लोकसभा चुनाव 2019 चुनाव आयोग ने बनाए ये मोबाइल ऐप हेल्पलाइन नंबर पर कर सकते हैं काॅल

2019-03-16T10:41:34+05:30

निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए निर्वाचन आयोग ने कई मोबाइल एप का सहारा लिया है

- चुनाव का बिना किसी व्यवधान कराने के लिए चुनाव आयोग ने लांच किए कई एप

- एप से मतदाता बताएंगे शिकायत तो अधिकारी भी पहुंचाएंगे हर जानकारी

sunil.yadav@inext.co.in
LUCKNOW : इस बार निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए निर्वाचन आयोग ने कई मोबाइल एप का सहारा लिया है. इन एप के सहारे मतदाता चुनाव की सभी जानकारियां तो हासिल कर ही सकेंगे साथ ही अपने वोट और मतदान केंद्र की जानकारी भी हासिल कर सकते हैं. आइए हम आपको कुछ ऐसे ही एप के बारे में बताते हैं..

एप- आब्जर्वर एप
काम- पर्यवेक्षक अपनी रिपोर्ट चुनाव आयोग के पास भेजेंगे.

विशेषता- फोटो, वीडियो और डाक्यूमेंट अपलोड करने की सुविधा
इस एप से चुनाव प्रक्रिया में तैनात अधिकारी, पुलिस के अधिकारी उम्मीदवारों के खर्च और नियम पालन की रिपोर्ट आयोग को भेजेंगे. इसके साथ ही इससे संबंधित अधिकारियों को उनकी तैनाती आदि की जानकारी भी आसानी से दी जाएगी. इस एप में चुनाव प्रक्रिया से संबंधी फोटो, वीडियो और अन्य डाक्यूमेंट अपलोड किए जा सकेंगे. यही नहीं आचार संहिता के उल्लंघन की रिपोर्ट करने वाला सी विजिट एप भी इससे जुड़ा रहेगा.

एप- सी विजिट
काम- आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत.
विशेषता- शिकायत के लिए चुनाव आयोग जाने की जरूरत नहीं होगी.
इस एप से अब बिना चुनाव आयोग जाकर ही आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत आसानी से कर सकेंगे. सिटिजन विजिल एप में आचार संहिता के उल्लंघन से संबंधित तस्वीरें, वीडियो आदि भी अपलोड कर कुछ ही सेकंड में आयोग तक पहुंच जाएंगे. जिससे आयोग इन मामलों को अपने संज्ञान में ले सकेगा. यह एप तब तक काम करेगा, जब तक आचार संहिता लागू रहेगी. आयोग का दावा है कि इस एप पर शिकायत करने पर 100 मिनट के अंदर कार्रवाई की सूचना भी दी जाएगी.

एप - वोटर हेल्पलाइन एप
काम- इससे वोटर लिस्ट में नाम जुड़वा सकते हैं

विशेषता- लिस्ट में नाम के लिए किसी ऑफिस के चक्कर नहीं लगाने होंगे
इस मोबाइल एप से मतदाता अपना नाम वोटर लिस्ट में जुड़वा सकते हैं. वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाने के लिए उसे किसी आफिस के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे. इससे ऑनलाइन फार्म भरकर अपने आवेदन की जानकारी ले सकते हैं. वोटर लिस्ट से संबंधित किसी भी तरह की जानकारी इससे हासिल की जा सकती है.

एप- पीडब्ल्यूडी एप
काम- दिव्यांग व्यक्तियों की सहायता के लिए

विशेषता- दिव्यांग के सूचना देने पर व्हील चेयर की होगी व्यवस्था
यह एप दिव्यांग व्यक्तियों को ध्यान में रखकर बनाया गया है. इस एप से घर बैठे ही दिव्यांग नया रजिस्ट्रेशन तो करा ही सकते हैं साथ ही घर के पते आदि में बदलाव भी करा सकते हैं. इस एप पर अगर दिव्यांग मतदान केंद्र जाने में सक्षम न होने की जानकारी देंगे तो बूथ लेवल अधिकारी उनके लिए व्हील चेयर की भी व्यवस्था करेंगे.

एप- सुविधा एप
काम- जुलूस, कार्यालय आदि खोलने की परमिशन देना

विशेषता- इस एप का लाभ चुनाव में खड़े उम्मीदवार ही ले सकते हैं
इस एप से उम्मीदवार जुलूस, वाहन, कैंप कार्यालय आदि खोलने की ऑनलाइन मंजूरी ले सकते हैं. इस एप के आने से अब कैंडीडेट्स को चुनाव आयोग के दफ्तरों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे. हालांकि इसके लिए उम्मीदवारों को पहले आयोग की वेबसाइट पर जाकर परमिशन लेनी होगी. इसके बाद ही वे इसे अपने मोबाइल पर डाउनलोड कर सकेंगे.

एप- समाधान पाेर्टल
काम- चुनाव आयोग तक पहुंचाएं अपनी समस्याएं
विशेषता- चुनाव के बाद आयोग तक अपने सुझाव भी पहुंचाएं
इस पोर्टल से आप न केवल चुनाव के दौरान बल्कि चुनाव के बाद भी अपनी समस्याएं सीधे चुनाव आयोग तक पहुंचा सकते हैं. आपकी शिकायत संबंधित चुनाव अधिकारी तक पहुंचेगी और उस पर एक्शन भी लिया जाएगा.

इन नंबरों का रखें ध्यान

मतदाता हेल्पलाइन नंबर- 1950

टोल फ्री नंबर- 18001801950

एसएमएस से बूथ की जानकारी- 9212357123


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.