न्युवोको के ठेकाकर्मी की मौत हंगामे के बाद समझौता

2019-06-14T06:00:34+05:30

जमशेदपुर : न्युवोको विस्टास कॉर्प जोजोबेड़ा सीमेंट प्लांट के ठेका कर्मी धनंजय सिंह (41) की मौत बुधवार की रात ड्यूटी से घर जाने के क्रम में हो गई। जोजोबेड़ा निवासी धनंजय सिंह न्युवोको के अंदर फ्रीगेट प्राइवेट कंपनी में हेल्पर केतौर पर कार्यरत थे। वे बीते बुधवार को बी पाली में ड्यूटी करने के बाद घर वापस जा रहे थे। अचानक टाटा मोटर्स साउथ गेट के पास गश खाकर गिर पड़े फिर उनके साथियों ने उन्हें टाटा मोटर्स अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। फिर उसका शव शीतगृह में रखा गया। गुरुवार को सुबह अस्पताल में मृतक के परिजनों व विभिन्न राजीतिक दलों के नेताओं की भीड़ जुट गई तथा वहां बवाल होने लगा। कंपनी प्रतिनिधियों के साथ धक्का-मुक्की भी हुई। इधर, न्युवोको प्रबंधन की ओर से ठेका कर्मी की मौत पर शोक जताया गया है। कहा गया है कि ड्यूटी से घर जाने के क्रम में उसकी तबीयत बिगड़ गई। फिर उन्हें प्रबंधन के सहयोग से अस्पताल पहुंचाया गया। मृतक ठेका कर्मी के आश्रित को उचित मुआवजा दिलाने का दबाव बनाया गया। प्रबंधन ठेका कर्मियों के रख-रखाव पर पूरा ध्यान रखता है।

हंगामे के बाद झुका प्रबंधन

मृतक के आश्रित को मुआवजे दिलाने को लेकर कंपनी का गेट जाम के बीच हो हंगामा भी हुआ। गुरुवार को टाटा मोटर्स अस्पताल में प्रदर्शन व कंपनी गेट पर हंगामे के बाद प्रबंधन को झुकना पड़ा। फिर प्रबंधन ने मृतक के आश्रित को सात लाख रुपये देने पर समझौता किया। कंपनी के संवेदक फ्रीगेट प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंधन ने मृतक की पत्नी को अपने यहां स्थायी नौकरी देने की भी बात स्वीकारी।

गुरुवार को सुबह यूथ इंटक के राष्ट्रीय सचिव राजीव पांडेय के नेतृत्व में आंदोलन की शुरुआत हुई, कंपनी गेट पर घंटो हंगामा हुआ फिर उसे जाम भी किया गया। कंपनी गेट पर फ्रीगेट के एक अधिकारी के साथ धक्का-मुक्की भी हुई। आंदोलन का समर्थन कांग्रेस के जिला महासचिव चंदन पांडेय, झारखंड वर्कर्स यूनियन के नेता ओम प्रकाश सिंह, सीमेंट कामगार यूनियन के अंबुज ठाकुर, कांग्रेस नेता सौरव झा, जेवीएम के भूषण दीक्षित, झामुमो के रामदास सोरेन, जगता सोरेन आदि ने किया। इन नेताओं की उपस्थिति में सहमति पत्र तैयार हुआ : फ्रीगेट प्रबंधन के मनीष कुमार बक्शी ने उप मुख्य कारखाना निरीक्षक को पत्र लिखकर समझौते की जानकारी दी है। समझौते में गवाह के तौर पर उक्त राजनीतिक दलों के नेताओं का हस्ताक्षर भी हुआ है।

यह हुआ समझौता

1. मृतक की पत्नी वीणा देवी को पांच लाख चेक दिया गया।

2. एक लाख का चेक दो माह बाद भुगतान किया जाएगा।

3. मृतक के अंतिम संस्कार के लिए नकद एक लाख दिए गए।

4. मृतक की पत्नी को उनकी स्वेच्छानुसार प्रतिष्ठान में नौकरी मिलेगी।

inextlive from Jamshedpur News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.