वर्ल्ड कप से पहले फाॅर्म में लौटा ये भारतीय IPL में हर चौथी गेंद पर लगा रहा बाउंड्री

2019-04-30T09:02:54+05:30

आईपीएल 2019 की शुरुआत में थोड़ा लड़खड़ा रहे शिखर धवन अब लय में लौट आए हैं। धवन अपनी टीम दिल्ली कैपिटल्स की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। गब्बर की फाॅर्म का अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि वह मौजूदा आईपीएल सीजन में हर चौथी गेंद पर चौका लगा रहे हैं।

कानपुर। टीम इंडिया के गब्बर कहे जाने वाले शिखर धवन वर्ल्ड कप से पहले फाॅर्म में लौट आए हैं। मौजूदा आईपीएल सीजन में धवन का बल्ला जमकर आग उगल रहा। हालांकि उन्हें लय में लौटने में थोड़ा समय लगा। इस सीजन शिखर ने कुल 12 मैच खेले हैं जिसमें उनके दो अवतार देखने को मिले। शुरुआती छह मैचों में जहां वह संघर्ष कर रहे थे वहीं बाद के छह मैचों में उन्होंने जबरदस्त बल्लेबाजी की।

इस समय हर चौथी गेंद पर लगा रहे चौका
इंडियन प्रीमियर लीग की अफिशल वेबसाइट पर उपलब्ध डाटा के मुताबिक, धवन ने सीजन के शुरुआती छह मैचों में मात्र 25.30 की एवरेज से रन बनाए। इस दौरान उनके बल्ले से सिर्फ एक अर्धशतक निकला। यही नहीं धवन का स्ट्राइक रेट 116 का था। तब शिखर को एक चौका लगाने के लिए औसतन 6.5 गेंद खेलनी पड़ रही थीं, साथ ही बल्ले से कोई सिक्स 65 गेंदों बाद आ रहा था। अब बाद के छह मैचों के आंकड़ों पर नजर डालें तो इस दौरान धवन ने 59.8 की एवरेज से 299 रन बनाए जिसमें चार हाॅफसेंचुरी भी दर्ज हैं। यही नहीं इस समय शिखर औसतन हर चौथी गेंद पर चौका लगा रहे।

दिल्ली को प्लेऑफ में पहुंचाने में अहम रोल

दिल्ली कैपिटल्स को इस आईपीएल प्लेऑफ में पहुंचाने में शिखर धवन का अहम रोल रहा। वह टीम की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। धवन के नाम 12 मैचों में 451 रन दर्ज हैं जिसमें पांच अर्धशतक भी शामिल हैं। हालांकि वह एक शतक से चूक गए, इस सीजन गब्बर का हाईएस्ट स्कोर नाबाद 97 रन है। इसी के साथ शिखर ओवरऑल सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों में तीसरे नंबर पर हैं।

वर्ल्डकप से पहले ये चार भारतीय IPL में हुए 'आउट ऑफ कंट्रोल', अंपायर हैं परेशान

गजब हैं धोनी, कभी इनके पिता के साथ खेलते थे मैच आज बेटे के साथ खेल रहे IPL
सात साल बाद दिल्ली पहुंची प्लेऑफ में
इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें सीजन में अब सिर्फ नौ मैच बचे हैं, इसके बाद प्लेऑफ की जंग शुरु हो जाएगी। अभी सिर्फ दो टीमें प्लेऑफ में पहुंची हैं, जिसमें पहली चेन्नई सुपर किंग्स और दूसरी दिल्ली कैपिटल्स है। दिल्ली को आईपीएल प्लेऑफ में पहुंचने में 7 साल लग गए। इससे पहले साल 2012 में दिल्ली की टीम टाॅप 4 में जगह बना पाई थी। तब फ्रेंचाइजी का नाम दिल्ली डेयरडेविल्स हुआ करता था।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.