फ्रांस ने यूएन में किया भारत का समर्थन कहा सुरक्षा परिषद में इंडिया को स्थायी सदस्यता मिलना बेहद जरुरी

2019-05-07T01:35:07+05:30

संयुक्त राष्ट्र में स्थायी सदस्यता पर फ्रांस ने भारत समेत कई देशों का समर्थन किया है। उसने कहा है कि भारत को सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्या मिलना बेहद जरुरी है।

यूनाइटेड नेशंस (पीटीआई)। भारत संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्यता के लिए हर संभव कोशिश कर रहा है। फ्रांस ने यूएन में इस मामले में भारत समेत कई अन्य देशों का समर्थन किया है। संयुक्त राष्ट्र में फ्रांस के राजदूत ने कहा कि भारत, जर्मनी, ब्राजील और जापान जैसे देशों को सुधार और समकालीन वास्तविकताओं को बेहतर ढंग से दर्शाने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्यता की बहुत जरुरत है, संयुक्त राष्ट्र में इन देशों को सदस्यता दिलाना फ्रांस के प्राथमिकताओं में से एक है। यूएन में फ्रांस के प्रतिनिधि फ्रांस्वा डेल्ट्रे ने पिछले सप्ताह मीडिया से कहा, 'नीति के संदर्भ में, फ्रांस और जर्मनी के पास मजबूत नीति है, जो मिलकर सुरक्षा परिषद को विस्तार करने के लिए काम करते हैं। सुरक्षा परिषद के विस्तार के लिए जर्मनी को स्थायी सदस्यता मिलनी चाहिए ताकि हम दुनिया को बेहतर ढंग से दर्शाने का काम कर सकें। हम इसे बेहद आवश्यक समझते हैं।'
आने वाले हैं फ्रांस के राष्‍ट्रपत‍ि, इस साल 14 वि‍देशी मेहमानों की अगवानी कर चुका है भारत


फ्रांस के लिए यह प्राथमिकता का विषय

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र के सुरक्षा परिषद में भारत लंबे समय से स्थायी सदस्यता हासिल करने की कोशिश कर रहा है, उसका कहना है कि संयुक्त राष्ट्र में एक स्थायी सदस्य के रूप में उसे एक जगह मिलनी चाहिए। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने इस साल सुरक्षा परिषद की सदस्यता में समानता के प्रतिनिधित्व और वृद्धि के सवाल पर अंतर सरकारी समझौते पर प्लेनरी की अनौपचारिक बैठक में बात की थी। उन्होंने कहा था कि 90 प्रतिशत से अधिक लिखित सबमिशन में आवेदकों का मानना है कि सुरक्षा परिषद में सदस्य देशों की संख्या बढ़ाई जानी चाहिए। फ्रांस्वा डेल्ट्रे ने कहा, 'भारत, जर्मनी, ब्राजील, जापान और कुछ अफ्रीकी देशों को सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्यता मिलना अत्यंत आवश्यक है। यह हमारे लिए प्राथमिकता का विषय है।'



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.