कानपुर एसपी सुरेंद्र दास का नानवेज खाने को लेकर पत्‍नी से हुआ था झगड़ा

2018-09-06T09:00:14+05:30

धार्मिक पर्व पर नानवेज खाने से मना करते थे आईपीएस सुरेंद्र दास। धार्मिक पर्व और विशेष दिन नानवेज खाने को लेकर हुआ था झगड़ा।

kanpur@inext.co.in
KANPUR : आईपीएस सुरेंद्र का पत्नी से छोटी-छोटी बात को लेकर झगड़ा होता था। जिसमें एक वजह नानवेज और वेज फूड थी। आईपीएस धार्मिक पर्व और विशेष दिनों पर नानवेज खाने से मना करते थे, लेकिन उनकी पत्नी हर दिन नानवेज खाती थी। जिस रात आईपीएस सुरेंद्र ने जहरीला पदार्थ खाया था। उस दिन भी विशेष दिन पर नानवेज खाने को लेकर दोनों में कहासुनी हुई थी। जो इतनी बढ़ गई थी कि आईपीएस ने जहरीला पदार्थ खा लिया।

यहां से हुई झगड़े की शुरुआत
आईपीएस सुरेंद्र दास धार्मिक और वेजिटेरियन है, जबकि उनकी पत्नी डॉ. रवीना सिंह नॉनवेज फूड खाने की शौकीन है। वह डेली नॉनवेज फूड खाती है। आईपीएस सुरेंद्र उन्हें धार्मिक पर्व और विशेष दिनों में नॉनवेज फूड खाने से मना करते थे, लेकिन डॉ. रवीना ने उनकी यह बात नहीं मानी और धार्मिक पर्व के दिन नॉनवेज खा लिया। जब आईपीएस ने धार्मिक पर्व का हवाला देकर उनको नानवेज खाने से मना किया तो पत्नी ने यह कहकर केएफसी से नानवेज फूड मंगवा लिया कि पूजा तो आपको करनी है। मुझे नहीं। इस पर आईपीएस की पत्नी से कहासुनी हो गई थी। इसके बाद भी डॉ. रवीना ने मंगलवार को पति की मर्जी के खिलाफ नानवेज फूड मंगवाकर खा लिया। इसी बात को दोनों में कहासुनी हुई और आईपीएस ने जहरीला पदार्थ खा लिया।

घर आए थे सास और ससुर
आईपीएस सुरेंद्र और उनकी पत्नी डॉ. रवीना का झगड़ा इतना बढ़ गया था कि रात 12.30 बजे आईपीएस की सास और ससुर को समझौता कराने वहां जाना पड़ा था। उनको डॉ. रवीना ने फोन कर बुलाया था। उन्होंने करीब एक घंटे तक दोनों के बीच पंचायत कराई। इसके बाद वे वहां से निकले थे। बताया जा रहा है कि समझौते में भी आईपीएस को ही पत्नी की बात माननी पड़ी थी। जिससे वह काफी आहत हो गए थे। इसी के बाद उन्होंने जहरीला पदार्थ खा लिया।

सीन री-कंस्ट्रक्शन कर सबूत जुटाए
एसएसपी अनंत देव ने गुरुवार को एसपी क्राइम के साथ एसपी ईस्ट के आवास में जाकर जांच की। उन्होंने कमरे में जाकर सीन री-कंस्ट्रक्शन कर हर पहलू को समझा। उन्होंने एसपी क्राइम को जांच सौंप दी है। साथ ही राइटिंग मिलाने के लिए सुसाइड नोट को एक्सपर्ट के पास भेज दिया गया। एसएसपी का कहना है कि पहले उनकी प्राथमिकता आईपीएस सुरेंद्र को बेहतर इलाज मुहैया कराने की है। जांच रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

मोबाइल किसने और क्यों तोड़ा?
पुलिस को आईपीएस सुरेंद्र के दोनों मोबाइल टूटे मिले है। साथ ही सुसाइड नोट फटा मिला है। पुलिस यह पता लगा रही है कि आईपीएस सुरेंद्र खुद मोबाइल तोड़ा है या किसी और ने तोड़ा है। इसके अलावा दो वाइस क्लिप के भी सामने आने की बात की जा रही है। जिसे रिकवर करने के लिए पुलिस मोबाइल को कब्जे में ले लिया है। यह वाइस क्लिप आईपीएस ने अपनी सास को भेजी थी। जिसमें उनकी पत्नी और एक दोस्त से बात की रिकार्डिंग है।

इलाज में अब तक 20 लाख खर्च
आईपीएस सुरेंद्र दास के इलाज में अब तक बीस लाख रुपये खर्च हो चुके है। एसएसपी अनंतदेव ने बताया कि पुलिस के पास रक्षा निधि होती है। इस निधि से इलाज का 70 प्रतिशत पैसा दिया जाएगा।

पत्नी को 'आई लव यू' कहकर कानपुर एसपी ने खाया जहर, पढ़ें क्या-क्या लिखा सुसाइड लेटर में

कानपुर एसपी सुरेंद्र दास ने गूगल पर खोजा था जान देने का तरीका


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.