मेनका गांधी सबसे अमीर धीरेंद्र सिंह पर सबसे ज्यादा केस ये है छठे चरण के प्रत्याशियों की डिटेल

2019-05-08T09:02:29+05:30

एडीआर ने छठे चरण के चुनाव में उम्मीदवारों पर रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट के मुताबिक इस चरण में प्रत्याशियों की औसत संपत्ति 3 64 करोड़ है और इस चरण में सबसे कम महिला उम्मीदवार है। वहीं 57 फीसदी उम्मीदवार स्नातक और 66 फीसदी उम्मीदवार युवा है। यहां पढ़ें उम्मीदवारों की पूरी डिटेल

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : यूपी में छठे चरण के लोकसभा चुनाव में सुलतानपुर से बीजेपी की उम्मीदवार केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी सबसे अमीर प्रत्याशी हैं। जौनपुर से कांग्रेस उम्मीदवार देवव्रत मिश्र दूसरे  व सुलतानपुर से ही कांग्रेस उम्मीदवार डॉ. संजय सिंह तीसरे नंबर पर सर्वाधिक अमीर उम्मीदवार हैं। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉम्र्स द्वारा जारी रिपोर्ट के मुताबिक श्रावस्ती से कांग्रेस उम्मीदवार धीरेंद्र प्रताप सिंह पर सर्वाधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं। सभी उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 3.64 करोड़ रुपये है। वहीं, इस चरण में सबसे कम 14 महिला उम्मीदवार ही मैदान में हैं।

16 प्रत्याशियों ने नहीं दिया पैन नंबर
एडीआर के यूपी प्रमुख संजय सिंह ने बताया कि छठे चरण के 14 में 13 लोकसभा क्षेत्रों सुलतानपुर, आजमगढ़, मछलीशहर, प्रतापगढ़, फूलपुर, संतकबीरनगर, भदोही, श्रावस्ती, डुमरियागंज, लालगंज, बस्ती, इलाहाबाद और अंबेडकरनगर से चुनाव लड़ रहे 177 में 172 उम्मीदवारों के शपथपत्रों का विश्लेषण किया है। बताया कि सुलतानपुर के राजकुमार, प्रतापगढ़ के मोहम्मद इरशाद, डुमरियागंज के मोहम्मद इरफान, मछलीशहर के दीपचंद्र राम और गरीब का शपथ पत्र स्पष्ट न होने से उनका विश्लेषण नहीं हो पाया है। संजय सिंह ने बताया कि 16 उम्मीदवारों ने अपना पैन नंबर घोषित नहीं किया है। 65 (38 फीसदी) उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता पांचवीं और 12वीं के बीच घोषित की है जबकि 98  (57 फीसदी) उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता स्नातक या इससे ज्यादा घोषित की है। सात उम्मीदवार साक्षर और एक उम्मीदवार निरक्षर हैं। इस चरण के 144  (66 फीसदी) उम्मीदवारों ने अपनी आयु 25 से 50 वर्ष के बीच घोषित की है जबकि 55 (32 फीसदी) उम्मीदवारों ने अपनी आयु 51 से 80 वर्ष के बीच घोषित की है। एक उम्मीदवार 80 वर्ष से ऊपर के हैं।

संगीन अपराध के उम्मीदवारों में छह फीसद की कमी

छठे चरण में 172 में 36 उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले जबकि 29 उम्मीदवारों ने अपने ऊपर गंभीर आपराधिक मामले घोषित किये हैं। गंभीर आपराधिक मामलों के उम्मीदवारों का प्रतिशत 17 है जबकि सर्वाधिक पांचवें चरण में 23 फीसदीी उम्मीदवारों पर गंभीर आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। इस तरह छह फीसदीी की कमी आयी है। संजय सिंह ने बताया कि उम्मीदवारों द्वारा घोषित आपराधिक मामलों में पहले स्थान पर श्रावस्ती के धीरेंद्र प्रताप सिंह पर आठ मुकदमे और 11 गंभीर धाराएं दर्ज हैं। दूसरे पर सुलतानपुर से प्रगतिशील समाजवादी पार्टी की कमला देवी हैं जिनके ऊपर पांच मुकदमे और 13 गंभीर धाराएं हैं। तीसरे पर जनसत्ता दल लोकतांत्रिक से प्रतापगढ़ के अक्षय प्रताप सिंह हैं, जिनके ऊपर चार मुकदमे और नौ गंभीर धाराएं दर्ज हैं।
पांचवे चरण में संगीन अपराध करने वालों को खूब टिकट, 64 करोड़पतियों में पूनम सिन्हा सबसे अमीर
मेनका गांधी को चुनाव आयोग ने दी चेतावनी
मेनका 55 करोड़ की मालकिन

सबसे ज्यादा संपत्ति वाले उम्मीदवारों में सुलतानपुर से बीजेपी उम्मीदवार मेनका संजय गांधी हैं जिन्होंने अपनी संपत्ति 55.69 करोड़ बताई है। दूसरे स्थान पर जौनपुर के कांग्रेस उम्मीदवार देवव्रत मिश्रा की संपत्ति 51.09 करोड़ है जबकि तीसरे स्थान पर सुलतानपुर के ही कांग्रेस उम्मीदवार डॉ. संजय सिंह की संपत्ति 41.11 करोड़ रुपये है। वहीं, सबसे कम संपत्ति वाले उम्मीदवार मछलीशहर से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे गंगाराम हैं जिनकी कुल संपत्ति 28 हजार है। फूलपुर से मौलिक अधिकार पार्टी से लड़ रहे राम लखन चौरसिया के पास 41 हजार और जौनपुर से राष्ट्रीय जन गौरव पार्टी के सुनील कुमार की संपत्ति 50 हजार रुपये है।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.