ICC World Cup 2019 भारत वर्ल्ड कप का दावेदार नहीं जोंटी रोड्स ने गिनाए कारण

2019-05-14T01:16:06+05:30

आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड की शुरुआत 30 मई से इंग्लैंड में हो रही है। टीम इंडिया को इस बार वर्ल्ड कप चैंपियन का प्रबल दावेदार माना जा रहा। मगर पूर्व साउथ अफ्रीकी क्रिकेटर जोंटी रोड्स इससे अलग राय रखते हैं।

मुंबई (पीटीआई)। टीम इंडिया ने वर्ल्ड कप के लिए सबसे बेहतरीन 15 खिलाड़ियों का चयन भले किया हो। मगर भारत इस खिताब का प्रबल दावेदार होगा यह कहना मुश्किल है। ये बात पूर्व साउथ अफ्रीकी क्रिकेटर जोंटी रोड्स ने कही। रोड्स का मानना है, विराट कोहली की टीम बैलेंस जरूर है मगर टीम इंडिया के कप्तान के पास ऐसा कुछ स्पेशल नहीं है तो अन्य टीमों के पास न हो। पीटीआई से बात करते हुए जोंटी कहते हैं, 'इंडिया के पास बेहतरीन 15 खिलाड़ी जरूर हैं मगर टूर्नामेंट में अन्य छह टीमें भी हैं जिनके पास भी एक से बढ़कर एक खिलाड़ी हैं। अंतिम 11 में कौन उतरेगा, ये मैच वाले दिन और पिच की कंडीशन पर निर्भर होगा।'
वर्ल्ड कप में बाकी टीमें भी हैं सुपर

2019 क्रिकेट वर्ल्ड कप की शुरुआत 30 मई से इंग्लैंड में हो रही है। इस बार टूर्नामेंट राउंड रोबिन के आधार पर खेला जाएगा, जिसमें 10 टीमें हिस्सा लेंगे और प्रत्येक टीम को 9-9 मैच खेलने होंगे। भारत का पहला मैच 5 जून को साउथ अफ्रीका के खिलाफ होगा। टीम इंडिया को इस प्रतियोगिता में दुनिया की बेहतरीन टीमों से भिड़ना होगा। इस बात पर जोंटी रोड्स का कहना है, 'भारत के पास काफी अनुभवी खिलाड़ी हैं। जैसे कि जसप्रीत बुमराह डेथ ओवर्स के स्पेशलिस्ट माने जाते हैं। मगर इस विश्व कप में टाॅप 6 टीमें भी हैं। इसमें वेस्टइंडीज शामिल नहीं है जोकि सातवें नंबर पर है। मगर कैरेबियाई खिलाड़ियों ने पिछले कुछ समय से 50 ओवर के खेल में जो प्रदर्शन किया है। वो अन्य टीमों के लिए किसी चुनौती से कम नहीं।

IPL 12 में कैसा रहा वर्ल्ड कप खेलने जा रहे भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन

कानपुर में जन्में इस क्रिकेटर ने दी थी पाकिस्तानी क्रिकेट टीम को कोचिंग
पांड्या को करना होगा तुंरत एडजेस्ट
मुंबई के बांद्रा में टी-10 लीग में खेल रहे खिलाड़ियों को फील्डिंग के टिप्स देने आए जोंटी रोड्स भारतीय ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या से काफी इंप्रेस्ड हैं। रोड्स कहते हैं, 'वर्ल्ड कप में हार्दिक की भूमिका काफी अहम होगा क्योंकि वह बैटिंग और बाॅलिंग दोनों में बेहतर होते जा रहे। हालांकि पांड्या के लिए चिंता की बात ये है कि वर्ल्ड कप 50-50 ओवर का खेला जाएगा। इसमें टी-20 की तरह आपको 8-10 गेंदें नहीं खेलने को मिलेगी। क्रिकेट के इस बड़े फाॅर्मेट में फिनिशर की भूमिका 35 ओवर के बाद शुरु हो जाती है। यानी कि वर्ल्ड कप में पांड्या को संतुलन बनाकर चलना होगा ताकि वह विस्फोटक पारी के साथ-साथ टीम को आगे ले जाएं।'



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.