निकलें घर से मिटा दें कलंक

2019-05-12T06:01:02+05:30

4491886

कुल वोटर

2034498

महिला वोटर

2456901

पुरुष वोटर

487

थर्ड जेंडर

63480

नए मतदाता

4938

कुल बूथों की संख्या

2198

मतदान केंद्र

21722

कुल लगाए गए मतदान कर्मी

02

लोकसभा सीटों की संख्या

28

उम्मीदवार हैं दोनो सीटों पर

07

बजे सुबह शुरू होगी वोटिंग

06

बजे शाम तक पोलिंग बूथ पहुंच जाने वाले डाल सकेंगे वोट

प्रयागराज की दो लोकसभा और भदोही लोकसभा के दो विधानसभा सीटों पर आज पड़ेंगे वोट

44 लाख से अधिक मतदाता करेंगे अपने मतों का उपयोग

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: लोकतंत्र का महापर्व संड को होगा। प्रयागराज के वाशिंदों के लिए अपनी जिम्मेदारी निभानके साथ शहर के लोगों के पास कलंक मिटाने का गोल्डन चांस है। प्रशासन की तरफ से पूरी व्यवस्था कर दी गयी है। मतदानकर्मी पोलिंग बूथों पर शनिवार की देर शाम तक पहुंच गये। सुरक्षा बलों ने मोर्चा संभाल लिया। अब जनता की बारी है कि वह लोकतंत्र के इस उत्सव में बढ़-चढ़कर हिस्सा ले।

सबसे कम मतदान का कलंक

प्रयागराज के शहरी एरिया की विधानसभाओं में सबसे कम वोटिंग का कलंक लगा हुआ है। स्पेशली शहर उत्तरी विधानसभा के माथे पर यह कलंक प्रदेश के सबसे कम वोटिंग परसेंटेज वाली विधानसभा के रूप में लगा हुआ है। इस कलंक को हमेशा के लिए मिटाने को सभी काम बाद में, पहले करिए मतदान का फॉर्मूला अपनाएं। आज चूके तो अगले पाच साल आप को सरकार के बारे में बोलने का कोई हक नही होगा।

मतदान के एक घंटे पूर्व मॉकपोल

प्रत्येक पोलिंग स्टेशन पर मतदान के एक घंटे पहले मॉकपोल होगा। फिर सात बजे से मतदान शुरू होगा। मतदान के उपरांत पोलिंग पार्टी द्वारा वोटिंग मशीन एवं अन्य अभिलेखों को मुंडेरा मंडी में जमा कराएंगे.किए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है।

देखते ही गोली मारने के आदेश

शांतिपूर्वक मतदान संपन्न कराने के लिए पूरे जिले में धारा 144 लगाए जाने के साथ मतदान में गड़बडी फैलाने वाले तत्वों को देखते ही गोली मार देने के निर्देश दिए गए हैं। शहरी क्षेत्रों में मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए मतदाता को अपने निजी वाहनों से पूर्वान्ह 10 बजे तक मतदान केंद्र से निर्धारित दूरी तक जाने की छूट दी गई है।

ऐसे हासिल करें मोबाइल पर मतदाता पर्ची

गूगल एप पर जाकर वोटर हेल्पलाइन टाइप करें।

इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया का वोटर हेल्प लाइन एप डाउनलोड करें।

सर्च योर नेम इन इलेक्ट्रल रोल पर क्लिक करें

क्लिक करते ही सर्च बाई डिटेल्स, सर्च बाई एपिक नंबर और सर्च बाई बारकोड का ऑप्शन आ जाएगा।

सर्च बाई एपिक नंबर से पर्ची का पता लगाना ज्यादा आसान है

एपिक नंबर सर्च करते ही मतदान केंद्र का पूरा डिटेल सामने आ जाएगा।

वोटर कार्ड नही है तो रखनी होगी आईडी

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि वोटर पर्ची केवल बूथ और वोटर लिस्ट में क्रमांक में होगी। बीएलओ के माध्यम से मिल रही फोटोयुक्त वोटर पर्ची के साथ वोटरों को अपनी पहचान के लिए एक फोटोयुक्त पहचान पत्र जरूर रखना होगा। वोटर आईडी है तो सबसे अच्छा। मतदाता पहचान पत्र न होने पर 11 विकल्प दिये गये हैं।

पहचान के 11 दस्तावेज

पासपोर्ट

ड्राइविंग लाइसेंस

पैन कार्ड

आधार कार्ड

मनरेगा जॉब कार्ड

फोटोयुक्त पेंशन के कागजात

राज्य व केन्द्र सरकार व पब्लिक लिमिटेड कम्पनी के कर्मचारियों को विभाग की ओर से जारी सेवा पहचान पत्र

बैंक व पोस्ट ऑफिस की ओर से जारी फोटोयुक्त पासबुक

नेशनल पापुलेशन रजिस्टर के तहत आरजीआई द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड

श्रम मंत्रालय की ओर से स्वास्थ्य बीमा के लिए जारी स्मार्ट कार्ड व एमपी, एमएलए और एमएलसी को जारी किए गए आधिकारिक पहचान पत्र।

inextlive from Allahabad News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.