16 दिसंबर के ही दिन 1971 में भारत ने जीता पाकिस्तान से युद्ध हुआ बांग्लादेश बनने का ऐलान

2018-12-16T08:30:54+05:30

आज यानी कि 16 दिसंबर को 1971 में पाकिस्तान ने भारत के सामने अपने घुटने टेके थे और बांग्लादेश बनने का ऐलान हुआ था। पूर्वी पाकिस्तान को आजादी दिलाने में भारतीय सेना के अलावा शेख मुजीबुर रहमान ने खास भूमिका निभाई थी।

कानपुर। आज यानी कि 16 दिसंबर को हर साल भारत में विजय दिवस मनाया जाता है। इसी दिन पाकिस्तान को भारत के सामने अपने घुटने टेकने पड़े थे। ब्रिटेनिका की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 16 दिसंबर, 1971 को पाकिस्तानी सेना ने भारतीय सेना के सामने बिना किसी शर्त के सरेंडर किया था। इसके अलावा आज ही के दिन पूर्वी पाकिस्तान को आजादी मिली थी और बांग्लादेश के रूप में एक नए राष्ट्र बनने का ऐलान हुआ था। पूर्वी पाकिस्तान आखिरकार पश्चिमी पाकिस्तान से क्यों अलग हुआ, इसके पीछे भी एक दिलचस्प कहानी है।
दोनों देशों के बीच बहुत दूरी
कहा जाता है कि पूर्वी पाकिस्तान (अब बांग्लादेश) और पश्चिमी पाकिस्तान के बीच काफी दूरी थी। दोनों के भाषा, संस्कृति और रहन सहन के तरीके एक दूसरे से बेहद अलग थे। इसको लेकर दोनों के बीच लंबे समय तक संघर्ष चला। जब यह संघर्ष बहुत आगे बढ़ गया तो पाकिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति अयूब खान ने अपना इस्तीफा देते हुए देश की कमान तत्कालीन आर्मी चीफ याहया खान के हाथ सौंप दी। इसके बाद पाकिस्तानी फौज ने पूर्वी पाकिस्तान के करीब 30 लाख लोगों को मार दिया। बता दें कि पूर्वी पाकिस्तान को आजादी दिलाने में शेख मुजीबुर्रहमान ने अहम भूमिका निभाई थी। वे पाकिस्तान के बांग्लाभाषी लोगों का नेतृत्व कर रहे थे। उनका कहना था कि पश्चिमी पाकिस्तानी उनके साथ भेदभाव करते हैं। दरअसल, चुनाव में जीत हासिल करने के बावजूद उन्हें सत्ता में बैठने की जगह देशद्रोह के आरोप में अरेस्ट कर लिया गया। इसके बाद पूर्वी पाकिस्तान में विद्रोह शुरू हो गया, जिसे दबाने के लिए पाकिस्तानी फौज ने लोगों पर कहर बरपाना शुरू कर दिया।

आतंक बढ़ा तो भारत ने कर दिया हमला

पूर्व पाकिस्तान में कई लोग मारे गए और महिलाओं के साथ दुष्कर्म किया गया, पाकिस्तानी फौजियों के आतंक से बचने के लिए हजारों शरणार्थी हर रोज भारत आने लगे। जब पाकिस्तानी फौजियों का आतंक बढ़ता गया तो भारत ने पाकिस्तान पर हमला बोल दिया। दोनों देशों के बीच 3 दिसंबर, 1971 को युद्ध शुरू हुआ और यह करीब 13 दिनों तक चला था। 16 दिसंबर, 1971 को पाकिस्तानी सेना ने भारत के सामने अपने घुटने टेक दिए और 'बांग्लादेश' नाम के एक नए राष्ट्र का उदय हो गया। 

अमेरिका ने कहा, सऊदी क्राउन प्रिंस ने दिया पत्रकार खाशोग्गी को मारने का आदेश

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.