कीनिया सुरक्षा बल काबिज़ फिर भी धमाके

2013-09-24T11:56:00+05:30

कीनिया में सुरक्षा बलों का कहना है कि उन्होंने वेस्टगेट शॉपिंग मॉल को चरमपंथियों से छुड़ा कर अपने नियंत्रण में ले लिया है हालांकि इसके बाद भी शॉपिंग मॉल से नए सिरे से धमाकों की आवाज़ें आई हैं

वेस्टगेट मॉल पर शनिवार को चरमपंथियों ने हमला कर दिया था जिसमें 62 लोगों की मौत हो गई और 170 से अधिक घायल हैं. अधिकारियों के मुताबिक़ 65 लोग अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं.
अधिकारियों के अनुसार इस अभियान में तीन चरमपंथी मारे गए हैं.
कीनिया के गृह मंत्री जॉसेफ़ ओल लेंकु इस बारे में जानकारी देते हुए कहा, ''कुछ चरमपंथी हो सकता है कि किसी स्टोर में छिपे हों या इधर-उधर भाग रहे हों लेकिन सभी फ्लोर हमारे नियंत्रण में हैं. उनके पास बच कर भागने का कोई रास्ता नहीं हैं.''
उन्होंने कहा कि इस बात की बहुत कम गुंजाइश है कि कुछ लोग अभी भी बंधक हैं.
ब्रिटेन के रक्षा मंत्री फ़िलिप हैमंड ने कहा कि उनके आकलन के मुताबिक हमले में छह ब्रितानी नागरिक मारे गए हैं.
अल-शबाब गुट
सोमालिया में सक्रिय चरमपंथी गुट अल-शबाब ने हमले की ज़िम्मेदारी लेते हुए कहा कि सोमालिया में कीनियाई सैन्य कार्वाई का बदला लेने के लिए शॉपिंग मॉल को निशाना बनाया गया है.
कीनिया के उप राष्ट्रपति विलियम रोटू ने कहा कि मुल्क ने ये साबित कर दिया है कि आतंकवाद को शिकस्त दी जा सकती है.
उन्होंने कहा कि वो राष्ट्रपति और कीनिया के नागरिकों के साथ उन लोगों का शोक मनाना चाहते हैं, जो इस हमले की भेंट चढ़ गए.
ऐसी ख़बरें थी कि सोमालिया के अल-शबाबा गुट के इस्लामी चरमपंथी हमले के लिए ज़िम्मेदार हैं. लेकिन इसकी जांच जारी है.
तीन दिनों पहले हुए इस हमले के बाद से शहर के लोगों ने सेना और पुलिस की भरपूर मदद की. लोगों ने पुलिस और सेना के लिए खाना और चिकित्सा सेवाएं भी पहुंचाई.
अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि अमरीका, कीनियाई अधिकारियों की पूरी मदद कर रहा है. अमरीकी सहायता पाने वाले अफ़्रीक़ी देशो में कीनिया एक प्रमुख देश है.

'लोगों में भय का माहौल है'

इन्हीं में से एक भारतीय मूल की अंजलि शाह ने बीबीसी से बातचीत के दौरान कहा, ''सोमावार को सुबह सात बजे से मैं वहाँ पर थी. सुबह कुछ ख़ास नहीं था. सोमवार से पहले सिर्फ़ गोलियों की आवाज़ें आ रहीं थीं, धमाकों की नहीं. लेकिन सोमवार दोपहर को लगभग एक बजे मॉल के अन्दर से बहुत बड़े धमाके की आवाज़ आई. ऐसा लगा कि उन्होंने हथगोला फेंका. ये नहीं पता कि मॉल के किस माले पर धमाका हुआ था, फिर लगभग पाँच मिनट बाद दूसरा धमाका हुआ. तभी से आग लगी और धुंआ निकलने लगा.''
अंजलि के अनुसार मॉल तक जाने के सभी रास्ते बंद कर दिए गए हैं और मॉल के पास नागरिकों को नहीं जाने दिया जा रहा है.
उन्होंने कहा कि अंदर से जिन्हें बचा कर बाहर लाया जा रहा था उन लोगों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे और ज़्यादातर लोगों के पैर में गोलियाँ लगी थीं.
'विश्वास करना मुश्किल'
उन्होंने कहा कि शनिवार की रात को विभिन्न सेवाओं से लगभग 500 से ज़्यादा  कर्मचारी मौजूद थे.
अंजलि के अनुसार इस हमले से शहर में सभी को बहुत बड़ा झटका लगा है और ये विश्वास करना मुश्किल हो रहा है कि उनके शहर पर इतना  बड़ा हमला हुआ है.
उन्होंने कहा कि दुःख की इस घड़ी में सब लोग एकजुट हो गए हैं और सेना और पुलिस की मदद की लिए स्वंयसेवी आगे आ रहे हैं.
वेस्टगेट के इलाक़े में दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद हैं. शहर के बाक़ी हिस्सों में सोमवार को कुछ व्यापारिक प्रतिष्ठान खुले.
वेस्टगेट मॉल अंदर से बहुत सुंदर बना हुआ था. मॉल में डिज़़ाइनर परिधानों की दुकानें थीं.
बातचीत में अंजलि ने कहा, ''मेरा बहुत बार वेस्टगेट मॉल जाना हुआ है. शनिवार सुबह भी मैं मॉल गई थी. ये चार मंज़िला मॉल है. चौथी मंज़िल पर स्विमिंग पूल और जिम है. तीसरे तल पर सिनेमा हॉल. बेसमेंट में दुमंजिला पार्किंग है.''
उनके अनुसार मॉल में एक समय पर 1200 से 1500 लोग मौजूद रह सकते हैं


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.