टीम इंडिया के बस ड्राइवर ने खोले अहम राज जानिए भारतीय खिलाड़ियों की वो बातें जो अब तक थी छुपी

2018-07-23T16:01:50+05:30

भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों का मैदान के बाहर कैसा बर्ताव होता है इसका खुलासा हो गया। टीम इंडिया के बस ड्राइवर जेफ गुडविन ने कई अहम खुलासे किए हैं।

कानपुर। भारतीय क्रिकेट टीम इस समय इंग्लैंड दौरे पर है। भारत-इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज 1 अगस्त से शुरु होगी। हालांकि इस अहम सीरीज से पहले भारतीय खिलाड़ियों से जुड़ी कई अनजानी बातें सामने आई हैं। पिछले 19 सालों से इंग्लैंड में टीम इंडिया के बस ड्राइवर रहे जेफ गुडविन ने कोहली और तेंदुलकर जैसे सितारों की पसर्नल बातें शेयर की हैं। दरअसल गुडविन ने बीसीसीआई को एक इंटरव्यू दिया है जिसमें उन्होंने भारतीय खिलाड़ियों के रवैये को लेकर बड़ी-बड़ी बताईं।

मैदान छोड़ने की रहती है जल्दी
गुडविन की मानें तो टीम इंडिया सबसे अनुशाषित टीम है। ऑस्ट्रेलिया जैसी टीमों को भी लाने-जाने की जिम्मेदारी संभालने वाले गुडविन कहते हैं कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी मैच खत्म होने के बाद सुबह दो बजे तक चेंजिंग रूम में ही बैठे रहते हैं। वे वहां ड्रिंक वगैरह में व्यस्त रहते हैं। मगर भारतीय टीम के साथ ऐसा नहीं है। ये काफी प्रफेशनल हैं, भारतीय खिलाड़ी मैच खत्म होने के बाद जितनी जल्दी हो सके मैदान छोड़ देते हैं।
कोहली की यह है फेवरेट सीट
भारतीय कप्तान विराट कोहली के बारे में गुडविन का कहना है कि, वह हमेशा आगे वाली सीट में बैठकर सफर करना पसंद करते हैं। यही नहीं टीम इंडिया में एक खिलाड़ी ऐसा भी है जो उन्हें बूढ़ा कहता है। यह खिलाड़ी कोई और नहीं बल्कि युवा स्पिनर युजवेंद्र चहल हैं। हालांकि इसके जवाब में चहल बोलते हैं कि तुम बूढ़े हो इसलिए बोलते हैं। इसके बाद वो हंसने लगते हैं।

रैना ने उतारकर दी थी टीशर्ट

गुडविन आगे कहते हैं कि टीम इंडिया में एक खिलाड़ी ऐसा है जिसके साथ उनका भावनात्मक रिश्ता है। वो हैं बाएं हाथ के बल्लेबाज सुरेश रैना। गुडविन के मुताबिक, एक बार उनकी पत्नी काफी बीमार थीं और उनके पास इलाज कराने के पैसे नहीं थे। तब रैना ने अपनी टी-शर्ट उतारकर मुझे दी और कहा इसे नीलाम कर दो, पैसे आ जाएंगे। यह एक ऐसा पल था जिसे मैं कभी नहीं भूल सकता।
सचिन ने की तारीफ
सिर्फ गुडविन ही नहीं उनके बेटे भी टीम इंडिया के बस ड्राइवर रह चुके हैं। गुडविन की मानें तो, काफी समय पहले की बात हैं उनका बेटा टीम इंडिया को लेकर कहीं जा रहा था। उस वक्त टीम में सचिन तेंदुलकर भी थे। सचिन ड्राइवर की पिछली वाली सीट पर बैठे थे। तब तेंदुलकर ने गुडविन के बेटे से कहा कि तुम्हारे पिता एक बड़े स्टार हैं, मगर उस दौरे के खत्म होते मेरा 21 साल का बेटा स्टार बन चुका था क्योंकि उसके बेहतर काम के लिए भारत सरकार ने उसे पत्र लिखकर धन्यवाद दिया था।
10 साल पहले धोनी के इस फैसले ने पूरी टीम को कर दिया था चकित, अब हुआ खुलासा
शिखर धवन ने कोहली को बताया कार्टून, कहा - इसके जैसे लगते हैं



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.