IPL 2019 Final मुंबई इंडियंस ने चेन्नई सुपरकिंग्स को 1 रन से हराकर चौथी बार जीता खिताब

2019-05-13T08:58:25+05:30

आईपीएल 2019 का फाइनल मैच रविवार को मुंबई इंडियंस बनाम चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला गया। खिताबी मुकाबला काफी रोमांचक रहा। मुंबई ने आखिर में एक रन से जीत दर्ज कर चौथी बार आईपीएल टाइटल जीता।

कानपुर। एक गेंद, 2 रन और शार्दुल ठाकुर आउट। इसी के साथ मुंबई इंडियंस रिकॉर्ड चौथी बार आईपीएल का चैैंपियन। ये ब्रीफ स्टोरी है रविवार को खेले गए आईपीएल-12 के खिताबी मुकाबले की। दिल की धड़कनों को रोक देने वाले इस ऐतिहासिक फाइनल को जीतकर मुंबई ने आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स पर अपनी बादशाहत कायम रखी। यह तीसरा मौका है, जब मुंबई ने फाइनल में चेन्नई को मात दी है। वहीं इस सीजन में उसने लगातार चौथी बार चेन्नई को शिकस्त दी। इसके साथ ही मुंबई ने 2013 के बाद अल्टरनेट वर्षों में खिताब जीतने के सिलसिले को भी कायम रखा। वहीं 5वीं बार चेन्नई सुपरकिंग्स फाइनल में पहुंचकर भी खिताब नहीं जीत सकी।

कई कैच छोड़े, मिसफील्डिंग की

इसके बावजूद मुंबई ने अपना धैर्य नहीं खोया, नतीजा एक रन से न सिर्फ मैच बल्कि आईपीएल-12 का खिताब भी मुंबई इंडियंस ने अपने नाम कर लिया। मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 8 विकेट पर 149 रन बनाए थे। इसके जवाब में चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम एक समय जीत के बेहद करीब नजर आ रही थी, लेकिन इसके बावजूद वो निर्धारित ओवर्स में 7 विकेट पर 148 रन ही बना सकी।

आखिरी ओवर में पलटा मैच

चेन्नई को फाफ डु प्लेसिस (26) और शेन वॉटसन ने अच्छी शुरुआत दिलाई, लेकिन क्रुणाल ने डु प्लेसिस को ज्यादा पैर नहीं जमाने दिए। सुरेश रैना (8), अंबाती रायुडू (1) सस्ते में आउट हुए तो धोनी (2) दुर्भाग्य से रन आउट हो गए। इसके बाद वाटसन और ड्वेन ब्रावो (15) टीम को जीत के करीब ले गए। ब्रावो के जाने के बाद चेन्नई को आखिरी ओवर में 9 रन चाहिए थे। वॉटसन 80 रन बनाकर ओवर की चौथी गेंद पर रन आउट हो गए। शार्दुल ठाकुर ने पांचवीं गेंद पर दो रन लिए। इस तरह आखिरी गेंद पर दो रन चाहिए थे, लेकिन मलिंगा ने शार्दुल को आउट करके मैच मुंबई की झोली में डाल दिया।
150 के पार ले गए पोलार्ड
टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी मुंबई इंडियंस को कप्तान रोहित शर्मा (15) और क्विंटन डिकॉक (29) ने ताबड़तोड़ शुरुआत दी। डिकॉक ने दीपक चाहर के ओवर में तीन छक्के लगाकर अपने इरादे जता दिए थे, लेकिन शार्दुल ठाकुर ने डिकॉक के बल्ले पर ब्रेक लगा दिया। दीपक चाहर ने रोहित को पवेलियन भेजकर चेन्नई पर प्रेशर बढ़ा दिया। क्वालीफायर-1 में चेन्नई के खिलाफ मुंबई को जीत दिलाने वाले सूर्यकुमार यादव (15) को इमरान ताहिर ने आते ही बोल्ड कर दिया। मुंबई इससे पहले की संभल पाती क्रुणाल पांड्या (07) को शार्दुल ठाकुर ने एक लाजवाब कैच लपककर बाहर भेज दिया। टीम ने अपने 100 रन 14वें ओवर में पूरे किए। इशान किशन (23) को ताहिर ने सुरेश रैना के हाथों कैच कराकर मुंबई को पांचवां झटका दिया। हार्दिक पांड्या (16) हाथ खोलते इससे पहले ही वो पवेलियन लौट गए। हालांकि पोलार्ड एक छोर संभाले रहे और 25 गेंद में तीन चौके और तीन छक्कों की पारी की मदद से मुंबई की टीम सम्मानजनक स्कोर तक पहुंच पाई। चेन्नई की ओर से चाहर ने तीन, ठाकुर और ताहिर ने दो-दो विकेट लिए।
प्लेऑफ  में शांत ही रहा है रोहित का बल्ला
बड़े मुकाबलों में टीमों को अपने बड़े प्लेयर्स से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद रहती है। हालांकि मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा का रिकॉर्ड आईपीएल के प्लेऑफ में बहुत अच्छा नहीं रहा है। रविवार को रोहित शर्मा प्लेऑफ  में एक बार फिर अपनी किस्मत नहीं बदल पाए। चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ  वह सिर्फ  15 रन बनाकर आउट हो गए। हालांकि रोहित ने दूसरे ओवर में शार्दुल ठाकुर की गेंद पर छक्का लगाया था और इसके बाद उन्होंने हरभजन सिंह की गेंद पर चौका भी लगाया। रोहित ने आईपीएल प्लेऑफ  में 18 पारियों में सिर्फ  229 रन बनाए हैं। उनका औसत भी 13.47 का रहा है। उन्होंने प्लेऑफ्स में सिर्फ एक ही हाफ सेंचुरी लगाई है और 50 उनका बेस्ट स्कोर है। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 101.77 रहा है।

विकेट के पीछे फिर सबसे आगे धोनी

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपने नाम एक और उपलब्धि दर्ज की। वह आईपीएल में सबसे ज्यादा शिकार करने वाले विकेटकीपर बन गए हैं। फाइनल मुकाबले में रोहित शर्मा का कैच पकड़कर धोनी ने यह रिकॉर्ड अपने नाम किया। धोनी ने आईपीएल में विकेट के पीछे अब 132 शिकार कर लिए हैं। उन्होंने इसमें 94 कैच और 38 स्टंप किए हैं। उन्होंने कोलकाता नाइट राइडर्स के दिनेश कार्तिक को पीछे छोड़ा जिनके नाम 131 शिकार थे। इसमें 101 कैच और 30 स्टंप हैं। इस मैच से पहले धोनी के नाम 130 शिकार थे। उन्होंने पहले शार्दुल ठाकुर की गेंद पर मुंबई के सलामी बल्लेबाज क्विंटन डि कॉक का कैच लपका। इसके बाद उन्होंने अगले ओवर में दीपक चाहर की गेंद पर रोहित शर्मा को कैच कर टॉप स्थान पर कब्जा किया। इस लिस्ट में रॉबिन उथप्पा (90, 58 कैच, 32 स्टंप्स) तीसरे नंबर पर हैं, जबकि पार्थिव पटेल (82, 66 कैच और 16 स्टंप्स) चौथे नंबर पर हैैं।

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.