झारखंड में आइईडी विस्फोट 15 जवान जख्मी

2019-05-29T10:15:42+05:30

जिला मुख्यालय सरायकेला से करीब 33 किमी दूर कुचाई व खरसावां के सीमावर्ती राय¨सदरीबुरुटोला जंगल में मंगलवार को तड़के सुबह चार से पांच बजे की बीच नक्सलियों का आइईडी विस्फोट हुआ

jamshedpur@inext.co.in
SARAIKELA: जिला मुख्यालय सरायकेला से करीब 33 किमी दूर कुचाई व खरसावां के सीमावर्ती राय¨सदरी-बुरुटोला जंगल में मंगलवार को तड़के सुबह चार से पांच बजे की बीच नक्सलियों का आइईडी विस्फोट हुआ। इससे सुरक्षा बल के 15 जवान घायल हो गए हैं। इसमें चार जवानों को काफी गंभीर चोट लगी है। मंगलवार की सुबह सीमावर्ती राय¨सदरी-बुरुटोला जंगल में नक्सलियों द्वारा लगाया गया इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आइईडी) विस्फोट हुआ। इस विस्फोट में कोबरा बटालियन व झारखंड जगुआर के 15 जवान घायल हो गए। पहले सभी घायलों को सुरक्षा बलों के जवानों ने पहाड़ी से स्ट्रेचर के जरिए नीचे उतारा गया। पहाड़ी के नीचे पुलिस के बेस कैंप में पहले से मौजूद चिकित्सकों की टीम ने घायलों का प्राथमिक उपचार किया। इसके बाद सभी को एंबुलेंस से करीब तीन किमी दूर खरसावां के महतो रिडींग गांव के स्कूल मैदान लाया गया। यहां से बीएसएफ के हेलीकॉप्टर से सभी घायलों को रांची भेजा गया। घायलों को खरसावां से रांची ले जाने के लिए हेलीकॉप्टर को कुल तीन फेरे लगाने पड़े। घायलों का रांची के मेडिका अस्पताल में सभी का इलाज किया जा रहा है।

चार गंभीर रूप से घायल
विस्फोट के चपेट में आने से चार जवानों को काफी गंभीर चोट लगी है। एक जवान के पैर व एक जवान के चेहरे पर चोट लगी है। रांची के मेडिका अस्पताल में घायलों को देखने के लिए राज्य के डीजीपी डीके पांडेय समेत कई पदाधिकारी पहुंचे। घटना की जानकारी मिलने के बाद ही सरायकेला के पुलिस अधीक्षक चंदन कुमार सिन्हा घटनास्थल पर पहुंचे। जंगल को चारों ओर से घेराबंदी कर ली गई है। कांबिंग में बड़ी संख्या में कोबरा बटालियन, झारखंड जगुआर, सीआरपीएफ, जिला पुलिस के जवानों को लगाया गया है। संभावना व्यक्त की जा रही है कि नक्सली घने जंगल का लाभ उठाकर भागने में कामयाब हो गये हैं। घटना के पिछले किस दस्ते का हाथ है और नक्सलियों की संख्या कितनी थी ? फिलहाल पुलिस ने बताने से इन्कार कर दिया। यहां तक की मीडिया कर्मियों को भी घटना स्थल की ओर जाने से रोक दिया गया।

पैर में तार फंसने से ब्लास्ट
घटना के संबंध में बताया जाता है कि कोबरा बटालियन व जगुआर के जवान एलआरपी कर रहे थे। इस दौरान राय¨सदरी जंगल के पास पैदल चलने के क्रम में पेड़ के पत्तों में फंसे तार में एक जवान का पैर फंस गया। इससे आइईडी ब्लास्ट हुआ और एलआरपी कर रहे जवान घायल हो गए।

खरसावां-कुचाई के जंगल में पिछले तीन दिनों से सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा था। इस दौरान मंगलवार की सुबह नक्सलियों ने विस्फोट कर दिया। इस विस्फोट में 15 जवान घायल हुए है। चार-पांच जवानों को ज्यादा चोट आई है। अन्य को मामूली चोट आई है। सभी को बेहतर इलाज के लिए रांची भेजा गया है। जिन जवानों को मामूली चोट आयी है, उन्हें भी इलाज के लिए भेजा गया है। पूरे जंगल की घेराबंदी कर ऑपरेशन चलाया जा रहा है।
- चंदन सिन्हा, एसपी, सरायकेला-खरसावां


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.