सुस्ती की भेंढ़ चढ़ा संदिग्धों का सत्यापन

2018-12-19T06:01:18+05:30

250

घरों में शिवकुटी पुलिस ने किया संदिग्ध व्यक्तियों का सत्यापन

851

लोगों के चेक किए गए पहचान पत्र

700

के करीब लोग किराए के मकानों में रहते हुए पाए गए

कुंभ मेला में आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा के मद्देनजर थानों को दिए गए हैं सत्यापन के आदेश

PRAYAGRAJ: कुंभ मेला की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए संदिग्ध व्यक्तियों के सत्यापन का काम थानों तक ही सिमट कर रह गया है। इस काम में लापरवाही बरतने वाले थानों में शिवकुटी भी पीछे नहीं है। सत्यापन की जिम्मेदारी एसएसपी ने थाना पुलिस को दे रखा है। हालात को देखते हुए यह कहना गलत न होगा कि सत्यापन की यही स्थिति रही तो अधिकारियों की मंशा मातहतों की लापरवाही की भेंट चढ़ जाएगी.

अब तक नहीं मिला संदिग्ध

सरकार व अधिकारी कुंभ मेला में आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा को लेकर हर एंगल पर काम कर रहे हैं। इसी के तहत शहर व आसपास के थाना क्षेत्रों में रहने वाले बाहरी संदिग्ध व्यक्तियों के सत्यापन का काम भी किया जा रहा है। इस काम के लिए खुद एसएसपी ने आदेश जारी किए हैं। शिवकुटी पुलिस द्वारा अब तक मात्र 250 घरों में सत्यापन का कार्य किया गया है। पुलिस द्वारा अब तक किए गए सत्यापन में करीब 851 लोगों की आईडी व उनके कार्यो का सत्यापन किया गया। बताते हैं कि इनमें से पुलिस को लगभग 700 लोग ऐसे मिले जो क्षेत्र में किराए पर रहते हैं। पुलिस ने किराए पर रहने वालों के भी पहचान पत्र की जांच की। इनमें से एक भी व्यक्ति पुलिस को संदिग्ध नहीं मिला। यही नहीं कोई मकान मालिक तक संदिग्ध नहीं पाया गया। खैर, गौर करने वाली बात ये है कि इस सत्यापन में पुलिस की सक्रियता ऐसी ही बनी रही तो यह काम काम मेला समाप्त होने के बाद भी पूरा हो पाना संभव नहीं हो पाएगा.

शिवकुटी पुलिस को अब तक किए गए सत्यापन में सबसे ज्यादा लोग प्रतापगढ़ व सुल्तानपुर के मिले हैं। इसके बाद गाजीपुर, बलिया, भदोही, अम्बेडकरनगर, गोंडा, बहराइच, रायबरेली व लखनऊ के लोगों की संख्या पुलिस को मिली.

वीआईपी ड्यूटी में पुलिस काफी व्यस्त थी। इस वजह से सत्यापन के कार्य पर थोड़ा असर पड़ा है। अब वीआईपी प्रोग्राम नहीं है। सत्यापन का कार्य तेजी से किया जा रहा है। जल्द ही इसे पूरा कर लिया जाएगा.

अवधेश प्रताप सिंह, इंस्पेक्टर, शिवकुटी

inextlive from Allahabad News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.