ICC World Cup 2019 जख्मी पैर के साथ वर्ल्ड कप खेलने उतरा था ये भारतीय गेंदबाज चटकाए 6 विकेट

2019-05-22T10:03:35+05:30

आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 की शुरुआत 30 मई से इंग्लैंड में हो रही है। ये वर्ल्ड कप का 12वां एडीशन है। 2003 में आठवां वर्ल्ड कप खेला गया था जिसमें भारतीय तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने इतिहास रच दिया था।

कानपुर। आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 को शुरु होने में बस 10 दिन बचे हैं। 30 मई से इंग्लैंड बनाम साउथ अफ्रीका मैच के साथ टूर्नामेंट का आगाज हो जाएगा। इस सीजन कितने नए रिकाॅर्ड बनेंगे और टूटेंगे, यह तो वक्त बताएगा। मगर 2003 विश्व कप में भारतीय तेज गेंदबाज आशीष नेहरा द्वारा बनाया गया बेस्ट बाॅलिंग फिगर का रिकाॅर्ड कोई इंडियन नहीं तोड़ पाया।
जब जख्मी पैर से खेला वर्ल्‍ड कप

2003 विश्व कप का आयोजन साउथ अफ्रीका, जिंबाब्वे और केन्या ने मिलकर किया था। इस टूर्नामेंट में 14 टीमों ने हिस्सा लिया। फाइनल मुकाबला भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया जिसमें भारत को 125 रन से हार मिली। मगर इंडिया को फाइनल तक पहुंचाने में उस वक्त युवा तेज गेंदबाज आशीष नेहरा का अहम योगदान रहा। यह मैच आशीष नेहरा को ताउम्र याद रहेगा। मैच से ठीक पहले उनके पैर में चोट लग गई थी, नेहरा का पैर काफी सूज गया था। सभी को लगा कि नेहरा इंग्‍लैंड के खिलाफ नहीं खेल पाएंगे लेकिन इस गेंदबाज का जुनून देखिए जख्मी पैर के साथ मैदान में उतरा और इतिहास रच दिया। उस मैच में नेहरा ने 23 रन देकर 6 विकेट चटकाए थे यह उनके करियर का सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन है। यही नहीं वर्ल्ड कप में किसी भारतीय गेंदबाज का अभी तक बेस्ट स्पेल है।
साल 1999 में खेला पहला इंटरनेशनल मैच
आशीष नेहरा ने साल 1999 में श्रीलंका के खिलाफ टेस्‍ट डेब्‍यू किया था। यह उनके करियर का पहला इंटरनेशनल मैच था। उस वक्‍त नेहरा की उम्र 20 साल थी। मोहम्‍मद अजहरुद्दीन की कप्‍तानी में नेहरा का पहली बार खेलना का मौका मिला था, तब किसी ने नहीं सोचा था कि पतला-दुबला यह लड़का इतने साल क्रिकेट खेल लेगा।
2001 में मिला वनडे में मौका
24 जून 2001 को जिंबाब्‍वे के खिलाफ आशीष नेहरा ने करियर का पहला वनडे मैच खेला। इस मैच में नेहरा ने 2 विकेट लेकर सेलेक्‍टर्स को जाहिर करवा दिया था कि वो लंबी रेस के घोड़े हैं। इसके बाद उन्‍हें कई मैचों में खेलने का मौका मिला, और उनका प्रदर्शन लगातार बेहतर से और बेहतर होता गया।
12 बार हो चुका है ऑपरेशन
आशीष नेहरा के साथ एक बड़ी समस्‍या थी कि उनके पैर में चोट बहुत लगती थी। 18 साल के लंबे करियर में उनका 12 बार ऑपरेशन हो चुका है कभी एंकल तो कभी नी, नेहरा हर सर्जरी के बाद उसी जोश व उत्‍साह के साथ टीम में वापसी करते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि नेहरा ने अपना आखिरी टेस्‍ट मैच साल 2004 में खेला था। लेकिन वह वनडे व टी-20 टीम में शामिल रहे।
8 साल पहले खेला आखिरी वनडे
नेहरा ने साल 2011 में अपना आखिरी वनडे खेला था, उस वक्‍त सभी को लगा कि शायद नेहरा की उम्र ढल चुकी है और एक तेज गेंदबाज के लिए फिटनेस काफी मायने रखता है। इसलिए सेलेक्‍टर्स ने उन्‍हें 50-50 ओवर्स के खेल में शामिल नहीं किया।
ICC World Cup 2019 : 1996 वर्ल्डकप में इंडिया को हारता देख फैंस ने कुर्सियों में लगा दी थी आग
ICC World Cup 2019 : भारतीय बल्लेबाजों की कमर तोड़ने वाला ये पाक गेंदबाज खेलेगा वर्ल्ड कप में
38 साल की उम्र में खेला आखिरी टी-20
टेस्‍ट व वनडे से आशीष नेहरा की भले छुट्टी कर दी गई, लेकिन उन्‍होंने टी-20 में जो जलवा बिखेरा है सभी जानते हैं। नेहरा ने आईपीएल और इंटरनेशनल टी-20 मैच मिलाकर कुल 131 मैच खेले हैं जिसमें उनके नाम 162 विकेट दर्ज हैं। 18 बार उन्‍होंने 3 विकेट लिए। साल 2017 में 38 साल की उम्र में नेहरा ने आखिरी टी-20 मैच खेला।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.