Live Lok Sabha Election Results 2019 पप्पू यादव नहीं बचा सके जमानत जानें चुनाव में किस्मत आजमा रहे बाहुबली और उनके रिश्तेदार प्रत्याशियों का हाल

2019-05-24T08:02:54+05:30

लोकसभा चुनाव 2019 के परिणाम का बेसब्री से इंतजार है। इस चुनाव में बिहार और उत्तर प्रदेश के बाहुबली व उनकी पत्नियों ने भी हिस्सा लिया है। गाजीपुर सीट पर अफजाल अंसारी आगे और मधेपुरा सीट पर पप्पू यादव पीछे हैं।

कानपुर। आज यानी कि 23 मई को लोकसभा चुनाव 2019 का रिजल्ट जारी होगा। लोगों को इसके परिणाम का बेसब्री से इंतजार है। हर बार की तरह इस चुनाव में भी बिहार और उत्तर प्रदेश के कुछ बाहुबली व उनकी पत्नियों या बेटों ने हिस्सा लिया है। बाहुबली कैंडिडेट के तौर पर प्रसिद्ध राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव इस चुनाव में जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) की तरफ से चुनावी मैदान में हैं। एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक, पप्पू यादव पर 31 आपराधिक मामले दर्ज हैं। इसी तरह कुछ क्षेत्रों में बाहुबलियों की जगह उनकी पत्नियों ने हाथ आजमाया है।

राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव
बाहुबली कैंडिडेट और जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) पार्टी के प्रमुख राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव इस बार भी मधेपुरा सीट से मैदान में उतरे हैं। पप्पू यादव पर आपराध के 31 मामले दर्ज हैं। इस सीट पर एनडीए की तरफ से पप्पू को टक्कर देने के लिए जदयू के दिनेश चंद्र यादव, जबकि महागठबंधन की ओर से शरद यादव (राजद) चुनाव लड़ रहे हैं। इस सीट पर दिनेश चंद्र यादव पहले नंबर पर आगे बढ़ रहे हैं, वहीं शरद यादव दूसरे नंबर पर हैं। इस सीट पर पप्पू यादव को करारी हार मिली है। पप्पू यादव को 97631 वोट मिले हैं।

इमरान मसूद

बाहुबली कैंडिडेटों में से एक इमरान मसूद उत्तर प्रदेश की सहारनपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। इस सीट पर महागठबंधन की ओर से बहुजन समाज पार्टी के हाजी फजलुर्रहमान और बीजेपी की ओर से राघव लखन पाल मैदान में हैं। इमरान मसूद पर अपराध के आठ मामले दर्ज हैं। इस सीट पर हाजी फजलुर्रहमान पहले नंबर पर हैं, वहीं राघव लखन पाल दूसरे नंबर पर हैं। इमरान मसूद इस सीट पर हार गए हैं। इमरान मसूद को 207068 वोट मिले हैं।
अफजाल अंसारी
अफजाल अंसारी इस बार उत्तर प्रदेश के गाजीपुर सीट से चुनावी मैदान में हैं। इन्हें बसपा (महागठबंधन) ने टिकट दिया है। इस सीट पर इनके खिलाफ एनडीए की तरफ बीजेपी के मनोज सिन्हा और कांग्रेस की ओर से अजित प्रताप कुशवाहा उतरे हैं। अफजाल अंसारी के खिलाफ अपराध के पांच मामले दर्ज हैं। इस सीट पर अफजाल अंसारी 566082 वोटों से जीत गए हैं।
अमरनाथ यादव, कविता सिंह और हीना शहाब
अमरनाथ यादव का नाम भी बाहुबली कैंडिडेटों में शुमार है। इस बार यह सीवान लोकसभा सीट से सीपीआई माले (माले) की टिकट पर मैदान में उतरे हैं। अमरनाथ यादव पर अपराध के 12 मामले दर्ज हैं। इस सीट पर मुकाबला काफी जबरदस्त है क्योंकि यहां से दो बाहुबली की पत्नियां भी मैदान में हैं। अमरनाथ के खिलाफ सीवान सीट पर बाहुबली नेता शहाबुद्दीन की पत्नी हीना शहाब (राजद) और अजय सिंह की पत्नी कविता सिंह (जदयू) चुनाव लड़ रही हैं। बता दें कि कविता सिंह पर अपराध के चार मामले दर्ज हैं। इस सीट पर कविता सिंह 116958 वोटों से जीत गई हैं हैं।
बृज भूषण शरण सिंह
बृज भूषण शरण सिंह इस बार भी कैसरगंज सीट से मैदान में हैं। इस बार भी वह बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। वह 2014 में भी 16वीं लोकसभा के लिए कैसरगंज से सांसद चुने गए थे। वह इससे पहले भी चार बार सांसद बन चुके हैं। बृज भूषण शरण सिंह पर अपराध के चार मामले दर्ज हैं। बता दें कि इस सीट पर बृज भूषण शरण सिंह का मुकाबला बीएसपी (महागठबंधन) के चंद्रदेव राम यादव और कांग्रेस के विनय कुमार पांडे से है। इस सीट पर बृज भूषण शरण सिंह जीत गए हैं। इस सीट पर बृज भूषण शरण सिंह को 581358 वोट मिले हैं।
कुशल तिवारी
बाहुबली नेता हरी शंकर तिवारी के बेटे भीष्म शंकर तिवारी उर्फ कुशल तिवारी इस बार संत कबीर नगर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। हालांकि, कुशल तिवारी के खिलाफ एक भी आपराधिक मामला दर्ज नहीं है लेकिन इनके पिता हरी शंकर तिवारी एक समय में उत्तर प्रदेश के बाहुबली नेताओं में शुमार रहे हैं। संत कबीर नगर लोकसभा सीट पर  कुशल तिवारी का मुकाबला बीजेपी के प्रवीन कुमार निषाद और कांग्रेस के भालचंद्र यादव से है। इस सीट पर प्रवीन कुमार निषाद जीते हैं, वहीं कुशल तिवारी हार गए हैं। कुशल तिवारी को 431794 वोट मिले हैं।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.