आईएएस बनना चाहते हैं हितेश कुमार महतो

2014-04-30T07:02:24+05:30

RANCHI : मैं अपनी सफलता का श्रेय अपनी मम्मी और टीचर्स को देना चाहता हूं। उनके सहयोग से ही मुझे यह कामयाबी मिली है। यह कहना है जैक के बोर्ड एग्जाम में रांची के टॉपर हितेश कुमार महतो का। पीबीएसवी मंदिर प्रधान स्कूल, बुंडू के स्टूडेंट हितेश ने आई नेक्स्ट के साथ अपने सक्सेस को शेयर करते हुए कहा कि वे आईएएस बनकर देश की सेवा करना चाहते हैं। मम्मी- पापा का भी यही सपना है।

पढ़ाई को बोझ नहीं समझे

हितेश कहते हैं कि पढ़ाई और एग्जाम को कभी बोझ नहीं समझना चाहिए। रेगुलर स्टडी और सभी सब्जेक्ट पर फोकस करना जरूरी है। अगर किसी टॉपिक पर कंफ्यूजन है तो टीचर्स से जरूर सलाह लें। हितेश ने बताया कि वे अपने फैमली मेंबर्स से भी पढ़ाई पर जरूर डिस्कशन करते थे। इतना ही नहीं टाइम पर पूरे कोर्स को कंप्लीट कर एग्जाम के वक्त ज्यादा से ज्यादा टॉपिक्स का रिवीजन किया। इसी का नतीजा है कि आज रांची डिस्ट्रिक्ट का टॉपर बना हूं.

घरवालों का मिला सहयोग

हितेश ने बताया कि उनके पिता विराम महतो हाईस्कूल में टीचर हैं, जबकि मां हाउस वाइफ। घर में तीन बड़ी बहनें हैं। इन सभी ने पढ़ाई में मुझे पूरा सहयोग किया। अब विशाखापटनम से आगे की पढ़ाई करूंगा। हितेश कहते हैं कि अगर सक्सेस चाहिए तो प्रेशर में पढ़ाई कभी नहीं करें। एग्जाम को लेकर टेंशन नहीं लें। रेगुलर स्टडी करें। पढ़ाई के लिए रूटीन बना लें। सालभर की पढ़ाई से बेहतर नतीजे सामने आएंगे.

inextlive from Ranchi News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.