अपने ही मुद्दों पर मिलेनियल्स ने की वोटिंग

2019-04-12T06:00:43+05:30

न पार्टी देखी, न प्रत्याशी, मुद्दों को ध्यान में रखकर निकले वोटिंग करने

मिलेनियल्स बोले, कई महीनों के होमवर्क के बाद ही यूज किया है फ‌र्स्ट वोट

MEERUT। लोकसभा चुनाव के पहले चरण की वोटिंग में युवाओं की भागीदारी बढ़चढ़ कर रही। मेरठ में वोट करने निकले मिलेनियल्स ने न तो पार्टी देखी, न ही प्रत्याशियों से प्रभावित हुए। क्लियर विजन के साथ उन्होंने पहले पार्टियों के अब तक के कामों का रिव्यू उसके बाद खूब होमवर्क करने के बाद ही वोट दिया। मिलेनियल्स ने कहाकि हमारे मुद्दे विकास से जुड़े हैं। ऐसे में सिर्फ वादों और बातों का कोई विकल्प चाहिए ही नहीं था। पार्टियों के मेनिफेस्टों के साथ ही अपने मेनिफेस्टो की चेकलिस्ट से ताल मिलाना जरूरी है, तभी भारत के न्यू इंडिया बनने की तस्वीर पूरी हो पाएगी।

हर वोट को बताया जरूरी

वोटिंग को लेकर युवाओं में अच्छा-खासा जोश रहा। देश की मजबूती के साथ राष्ट्रहित के विजन लेकर युवाओं ने अपने वोट को कामयाब बनाने में जरा भी लापरवाही नहीं दिखाई।

ये रहे अहम मुद्दे

देश का नेशनल-इंटरनेशनल डेवलपमेंट

सिक्योरिटी, जॉब्स, इकोनॉमिकली स्ट्रांग इंडिया

वीमन एम्पावरमेंट, स्किल्ड इंडिया, एजुकेटिड इंडिया

इनका है कहना

एजेंडा क्लीयर था। सभी का प्रोफाइल, वर्क चेक करने के बाद वोट किया है ताकि हमें डेवलपमेंट मिले।

शिप्रा मलिक, वोटर

क्लीयर है। जिसने डेवलपमेंट किया है वोट भी उसको ही दिया है। हमारा मुद्दा भी यही है।

मेघा, वोटर

सही सोच वाली पार्टी ही देश का विकास कर सकती है। इसलिए ऐसी पार्टी को चुना है जिनका एजेंडा ही विकास है।

आशी, वोटर

सभी पार्टियों के काम और विजन को अच्छी तरह से समझने और विचार के बाद वोट किया है।

डॉ। आकाश गोयल, वोटर

बातें तो हमें चाहिए ही नहीं। विजन क्लीयर होना चाहिए, तभी कोई देश संभाल सकता है। इसी आधार पर वोट भी किया है।

लकी जैन, वोटर

सखी बूथ ने दूर की मुश्किलें

पहली बार बने सखी बूथ ने वोटर्स की मुश्किलों को आसान करने में खास भूमिका निभाई। दिव्यांग, बुजुर्ग और महिलाओं ने इसे जहां सहूलियत भरा कदम बताया वहीं इसमें बने मोरल बूथ ने लोगों को वोटिंग के महत्व के साथ ही बच्चों को भी काफी प्रेरित किया।

बूथ पर काफी अच्छी सुविधा मिली है। सबसे अच्छी बात व्हील चेयर मिल गई। चलना मुश्किल हो जाता है।

दया जैन, वोटर

मैं बूथ तक नहीं जा सकती थी, पैदल चलना मुश्किल है लेकिन यहां पूरी सुविधा मिल गई।

रईसा, वोटर

हम वोटर्स को पूरी तरह से गाइड कर रहे थे। दिव्यांग और बुजुर्गो को काफी मदद मिली।

सपना, वोटर

inextlive from Meerut News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.