जंक्शन पर खुलेआम लुट रहे पैसेंजर

2019-06-14T06:00:16+05:30

i reality check

-20 रुपए में तीन समोसा और 15 रुपए में बिक रहा एक खीरा

-तीसरी आंख की निगहबानी भी बेकार, अवैध वेंडर कर रहे हैं मनमानी

balaji.kesharwani@inext.co.in

PRAYAGRAJ: 45-46 डिग्री टेम्प्रेचर की भीषण गर्मी में जबर्दस्त भीड़ झेलकर सफर कर रहे पैसेंजर्स इलाहाबाद जंक्शन पर अवैध वेंडर्स के हाथों लुट रहे हैं। जंक्शन के सभी प्लेटफार्म पर जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे की निगरानी और निगहबानी के बावजूद यह खेल खूब चल रहा है। दैनिक जागरण-आई नेक्स्ट के रियलिटी चेक में भी यह कड़वा सच सामने आ गया।

ठगे गए ब्रह्मापुत्र मेल के पैसेंजर्स

प्लेटफॉर्म नंबर सात पर दोपहर करीब 12.45 बजे दिल्ली से डिब्रूगढ़ जा रही ब्रह्मापुत्र मेल रुकी। ट्रेन रुकते ही गर्मी से व्याकुल पैसेंजर्स की भारी भीड़ प्लेटफार्म पर आ गई। पैसेंजर्स खाने-पीने का सामान ढूंढने लगे। इसी बीच जंक्शन पर एक्टिव अवैध वेंडर खोमचे पर खीरा लेकर और पेटी में समोसा व पेठा लेकर बेचने के लिए सक्रिय हो गए। रद्दी कागज में 20 रुपए में तीन समोसा पैसेंजर्स को देने लगे। अवैध वेंडर्स पर कोई शक न करे इसलिए उन्होंने खाकी रंग की शर्ट भी पहन रखी थी।

खीरा भी मनमाने दाम पर

यहां पर 16-17 साल के कई लड़के भी कोल्ड ड्रिंक के रैक में समोसा रख कर बेच रहे थे। यहां पर खीरा भी मनमाने दाम पर बेचा जा रहा था। एक युवक खोमचा लगाकर 15 रुपए में एक खीरा पैसेंजर्स को बेच रहा था। 40 रुपए में चार पूड़ी सब्जी और छोला चावल भी चिल्ला-चिला कर बेचा जा रहा था।

कैमरे की नजर में खेल

ट्रेन रवाना होने तक प्लेटफार्म नंबर सात पर अवैध वेंडर्स द्वारा पैसेंजर्स को लूटने का खेल चलता रहा। लेकिन इस दौरान एक भी अधिकारी या कर्मचारी जांच करने या रोक-टोक करने नहीं आया। जबकि प्लेटफार्म नंबर सात पर जहां अवैध वेंडिंग हो रही थी, वहीं पर सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ था।

बॉक्स

जंक्शन बदला, पर अवैध वेंडिंग बंद नहीं

ए-1 ग्रेड रेलवे स्टेशन इलाहाबाद जंक्शन को पूरी तरह से बदलने का प्रयास हो रहा है। सफाई व्यवस्था में सुधार के बाद जंक्शन को आईएसओ सर्टिफिकेट भी मिल चुका है। लेकिन जंक्शन पर अवैध वेंडिंग कल भी होती थी और आज भी जारी है। सवाल यह उठता है कि आखिर रेलवे अधिकारियों की नजर क्यों नहीं पड़ती है?

वर्जन

अभी कुछ दिनों पहले ही जंक्शन पर बड़ी कार्रवाई हुई थी। कई अवैध वेंडर पकड़े गए थे। समय-समय पर जांच होती रहती है। इसके बाद भी अगर अवैध वेंडर एक्टिव हैं और ओवर रेट पर सामान बेच रहे हैं तो जांच की जाएगी।

-सुनील कुमार गुप्ता

पीआरओ

इलाहाबाद मंडल

inextlive from Allahabad News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.