पकड़ा गया टप्पेबाजों का गिरोह

2018-12-11T06:00:03+05:30

मेला क्राइम ब्रांच ने अ‌र्न्तराज्यीय गिरोह के आठ सदस्यों को दबोचा

गिरोह के पास से मिले 12 मोबाइल, चार पर्स व कई अन्य सामान

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: कुंभ मेला से पूर्व संगम क्षेत्र में लूटपाट, चोरी व टप्पेबाजी करने वाले गिरोह सक्रिय हो गए हैं। मेला की क्राइम ब्रांच टीम ने एक ऐसे ही गिरोह का भंड़ाफोड़ किया है। मुखबिर की सूचना पर प्रशासनिक आरती चौराहा के पास से गिरोह के आठ सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए सभी बदमाश गोंडा जिले के निवासी हैं। पांच एक ही गांव के हैं। इनके कब्जे से चोरी की बाइक, घड़ी, पर्स और नकदी बरामद हुई है.

गोंडा जिले के हैं सभी बदमाश

कुंभ पुलिस ऑफिस में सोमवार दोपहर अभियुक्तों को मीडिया के सामने पेश किया गया। एडिशनल एसपी आशुतोष मिश्रा ने बताया कि गोंडा जिले के धानेपुर थाना क्षेत्र स्थित दूल्हापुर गांव के अनूप कुमार बरुवार, अनंत राम, अजय कुमार बरुवार, राजू, राम उजागर हैं। दूल्हापुर के पड़ोसी गांव के कोल्हुवा का रविंद्र उर्फ बबलू, डुमडियाडीह का मनोज कुमार और दुभिया का अन्नू बरुवार है। इन सभी को महावीर थाने के इंस्पेक्टर लक्ष्मण पर्वत, संगम चौकी प्रभारी आलोक पांडेय और क्राइम ब्रांच के एसआई अश्रि्वनी त्रिपाठी व रविसेन सिंह, बालगोविंद पांडेय, मोहित ने गिरफ्तार किया है।

एडिशनल एसपी ने बताया कि आरोपित जम्मू, पानीपत, मैहर समेत कई स्थानों पर वारदात को अंजाम दे चुके हैं। खुद को कपड़ा बेचने वाला बताकर बेली अस्पताल के पास किराए का कमरा लेकर रुके थे। ये घाट पर स्नान के दौरान श्रद्धालुओं का पर्स व दूसरा सामान गायब करते थे.

बैंकों पर रखते थे नजर

पुलिस की पूछताछ में गिरोह के सदस्यों ने कबूल किया है कि गिरोह के लोग बैंकों से रकम लेकर निकलने वालों की रेकी करते थे। ये बुजुर्ग व्यक्तियों पर खासतौर से नजर रखते थे और मौका देखकर बैंक से बैग में पैसा लेकर निकलने वाले व्यक्ति के साथ टप्पेबाजी कर फरार हो जाते थे। ये तीन दिन पहले ही प्रयागराज पहुंचे थे। गिरोह का कोई सरगना नहीं है। गिरोह के रविन्द्र कुमार ने बताया कि रविवार को गिरोह के सदस्य संगम एरिया गए थे लेकिन पुलिस की संख्या ज्यादा दिखी तो लौट आए।

दस हजार हैं गिरोह के सदस्य

पूछताछ में राम उजागर ने बताया कि गिरोह में कुल दस हजार सदस्य हैं। देश भर में जहां जहां मेला लगता है। उन स्थानों पर गिरोह के सदस्य जाकर सक्रिय हो जाते हैं और मौका देख चोरी, टप्पेबाजी व अन्य घटनाओं को अंजाम देते हैं। बलरामपुर से वह गैंगस्टर एक्ट में जेल जा चुका है.

inextlive from Allahabad News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.