तोड़ दो ट्रैफिक नियम जुर्माना क्या करेगा

2019-06-07T06:00:44+05:30

-तीन सवारी का पैशन, बिना हेलमेट बाइक चलाने का शौक

-काली फिल्म, वाहन चलाते समय मोबाइल फोन करते यूज

GORAKHPUR:

सरकार ने ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों खासकर हेलमेट न पहनने पर जुर्माना बढ़ा दिया है। कैबिनेट में प्रपोजल को मंजूरी मिल चुकी है। जल्द इसका गवर्नमेंट आर्डर भी जारी हो जाएगा। लेकिन जुर्माना चाहे जितना बढ़ता चला जाए, इसका असर यहां के लोगों पर नहीं पड़ने वाला है। रोजाना चलने वाले अभियान में ट्रैफिक पुलिस चालान काटकर लोगों से भारी जुर्माना वसूल रही। फिर लोग सुधरने का नाम नहीं ले रहे। एसपी ट्रैफिक का कहना है कि हम आधे से अधिक लोगों को हेलमेट पहनाने में कामयाब रहे हैं। लेकिन शहर में आज जो हालत दिख रही उससे नहीं लगता कि लोगों में जुर्माने का कोई ख्ाौफ है।

हर 10 में पांच से छह बिना हेलमेट, महिलाएं बेफिक्र

सीन एक

कचहरी चौराहा

दिन- बुधवार

समय- दोपहर 1:20 बजे

कचहरी के करीब होने से इस चौराहे पर ज्यादा ट्रैफिक मिला। विजय चौक, घंटाघर, रेती चौक और जिला महिला अस्पताल की तरफ जाने वालों की तादाद नजर आई। इस चौराहे पर ट्रैफिक केदरोगा, दीवान और अन्य कर्मचारी रहते हैं। लेकिन इसके बावजूद लोग आराम से ट्रैफिक नियमों की धज्जियां उड़ाते नजर आए। इस चौराहे पर मौजूद पुलिस कर्मचारी भी लोगों को ट्रैफिक नियम तोड़ते देखकर आंख मूंदे हुए थे।

सीन दो

दिन- गुरुवार

गणेश चौराहा

समय- शाम 3:40 बजे

दैनिक जागरण आई नेक्स्ट की टीम गणेश चौराहे पर दस मिनट से ज्यादा समय तक खड़ी रही। यहां गुजरने वाले वाहनों की तादाद भी तीन से साढ़े तीन सौ के बीच रही। इस चौराहे के आसपास दुकान, सिनेमा रोड होने से ज्यादातर बाइक सवार बिना हेलमेट पहने वाहन चलाते मिले।

शास्त्री चौराहा

सीन- तीन

गुरुवार

समय- शाम 4 बजे

यहां आज काफी ट्रैफिक मिला। 10 मिनट के अंदर 300 वाहन गुजर गए। इनमें डेढ़ सौ से अधिक अधिक बाइक-स्कूटी सवार बिना हेलमेट के फर्राटा भर रहे थे। हेलमेट की जगह टोपी और गमछा से मुंह बांधे लोग नजर आए तो स्कूटी चला रही युवतियों ने दुपट्टे को सिर की सुरक्षा का माध्यम बना रखा था। आगे निकलने की होड़ में कोई भी ट्रैफिक नियमों का पालन नहीं कर रहा था।

सीन- चार

बेडकर चौराहा

दिन- गुरुवार

समय- शाम 4:10 बजे

ईद की छुट्टी के बाद शहर में ट्रैफिक का दबाव था। जाम लगने की संभावना में सुबह चौकस व्यवस्था की गई थी। चौराहों पर पुलिस कर्मचारी जहां-तहां वाहन चेकिंग सहित अन्य रूटीन वर्क में बिजी थे। लेकिन इस चौराहे पर करीब 10 मिनट के भीतर करीब 350 वाहन गुजरे। इनमें सबसे ज्यादा तादाद बाइक सवारों की थी। हर 10 बाइक सवार में महज तीन लोगों के सिर पर हेलमेट नजर आया। कारों में सीट बेल्ट और मोबाइल फोन पर बात करना आम बात थी।

तो और कमाएगी ट्रैिफक पुलिस

ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई में गोरखपुर ट्रैफिक पुलिस नहीं हिचकती है। हर साल पुलिस की कमाई का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। यदि कमाई घटी है तो कार्रवाई में कोई कमी नहीं आई है। लोग जुर्माना भरते हुए फर्राटा भरने में अपनी शान समझ रहे हैं। पुलिस से जुड़े लोगों का कहना है कि चालान की फीस महंगी होने पर कमाई बढ़ जाएगी। अभी तक जहां हमारी इनकम लाखों में होती थी। वह अब करोड़ पार कर जाएगी।

महिलाएं भी नहीं मानती कोई िनयम-कानून

शहर में महिलाओं को भी अपने जान की फिक्र नहीं है। स्कूटी चलाने वाली ज्यादातर महिलाएं और युवतियां सिर्फ मुंह पर कपड़ा बांधकर निकल पड़ती हैं। हेलमेट पहनने से जहां उनके बाल खराब हो जाएंगे। वहीं, तीन सवारी चलने में उनको कोई परहेज नहीं है। शहर में ट्रैफिक पुलिस महिला वाहन चालकों से कोई टोका-टाकी नहीं करती। इसलिए ये खूब ट्रैफिक नियम तोड़ रही हैं। शहर में यह जरूर दिखा कि जहां हर 10 में पांच से छह लोग बिना हेलमेट पहने बाइक चला रहे हैं। उनमें दो से तीन महिलाएं जरूर शामिल हैं। बिना हेलमेट बाइक चलाने के अलावा गाड़ी का कोई पेपर नहीं रखना और काली फिल्म लगाकर चलने में लोग अपनी शान समझ रहे हैं।

जुर्म पहले अब

बिना हेलमेट वाहन चलाना 100 500

दूसरे को डीएल देना 100 500

डीएल नहीं होना 100 500

वाहन चलाते समय हेडफोन 100 500

वाहन चलाते समय मोबाइल 100 500

ट्रैफिक सिग्नल तोड़ना 100 300

ट्रिपलिंग सवारी 100 300

कार में सिल्ट बेल्ट न लगाना 100 500

बिना नंबर प्लेट वाहन चलाना 100 300

(नोट- एक ही अपराध दो बार करने पर जुर्माना की रकम डबल हो जाएगी)

ऐसे हुई कार्रवाई, इतना कमाया जुर्माना

वर्ष चालान जुर्माना की रकम

2019 मई माह 21543 2401400

2018 18975 4929150

मई में इस तरह से हुई कार्रवाई

लोकसभा इलेक्शन की व्यवस्तता के बावजूद ट्रैफिक पुलिस ने मई में जमकर अभियान चलाया। इस दौरान जितनी जांच हुई। उसमें बिना डीएल के वाहन चलाने वाले अव्वल रहे तो दूसरे नंबर पर बिना हेलमेट के बाइक राइडर्स रहे। सभी का ऑनलाइन चालान काटकर ट्रैफिक पुलिस जुर्माना वसूलने की प्रक्रिया में जुटी है।

जुर्म चालान

बिना डीएल के वाहन चलाना 1252

बिना हेलमेट बाइक चलाना 1108

खतरनाक तरीके से वाहन पार्किग 1073

डायरेक्शन का पालन न करना 815

तीन सवारी बाइक चलाना 422

खतरनाक तरीके से वाहन चलाना 368

बिना नंबर प्लेट, गलत नंबर पर वाहन चलाना 189

बिना सीट बेल्ट बांध फोर व्हीलर चलाना 119

झूठी जानकारी पड़ सकती है भारी

शहर में वाहन चेकिंग के दौरान गलत सूचना देना भारी पड़ सकता है। ऑनलाइन चालान प्रक्रिया में जब कार्रवाई हो रही है तो इसमें किसी तरह की गड़बड़ी पर व्हीकल ऑनर्स को दौड़ भाग करनी पड़ रही। चालान के दौरान कुछ लोग गलत नाम बता देते हैं्। लेकिन इससे भी अब राहत नहीं मिलने वाली है। बल्कि जिसका नाम बताएंगे उसके नाम-पते का ड्राइविंग लाइसेंस सहित अन्य दस्तावेज भी देना होगा। हालांकि वाहन के रजिस्ट्रेशन नंबर से मालिक का नाम तो पुलिस जान जाती है। लेकिन ड्राइविंग सीट पर बैठे लोग जानबूझकर झांसा देते हैं।

वर्जन

बिना हेलमेट के बाइक चलाने सहित अन्य अपराधों में जुर्माना बढ़ जाएगा। गवर्नमेंट का आर्डर मिलते ही नए प्रावधान से चालान काटकर शमन शुल्क वसूला जाएगा। हालांकि लगातार चलने वाले अभियान से ज्यादातर लोग हेलमेट पहनने लगे हैं।

आदित्य प्रकाश वर्मा, एसपी ट्रैफिक

inextlive from Gorakhpur News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.