पुराने दिन याद कर छलके नयन

2019-02-10T06:00:11+05:30

डीएन डिग्री कॉलेज में पुरातन छात्र समागम आयोजित किया गया।

1970 से लेकर 2018 तक के पुरातन छात्र रहे मौजूद

मेधावी स्टूडेंट्स को किया गया सम्मानित

MEERUT । डीएन डिग्री कॉलेज में पुरातन छात्र समागम आयोजित किया गया। जिसमें प्रबंध समिति के सचिव सेठ दयानंद गुप्ता, पूर्व चुनाव आयुक्त डॉ। नसीब जैदी, वीसी प्रो। एनके तनेजा आदि मुख्य रुप से मौजूद रहे। कार्यक्रम की शुरुआत सभी छात्रों को तिलक कर उनका स्वागत कर किया गया। सरस्वती वंदना के बाद 9 मेधावी स्टूडेंट्स को स्कॉलरशिप दी गई। इसके बाद सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने समां बांध दिया। वहीं, पुरातन छात्रों ने बीते पलों का याद किया तो सबकी आंखें भर आई। एल्यूमिनाई मीट के दौरान पूर्व प्रदेश महासचिव, कांग्रेस, चौधरी यशपाल सिंह, अंकित चौधरी आदि ने भी अपने अनुभव शेयर किए।

बीते क्षण आए याद

पुरातन छात्र रहे आईपीएस अनिल कुमार शर्मा ने बताया कि मैं1975 बैच का बीएससी स्टूडेंट हूं। 44 साल बाद आज कॉलेज में आना हुआ तो पुरानी यादें ताजा हो गई है। कॉलेज में लगे पीपल के पेड़ के नीचे दोस्तों संग बिताए क्षण आज भी ताजा हो गए। उन्होंने कहाकि मैं बुलंदशहर के चारौरा गांव से यहां पढ़ने आया था। उन्होंने बताया कि यूपीएससी क्वालीफाई करने के बाद बतौर एसएसपी पंजाब और इसके बाद खुफिया एजेंसी रॉ में भी काम किया। इस दौरान कई आतंकी हमले हुए, लेकिन मेरठ का अनुभव हमेशा मेरे काम आया।

48 साल बाद मिला मौका

इलाहबाद हाईकोर्ट के रिटायर जज डॉ। सतीश चंद्रा ने बताया कि मुझे 48 साल बाद कॉलेज में आने मौका मिला। कॉलेज के दिनों को याद करता हूं तो बहुत सी याद ताजा होती है.उन दिनों की कई शरारतें याद आती हैं। मैनें वीसी एनके तनेजा के साथ काफी वक्त बिताया है। उस समय खूब हंसी- ठिठोली करते थे।

- - - - - - - -

शानदार थी लाइब्रेरी

सीसीएसयू के वीसी- प्रो। एनके तनेजा ने बताया कि मेरी 10वीं से पीएचडी तक की शिक्षा डीएन कॉलेज से ही हुई है। मैं ग्रामीण परिवेश से था लिहाजा कई अंग्रेजी अखबारों के बारे में तो यहां की लाइब्रेरी में पता चला था। यहां की लाइब्रेरी में शानदार किताबें थीं। उन्होंने एल्युमिनाई द्वारा एक फंड बनाकर होनहार और जरूरतमंद छात्र- छात्राओं को दी जाने वाली स्कॉलरशिप योजना की तारीफ की।

- - - - - - - - - - - - - - - - - - - -

बरगद का पेड़ याद आया

पदमश्री 1999 के सम्मानित आयुर्वेद फिजिशयन विद्या बालेंदु प्रकाश ने अनुभव साझा करते हुए बताया कि मैं सन 78 में बीएससी बैच का पासआउट हूं, कॉलेज में इतने सालों बाद आया तो मुझे बरगद का पेड़ याद आ गया। वहीं पेड़ जहां घंटों बैठकर हम दोस्तों संग गपशप करते थे। उन्होंने कहाकि वैद्य होने के नाते में सभी को टिप्स देना चाहूंगा कि अधिक धूप सेंकने, दिन में सोने से बचे और गर्म पानी पिए, ऐसा करने से बीमारियों से बचे रहेंगे।

कॉमर्स - आंचल गुप्ता

केमिस्ट्री - प्रिया

कम्प्यॅटर - आंचल

इंग्लिश- तोशी

बॉटनी- रीतू

फिजिक्स - अंकुर कौशिक

मैथ्स - प्रियंका

स्पोर्टस - फैजल

- - - - - - - -

ये रहे मौजूद

कार्यक्रम में प्राचार्य डॉ। बीएस यादव, डीएन स्टूडेंटस वेलफेयर डॉ। एसके अग्रवाल, एसोसिएशन अध्यक्ष वीएम नौटियाल, सचिव डॉ। आभा अवस्थी, डॉ। नुपूर चटर्जी, अतुल त्यागी, डॉ। सीमा सिंह आदि मौजूद रहे।

inextlive from Meerut News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.