#MeToo विकास बहल पर आरोप लगाने के बाद पीड़ित महिला नहीं करना चाहतीं कोई कार्यवाई ये है वजह

2018-10-21T11:40:43+05:30

विकास बहल हैरेसमेंट के आरोप का मामला अब कोर्ट में पहुंच चुका है। जहां फ्राइडे को विकास अपने वकील के साथ कोर्ट पहुंचे वहीं उन पर आरोप लगाने वाली महिला कोर्ट पहुंची ही नहीं। जानें क्या थी वजह

features@inext.co.in  

KANPUR:
विकास बहल पर सेक्सुअल हैरसमेंट के आरोप लगाने वाली पीडि़ता फ्राइडे को कोर्ट में पेश ही नहीं हुई। कोर्ट ने पीडि़ता, विकास बहल, अनुराग कश्यप और विक्रमादित्य मोटवानी को समन किया था।
महिला नहीं चाहती कोई केस
विकास ने अनुराग और विक्रमादित्य के खिलाफ 10 करोड़ रुपए का मानहानि केसकिया है। कोर्ट इस मामले में पीडि़ता का पक्ष सुनना चाहता था, जिसके लिए उन्हें समन किया गया था। लेकिन पीडि़ता कोर्ट में नहीं पहुंची। उनके वकील ने कोर्ट को बताया कि वह अब न तो इस मामले में कोई कानूनी कार्रवाई चाहती हैं और न ही विकास के खिलाफ कोई शिकायत दर्ज कराना चाहती हैं। हालांकि, कोर्ट को उनकी वकील ने बताया कि वह हफिंगटन पोस्ट को दिए अपने बयान पर आज भी अडिग हैं।
इस वजह से पीड़िता ने नहीं की कार्यवाई
वकील के मुताबिक पीडि़ता का कहना है कि, वह बहुत कुछ सह चुकी हैं और अब तीन साल बाद भी इस शख्स की वजह से परेशान हो रही हैं लेकिन वह कानूनी कार्रवाई में इनवॉल्व नहीं होना चाहतीं इसलिए कोई एफिडेविट फाइल न करके सिर्फ एक बयान जारी करेंगी।
फिल्म '83' से हो सकते है बाहर
खुद पर इतने सारे अरोपों के बाद विकास की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। अमेजन के बाद अब उनके हाथ से फिल्म '83' भी निकल सकती है। दरअसल, रणवीर सिंह की अगली फिल्म '83' के प्रोड्यूसर्र ने अपनी टीम से विकास बहल को हटाने का फैसला किया है। कबीर खान के डायरेक्शन में बन रही इस फिल्म में विकास प्रोड्यूसर थे।
अनुराग कश्यप की फैंटम बंद होने से रणवीर की इस फिल्म पर पड़ रहा ये असर
हैरेसमेंट मामले में फंसने और फैंटम के बंद होने के बाद विकास बहल को यहां से भी निकाला बाहर


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.