अमेरिका नौ साल की सौतेली बेटी की गला घोंटकर हत्या करने के लिए भारतवंशी महिला को 22 साल की जेल

2019-06-04T17:03:18+05:30

अमेरिका में भारतीय मूल की महिला ने अपनी नौ साल की सौतेली बेटी की गला घोंटकर हत्या कर दी थी। इस जुर्म के लिए उसे 22 साल जेल की सजा सुनाई गई है।

वाशिंगटन (आईएएनएस)। अमेरिका में भारतीय मूल की महिला शमदई अर्जुन (55) को अपनी नौ साल की सौतेली बेटी की हत्या करने के जुर्म में 22 साल कैद की सजा सुनाई गई है। अदालत ने सजा सुनाते समय महिला के अपराध को अकल्पनीय करार दिया है। न्यूयॉर्क के क्वींस में रहने वाली शमदई ने अगस्त, 2016 में अपनी सौतेली बेटी अंशदीप कौर की बाथटब में गला घोंटकर हत्या कर दी थी। इस मामले में क्वींस की अदालत ने महिला को सोमवार को सजा सुनाई। उसे पिछले महीने दोषी करार दिया गया था। सजा के एलान के बाद क्वींस के कार्यवाहक अटार्नी जॉन रियान ने एक बयान में कहा, 'बच्ची महज नौ साल की मासूम थी। कोर्ट ने ऐसी सजा सुनाई है, जिससे महिला फिर कभी आजाद नहीं रह पाएगी।'

हसरत पूरी न होने पर काट दिया पत्नी का गला, जंगल में मिली डेडबॉडी
कई बार दी थी जान से मारने की धमकी
कोर्ट में दिए बयान के अनुसार, एक चश्मदीद ने 19 अगस्त, 2016 को शमदई को अपने अपार्टमेंट से पूर्व पति रेमंड नारायण और अपने दो पोतों के साथ बाहर निकलते देखा। बेटी के बारे में पूछने पर उसने कहा कि वह बाथरूम में है और अपने पिता सुखजिंदर सिंह का इंतजार कर रही है। शमदई ने रेमंड को तलाक देने के बाद सुखजिंदर से शादी कर ली थी। बाथरूम की लाइट कई घंटों से जलती देख इस चश्मदीद समेत पड़ोसियों ने लड़की के पिता सुखजिंदर सिंह को फोन किया। बाथरूम का दरवाजा तोड़ने पर लड़की बाथटब में मृत पाई गई। उसके शरीर पर चोट के कई निशान थे। क्वींस के असिस्टेंट अटार्नी माइकल कर्टिस के अनुसार, शमदई ने कई बार लड़की को जान से मारने की धमकी दी थी। भारत से अमेरिका आने के तीन माह बाद ही उसकी हत्या कर दी गई थी।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.