होली पर यूपी के 20 अति संवेदनशील जिलों पर खास नजर

2019-03-19T10:21:08+05:30

पीएम नरेंद्र मोदी के क्षेत्र वाराणसी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के क्षेत्र गोरखपुर के अलावा लखनऊकानपुर समेत कुल 20 जिले अतिसंवेदनशील की श्रेणी में शामिल हैं।

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: लोकसभा चुनाव का नामांकन शुरू होने के साथ ही होली के त्योहार में इस बार सुरक्षा-व्यवस्था की चुनौती बड़ी है। पीएम नरेंद्र मोदी के क्षेत्र वाराणसी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के क्षेत्र गोरखपुर के अलावा लखनऊ-कानपुर समेत कुल 20 जिले अतिसंवेदनशील की श्रेणी में शामिल हैं। इसके अलावा 34 जिलों को संवेदनशील की श्रेणी में चिह्नित किया गया है। होली के मौके पर यहां अतिरिक्त सतर्कता बरते जाने का निर्देश दिया गया है। चुनाव के दृष्टिगत अराजकतत्वों द्वारा माहौल बिगाडऩे की साजिश की आशंका भी जताई गई है। डीजीपी मुख्यालय ने अतिरिक्त अद्र्धसैनिक बल, पीएसी व पुलिस की तैनाती किये जाने के साथ ही सुरक्षा-व्यवस्था के कड़े निर्देश दिये हैं। होली का त्योहार सकुशल संपन्न कराने के लिए जिलों में पूर्व से तैनात पुलिस व पीएसी के अलावा 35 कंपनी पीएसी, 124 कंपनी केंद्रीय सुरक्षा बल, प्रशिक्षणाधीन 1689 उपनिरीक्षक व 967 सिपाही अतिरिक्त उपलब्ध कराये गये हैं।

अतिसंवेदनशील जिले

आगरा, अलीगढ़, प्रयागराज, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, बहराइच, बलरामपुर, बरेली, बुलंदशहर, अयोध्या, गोंडा, गोरखपुर, कानपुर नगर, लखनऊ, मऊ, मेरठ, मुरादाबाद, श्रावस्ती, वाराणसी व संभल।
संवेदनशील जिले
गाजियाबाद, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, बिजनौर, रामपुर, अमरोहा, बदांयू पीलीभीत, मथुरा, हाथरस, फीरोजाबाद, एटा, मैनपुरी, कासगंज, रायबरेली, सुलतानपुर, अमेठी, सीतापुर, हरदोई, लखीमपुर खीरी, बाराबंकी, देवरिया, कुशीनगर, महाराजगंज, बस्ती, संतकबीरनगर, सिद्धार्थनगर, जौनपुर, गाजीपुर, भदोही, कौशाम्बी, प्रतापगढ़, हापुड़ व शामली।

होली में सफर होगा आसान, दिल्ली समेत इन शहरों के लिए चलेंगी ये स्पेशल ट्रेन

राधा-कृष्ण की जोड़ी: 'मैं' से 'हम' बनने की चाहत


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.