:30

- स्मार्ट सिटी की बैठक में कई बिंदुओं पर हुई चर्चा

- आईटीएमएस पर रहा फोकस, भोपाल भी जाएगी टीम

LUCKNOW: बस तीन माह का इंतजार, फिर शहर के सात दर्जन से अधिक चौराहे हाईटेक ट्रैफिक सिस्टम से लैस नजर आएंगे। खास बात यह है कि यहां से गुजरते वक्त ट्रैफिक तो स्मूथ रहेगा ही साथ में ट्रैफिक रूल्स तोड़ने वालों पर भी आसानी से शिकंजा कसा जा सकेगा। सोमवार को एडीजी लखनऊ जोन राजीव कृष्णा की अध्यक्षता में हुई बैठक में निर्णय लिया गया कि शहर के ट्रैफिक को स्मार्ट बनाने के लिए हर बिंदु पर खासा होमवर्क किया जाएगा, जिससे जनता को ट्रैफिक जाम की समस्या से राहत ि1मल सके।

लगाए जाएंगे सेंसरयुक्त कैमरे

स्मार्ट सिटी में पहले से ही प्रमुख चौराहों पर हाईटेक सेंसर युक्त कैमरे लगाए जाने की प्लानिंग है। फिलवक्त राजधानी के दो चौराहे इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान चौराहा व हजरतगंज चौराहा पर पायलट प्रोजेक्ट के तहत कैमरे लगा दिये गए हैं। सूत्रों के मुताबिक, बैठक में बाकी बचे 93 चौराहों पर अगले तीन महीनों में हाईटेक कैमरों से लैस करने का निर्णय लिया गया है। गौरतलब है कि जिन चौराहों पर रिलायंस जियो के टावर लगे हैं, उनमें कंपनी की ओर से सीसीटीवी कैमरे लगाकर उसकी फीड एमसीआर को देने का एग्रीमेंट किया गया था। बैठक में तलब किये गए रिलायंस जियो के अधिकारियों को निर्देश दिया गया कि जिन टावरों पर अब तक कैमरे नहीं लग सके हैं, उनमें एग्रीमेंट के मुताबिक कैमरे लगाए जाएं और उनकी फीड को एमसीआर को दिया जाए। बाद में इस फीड को लालबाग में निर्माणाधीन कमांड एंड कंट्रोल सेंटर में दिया जाएगा।

डाटा कलेक्शन पर फोकस

बैठक में ट्रैफिक सिस्टम और व्हीकल डाटा बेस अपडेट और कलेक्ट करने पर खासा फोकस किया गया। बैठक में शामिल हुए अधिकारियों ने डाटा बेस तैयार करने के लिए अपने-अपने स्तर से सुझाव भी दिए।

कंट्रोल रूम में बैठे-बैठे होगा चालान

स्मार्ट सिटी के अंतर्गत लालबाग में कमांड एंड कंट्रोल सिस्टम बनाया जा रहा है। यही से ही स्मार्ट ट्रैफिक पर नजर रखी जाएगी। इसी कंट्रोल रूम से हर एक व्हीकल पर खास नजर रखी जा सकेगी। इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि अगर कोई वाहन चालक ट्रैफिक रूल्स को शूट आउट करता है तो उसका आसानी से चालान किया जा सकेगा। इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम की खास बात यह भी है कि अगर किसी वाहन चालक का चालान होता है तो उसके घर सीधे ही चालान भेजा जाएगा। इसके साथ ही ऑनलाइन चालान भरने की भी व्यवस्था दिए जाने की तैयारी है।

भोपाल जाएगी टीम

बैठक में शामिल नगर आयुक्त डॉ। इंद्रमणि त्रिपाठी ने बताया कि ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम की बारीकियों को समझने के लिए स्मार्ट सिटी की एक टीम तीन दिन में भोपाल जाएगी। इस टीम में ट्रैफिक व पुलिस विभाग के भी लोग शामिल होंगे।

inextlive from Lucknow News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.