रंगों से चमक सकते हैं आपके सितारे राशि अनुसार जानें अपना लकी कलर

2018-09-21T05:35:29+05:30

आइए आज पंडित चक्रपाणि पाण्डेय से जानते हैं कि किस राशि के जातक के लिए कौन सा रंग उसके भाग्योदय में सहायक हो सकता है।

ज्योतिष स्वाभाविक रूप में एक ऐसा शास्त्र है, जो भौतिक परिस्थियों, मानसिक स्थितियों तथा चेतना के संयोग से जीवन को समग्रता की ओर ले जाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। मनुष्य की प्रगति में 12 राशियों के स्वामी ग्रहों तथा उनसे संबंधित रंगों का भाग्योदय में महत्वपूर्ण योगदान होता है।

आइए आज पंडित चक्रपाणि भट्ट से जानते हैं कि किस राशि के जातक के लिए कौन सा रंग उसके भाग्योदय में सहायक हो सकता है।

मेष

मेष राशि का स्वामी मंगल होता है और इसका लकी कलर सिंदूरी लाल होता है।

वृष

वृष राशि का स्वामी शुक्र होता है और पारदर्शी श्वेत रंग ऐसे जातकों के भाग्योदय में सहायक होते हैं।

मिथुन

मिथुन राशि का स्वामी बुध है, इन राशि के लोगों के लिए लकी कलर हरा है।

कर्क

कर्क राशि का स्वामी चंद्रमा है, इस राशि का लकी कलर दूधिया सफेद है।

सिंह


सिंह राशि के लोगों के लिए लाल रंग लकी होता है क्योंकि सिंह का स्वामी सूर्य होता है।

कन्या

कन्या राशि का स्वामी बुध होता है, इनका लकी कलर हल्का हरा है।

तुला

तुला राशि के लोगों के भग्योदय में सफेद रंग सहायक हो सकता है क्योंकि इनका स्वामी शुक्र होता है जिसे सफेद वस्तुदं पसंद होती हैं।

वृश्चिक

वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल होता है, ऐसे जातकों को लाल रंग का इस्तेमाल करना चाहिए।

धनु

धनु राशि के लिए लकी कलर पीला होता है। अगर ये अपने दैनिक जीवन में इस रंग का अधिक उपयोग करते हैं तो उनके भाग्योदय में यह सहायक हो सकता है। इस राशि का स्वामी बृहस्पति है।

मकर


मकर राशि का स्वामी शनि है, इस राशि के लोगों के लिए लकी कलर काला और नीला है।

कुम्भ

कुम्भ राशि का भी स्वामी शनि है, लेकिन इस राशि के लिए बैंगनी लकी कलर होता है।

मीन

मीन राशि के लोगों के लिए लकी कलर पीला और सफेद होता है। इस राशि का स्वामी बृहस्पति होता है।

इसके अतिरिक्त दो ग्रह राहु और केतु छायाग्रह की श्रेणी में रखे गए हैं जो शनि के द्वारा संचालित होते हैं किन्तु इनके रंग लग होते हैं।

राहु का रंग कुण्डली में भावानुसार काला, नारंगी एवं हल्दी पीला होता है। केतु का रंग सागरीय नीला होता है।

राशि के अनुसार ही हमें कपड़ों के रंग का भी चुनाव करना चाहिए। उसी रंग या उनके शेड्स रंगों का इस्तेमाल करते हुए पर्दे, चादर तथा रूमाल का चयन करने से सोया हुआ भाग्य भी जागृत हो जाता है।

 

राशि के अनुसार जानें कितना मजबूत है आपका मनोबल, ये आसान उपाय होंगे कारगर

23 को है अनंत चतुर्दशी, जानें कब से शुरू हो रहा है पितृपक्ष


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.