IPL 2019 KXIP ने SRH को 6 विकेट से हराया तीसरे नंबर पर पहुंची पंजाब

2019-04-09T09:06:13+05:30

आईपीएल 2019 का 22वां मैच सोमवार को किंग्स इलेवन पंजाब और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच खेला जाएगा। इस मैच में पंजाब को छह विकेट से जीत मिली। इसी के साथ पंजाब अंक तालिका में तीसरे नंबर पर पहुंच गया।

विकास शर्मा, मोहाली। कर्नाटक की टीम के बाद रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और अब किंग्स इलेवन पंजाब में एक साथ खेल रही दो दोस्तों की जोड़ी ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए किंग्स इलेवन पंजाब को छह विकेट से पराजित किया। हैदराबाद की गेंदबाजी आईपीएल में सबसे अच्छी मानी जाती है, जिसमें भुवनेश्वर कुमार, राशिद खान जैसे कंजूस गेंदबाज शामिल हैं लेकिन केएल राहुल (नाबाद 71) और मयंक अग्रवाल (55) की जोड़ी पर किसी गेंदबाज का कोई असर नहीं पड़ा। 151 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी पंजाब की टीम ने क्रिस गेल (16) का विकेट जल्दी गंवा दिया। इसके बाद राहुल और मयंक ने दूसरे विकेट के लिए 84 गेंदों में 114 रनों की शतकीय साझेदारी निभाकर अपनी टीम को एक गेंद शेष रहते जीत दिलाई।

पुराने दोस्त, नई टीम

राहुल और मयंक ने कर्नाटक की टीम में एक साथ घरेलू क्रिकेट खेला। दोनों आरसीबी के लिए भी खेलते थे। हैदराबाद के खिलाफ जहां डेविड वार्नर कप्तान भुवनेश्वर के साथ मिलकर इस जोड़ी का तोड़ निकालने की रणनीति बनाते रहे तो वहीं यह जोड़ी लगातार आगे बढ़ती रही। राहुल इस सत्र में तीन अर्धशतक लगा चुके हैं और यह उनका लगातार दूसरा पचासा है। इससे पहले उन्होंने सुपरकिंग्स के खिलाफ 55 रनों की पारी खेली थी। वह इस सत्र में छह मैचों कुल 217 रन बना चुके हैं। राहुल ने 34 गेंदों में पचास रन पूरे किए हैं। वह अपने आईपीएल करियर में 59 मैचों में 1601 रन बना चुके हैं जिसमें 13 अर्धशतक शामिल हैं। राहुल का पिछला सत्र भी शानदार रहा था जिसमें उन्होंने 14 मैचों में 659 रन कूटे थे। इस दौरान उन्होंने छह अर्धशतक लगाए थे। वहीं, मयंक का यह इस सत्र में दूसरा पचासा है।वह भी छह मैचों 184 रन बना चुके हैं। 40 के निजी स्कोर पर भुवनेश्वर की गेंद पर यूसुफ पठान ने मयंक का कैच टपका दिया था, जिसका फायदा उठाते हुए उन्होंने 40 गेंदों में छक्का लगाकर अर्धशतक पूरा किया।

मयंक अग्रवाल के नाम 1118 रन

मयंक अभी तक 70 मैच खेल चुके हैं। उन्होंने 1100 रन भी हैदराबाद के खिलाफ पूरे किए। उन्होंने आईपीएल में 1118 रन बनाए हैं जिसमें चार अर्धशतक शामिल हैं। 2018 का सत्र मयंक के लिए निराशाजनक रहा था। वह 11 मैच खेलकर सिर्फ 120 रन ही बना पाए थे। मयंक (55) छक्का उड़ाने के चक्कर में संदीप शर्मा (2/21) की गेंद पर शंकर को कैच दे बैठे। इसी ओवर में डेविड मिलर (01) भी चलते बने। इसके बाद अंतिम तीन गेंद पर पंजाब को छह रन चाहिए थे। स्ट्राइक पर राहुल थे। पहले उन्होंने चौका जड़ा फिर उन्होंने दो रन लेकर टीम को जीत दिला दी।

राहुल का बढ़ेगा मनोबल

हालांकि विश्व कप और आईपीएल में जमीन आसमान का अंतर है, लेकिन सीमित प्रारूपों की सीरीज में पिछले कुछ समय से राहुल का बल्ला शांत था। अब आईपीएल में इस प्रदर्शन से उनका आत्मविश्वास बढ़ेगा। खराब फॉर्म के साथ महिलाओं के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी से भी वह काफी परेशान थे। अब लय में आने के बाद राहुल को कुछ राहत मिली होगी। वहीं, मयंक विश्व कप की टीम के चयन में दूर-दूर तक कहीं नहीं है, लेकिन आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करने से वह भारतीय की सीमित प्रारूपों की टीम में जगह बनाने का अपना दावा मजबूत कर सकते हैं।
वार्नर ने संभाला
इससे पहले पंजाब के कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने टॉस जीतकर गेंदबाजी चुनी। पारी की शुरुआत से लेकर अंत पंजाब के गेंदबाज मेहमान टीम के बल्लेबाजों पर हावी रहे। मुंबई इंडियंस के खिलाफ 96 रनों पर ढेर होने वाली हैदराबाद की टीम के बल्लेबाजों का खराब प्रदर्शन इस मैच में भी जारी रहा। पंजाब की कसी हुई गेंदबाजी के आगे सनराइजर्स के बल्लेबाज बेबस नजर आए और डेविड वार्नर को छोड़ दिया जाए तो टीम के अन्य बल्लेबाजों ने निराश किया। हालांकि सनराइजर्स की टीम ने इस सत्र में दो बार 200 के ऊपर का स्कोर खड़ा किया है जिसमें वार्नर और बेयरस्टो का बल्ला बोला है लेकिन पंजाब के खिलाफ वार्नर ने 62 गेंदों में 70 रनों की पारी खेली और उनकी पारी की मदद से हैदाराबाद की टीम का 20 ओवर में चार विकेट पर 150 रनों का स्कोर खड़ा कर पाई। बेयरस्टो एक रन पर आउट हो गए। वार्नर ने धीमी लेकिन संभली पारी खेलकर टीम चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंच पाई। शुरुआती 10 ओवर में हैदराबाद के बल्लेबाज सिर्फ दो चौके ही लगा पाए थे।

पंजाब के बल्लेबाज केएल राहुल ने दिलाई जीत। फोटोः एपी


क्या IPL में गोंद से चिपकाए गए हैं स्टंप, गेंद लगने के बाद भी नहीं गिरती गिल्ली

अश्विन भी चतुर कप्तान
अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धौनी को सबसे चतुर कप्तान माना जाता है। लेकिन उनके बाद आईपीएल के इस सत्र में अश्विन भी चतुर कप्तान के रूप में उभर रहे हैं। उन्होंने कई मौकों पर अच्छी कप्तानी की है और अहम मौकों पर बल्लेबाजों को रन आउट भी किया। पहले मांकडि़ड तरीके से राजस्थान रॉयल्स के जोस बटलर को आउट किया। इस मैच में हैदराबाद के मुहम्मद नबी को भी शानदार तरीके से रन आउट करके पवेलियन भेज दिया।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.