IPL में सिक्सर किंग बने युवराज सिंह 12 साल पहले इस जिद के चलते ठोंके थे 6 गेंदों पर 6 छक्के

2019-03-29T11:19:24+05:30

आईपीएल 2019 के सातवें मुकाबले में गुरुवार को आरसीबी के खिलाफ मुंबई के बल्लेबाज युवराज सिंह ने छक्कों की बारिश कर दी। युवी ने चहल के एक ओवर में लगातार तीन छक्के मारकर 12 साल पुरानी यादें ताजा कर दीं। साल 2007 में युवी ने इंग्लैंड के खिलाफ छह गेंदों पर छह छक्के मारे थे।

कानपुर। पिछले काफी समय से खामोश चल रहे बाएं हाथ के बल्लेबाज युवराज सिंह गुरुवार को आरसीबी के खिलाफ पुराने रंग में लौट आए। मुंबई इंडियंस की ओर से खेलते हुए युवी ने राॅयल चैलेंजर्स के खिलाफ तीन गेंदों में लगातार तीन छक्के मारे। युवी ने ये कारनामा युजवेंद्र चहल के ओवर में किया। चहल की शुरुआती तीन गेंदों को उन्होंने मैदान के बाहर पहुंचा दिया, हालांकि चौथी गेंद को भी सीमा रेखा के पार पहुंचाने के चक्कर में वह आउट हुए। मगर तब तक युवी का पुराना अवतार फैंस को दिख चुका था। इसी के साथ युवराज ने 12 साल पुरानी उस बात को ताजा कर दिया जब उनके बल्ले से छह गेंदों में छह छक्के निकले थे।

"Felt like Stuart Broad during that over 😂"
3 sixes in 3 balls bowling to @YUVSTRONG12 and even @yuzi_chahal feared a repeat of the 2007 T20 WC, before redeeming himself the very next delivery 😎 #RCBvMI #VIVOIPL @RCBTweets pic.twitter.com/RRqxxmrDZw

— IndianPremierLeague (@IPL) 29 March 2019


2007 वर्ल्ड कप में किया था कारनामा

19 सितंबर 2007 का दिन हर क्रिकेट प्रेमी को याद होगा। साउथ अफ्रीका में पहला टी-20 वर्ल्ड कप खेला जा रहा था। उस वक्त यह फटाफट क्रिकेट फॉर्मेट काफी नया था। जितना उत्साह इसे देखने वालों में था उतना ही खेलने वालों में। इसे और रोचक बनाया था युवराज सिंह ने जिन्होंने छह गेंदों में छह छक्के लगाकर पूरी दुनिया को हैरान कर दिया था। क्रिकइन्फो के डेटा के मुताबिक, 2007 टी-20 वर्ल्ड कप का 21वां मैच भारत बनाम इंग्लैंड के बीच खेला जा रहा था। भारत ने यह मैच 18 रन से अपने नाम किया था और इसका पूरा श्रेय युवराज सिंह को जाता है जिन्होंने 19वें ओवर में लगातार छह छक्के मारकर एक बड़ा स्कोर खड़ा कर दिया था। युवी ने ये रिकाॅर्ड स्टुअर्ट ब्राॅड के ओवर में किया था।
युवी ने ऐसे मारे थे छह छक्के -
पहली गेंद
काउ कॉर्नर के ऊपर से शानदार लॉफ्ट छक्का, मैदान पर डीप में खड़े एंड्रयू फ्लिंटॉफ का मुंह बन गया, जिनसे कुछ ही देर पहले युवी की बहस हुई थी।
दूसरी गेंद
युवी ने बैकवर्ड स्कवायर लेग के ऊपर से 111 यार्ड लंबा छक्का लगाया।
तीसरी गेंद
युवी ने इस बार करारा प्रहार करते हुए गेंद को एक्सट्रा कवर और प्वॉइंट के ऊपर से छक्के के लिए निकाला और छक्कों की हैट्रिक पूरी की।
चौथी गेंद
इस बार भी युवी ने वही शॉट अपनाया और एक बार फिर एक्स्ट्रा कवर और प्वॉइंट के ऊपर से चौथा छक्का भी जड़ दिया।
पांचवीं गेंद
युवी ने इस बार मिडविकेट के ऊपर से लंबा और ऊंचा छक्का जड़ा, मैदान में शोर इस बात को चीख चीखकर कह रहा था कि अब दर्शकों को किसी भी हाल मे छठा छक्का चाहिए था।
छठी गेंद
युवी ने फैंस को निराश नहीं किया और इतिहास रच डाला, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में यह दूसरा मौका था जब किसी बल्लेबाज ने यह कारनामा कर दिखाया था, इससे पहले वनडे विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका के हर्शल गिब्स ऐसा कर चुके थे। युवी ने इस मैच में 12 गेंदों पर अपना अर्धशतक भी पूरा किया था। इंटरनेशनल मैचों में किसी भी फॉर्मेट में यह सबसे तेज अर्धशतक है।

क्या कहा था फ्लिंटॉफ ने

युवराज ने एक बार अपने छह छक्के मारने का खुलासा किया था। युवी का कहना था कि, उन्‍होने मैच में जब अच्‍छा शॉट खेला तो फ्लिंटाफ ने उसे बेहुदा बताया था। जिसके बाद युवराज को गुस्‍सा आया और उन्‍होंने फ्लिंटाफ को खरीखोटी सुना दी। जिसे सुनकर एंड्रयू ने युवी का गला काटने की बात कही जिसका जबाव देते हुए युवराज ने कहा ये जो बैट देख रहे हो मेरे हाथ में तुम्‍हे मैं इसी बल्‍ले से मारूंगा। खैर मैदान में मार-पीट की नौबत तो नहीं आई मगर ब्रॉड की शामत जरूर आ गई थी।

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.