कहा था बाल कटवा लो इसलिए कटवा दिया

2018-09-01T06:00:49+05:30

कमेटी की पूछताछ में छात्रों ने दिया जवाब, रैगिंग से किया इंकार

ALLAHABAD: एमबीबीएस फ‌र्स्ट ईयर छात्रों द्वारा बाल कटवाने के मामले की जांच के लिए बनाई गई कमेटी के सामने छात्रों ने रैगिंग से इंकार किया है। यह जरूर कहा कि एडमिशन के दौरान उनसे किसी ने बाल कटवाने के लिए कहा था। इसलिए वह सभी जीरो साइज बाल रखकर आए हैं। किसने कहा था यह वह नहीं बता पा रहे हैं। उनके इस जवाब से खुद कमेटी के सदस्य अचंभित थे।

कमेटी ने भी सौंप दी रिपोर्ट

गुरुवार को मामला सामने आने के बाद कार्यवाहक प्रिंसिपल ने आनन-फानन में पांच सदस्यीय कमेटी का गठन किया था। इसमें डॉ। संतोष कुमार, डॉ। शबी अहमद, डॉ। सचिन जैन, डॉ। आरबी कमल को शामिल किया गया था। इस कमेटी ने छात्रों से आमने-सामने रैगिंग के बारे में पूछताछ की। इसमें छात्रों ने कहा कि जब वह एडमिशन के लिए आए थे तब उनसे जीरो साइज बाल रखवाने को कहा गया था। किसने कहा था यह उन्हें पता नहीं हैं। उसे वह नहीं पहचानते हैं। किसी छात्र या छात्रा ने कमेटी के सामने रैगिंग की बात नहीं स्वीकारी है। इसके अलावा फिजियोलॉजी विभाग के तीन टीचर्स की अलग-अलग रिपोर्ट में भी रैगिंग का मामला सामने नहीं आया है।

कुछ छात्रों के जवाब थे अलग

इस मामले में कुछ छात्रों ने अलग जवाब दिए। एक छात्र का कहना था कि दादी की मृत्यु हो जाने की वजह से उसने बाल मुंडवा लिए हैं। एक छात्र ने बताया कि ट्रिमर खराब हो जाने की वजह से उसने बाल छोटे कटवा लिए। इसी तरह से एक-दो छात्रों के जवाब भी औरों से अलग होकर सामने आए। सभी को कमेटी की ओर से रैगिंग के बारे में गोपनीय तरीके से लिखित शिकायत करने की अपील भी की गई है।

inextlive from Allahabad News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.